ताज़ा खबर
 

कपिल देव बोले- अगर हार्दिक पंड्या ऐसी बेवकूफि‍यां करता है तो मेरी तुलना उससे मत करना

दिग्‍गज ऑलराउंडर दूसरे टेस्‍ट मैच में पंड्या के आउट होने के संदर्भ में टिप्पणी कर रहे थे। पंड्या पहली पारी में बाहर जाती गेंद पर बल्‍ला अड़ा बैठे और दूसरी पारी में वह रन आउट हुए क्योंकि उन्होंने क्रीज पर बल्ला नहीं रखा था।

दूसरे टेस्‍ट मैच के दौरान विकेट लेने के बाद हार्दिक पंड्या और कप्‍तान विराट कोहली। (Photo: PTI)

भारत के दिग्गज आलराउंडर कपिल देव ने बुधवार (18 जनवरी) को कहा कि अगर हार्दिक पंड्या दक्षिण अफ्रीका में दूसरे टेस्ट की तरह बेवकूफाना गलतियां करना जारी रखता है तो वह उनके साथ तुलना का हकदार नहीं है। पंड्या को कई बार कपिल के बाद भारत का सर्वश्रेष्ठ आलराउंडर बताया गया है। कपिल ने सेंचुरियन में दूसरे टेस्ट में पंड्या के बल्लेबाजी प्रदर्शन की आलोचना की। उन्होंने ‘एबीपी न्यूज’ से कहा, “अगर पंड्या इस तरह की बेवकूफाना गलतियां करना जारी रखता है तो वह मेरे साथ तुलना का हकदार नहीं है।” कपिल दूसरी पारी में पंड्या के आउट होने के संदर्भ में टिप्पणी कर रहे थे। पंड्या तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी की बाहर जाती गेंद को स्लिप के ऊपर से खेलने की कोशिश में विकेटकीपर क्विंटन डिकाक को कैच दे बैठे। पंड्या पहली पारी में भी रन आउट हुए क्योंकि उन्होंने क्रीज पर बल्ला नहीं रखा था और उनके इस लापरवाह रवैये के लिए विशेषज्ञों ने उनकी आलोचना की थी।

पूर्व भारतीय क्रिकेट संदीप पाटिल ने भी कहा कि दोनों की तुलना करना ठीक नहीं है क्योंकि अभी पंड्या के क्रिकेट करियर की शुरुआत है। उन्होंने कहा, “मैं कपिल के साथ काफी क्रिकेट खेला, सचमुच में कोई तुलना नहीं है। कपिल शानदार प्रदर्शन करते हुए 15 साल भारत के लिए खेला और पंड्या सिर्फ अपना पांचवां टेस्ट मैच खेला है। लंबा रास्ता तय करना है।”‘

सेंचुरियन में खेले गए दूसरे टेस्‍ट मैच में भारत 135 रन से हार गया। दक्षिण अफ्रीका ने भारत के सामने 287 रनों का लक्ष्य रखा था जिसे भारतीय टीम हासिल नहीं कर पाई और 135 रनों से मैच हार गई। इसी के साथ दक्षिण अफ्रीका ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 से बढ़त ले ली है। मेजबान टीम ने केपटाउन में खेले गए पहले मैच में भारत को 72 रनों से हराया था।

वहीं, भारतीय कप्‍तान विराट कोहली ने हार के लिए बल्‍लेबाजी को जिम्‍मेदार ठहराया। उन्‍होंने मैच खत्‍म होने के बाद प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा, ”हम अच्छी साझेदारियां करने और बढ़त लेने में असफल रहे। हमने अपने आप को मायूस किया। गेंदबाजों ने अपना काम किया, लेकिन बल्लेबाजों ने टीम को निराश किया। हमने कोशिश की, लेकिन हमारा प्रयास काफी नहीं था, खासकर फील्डिंग में। इसलिए दक्षिण अफ्रीका को जीत मिली।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App