ताज़ा खबर
 

Ind vs SA 2nd Test: सेंचुरियन में जीते तो सौरव गांगुली के बराबर होंगे विराट, इन पांच कप्‍तानों ने जिताए हैं सबसे ज्‍यादा टेस्‍ट

India vs South Africa 2nd Test, Ind vs SA (इंडिया वस साउथ अफ्रीका): सेंचुरियन पर मेजबान टीम ने 22 में से 17 टेस्ट जीते हैं। ऐसे में साउथ अफ्रीका का पलड़ा काफी भारी दिख रहा है।

भारतीय कप्‍तान विराट कोहली और दक्षिण अफ्रीकी टीम के कप्‍तान फाफ डु प्‍लेसिस। (Photo: PTI)

Ind vs SA: भारत और साउथ अफ्रीका के बीच सेंचुरियन में दूसरा टेस्ट मैच शनिवार (13 जनवरी) से खेला जाना है। पहला टेस्ट हारने के बाद टीम इंडिया की मुश्किलें काफी बढ़ गई हैं। विराट कोहली ने अब तक 33 टेस्ट मैचों में कप्तानी की है, जिसमें से 20 में जीत और सिर्फ 4 में हार नसीब हुई। वहीं 9 मुकाबले ड्रॉ रहे। भारत ने भले ही पहला टेस्ट गंवा दिया हो लेकिन अगर सेंचुरियन टेस्ट टीम इंडिया जीतती है तो विराट, सौरव गांगुली की बराबरी कर लेंगे।

जी हां, ये बराबरी बतौर टेस्ट कप्तान मैच जिताने की होगी। गांगुली ने 1996 से लेकर सन् 2000 तक अपनी कप्तानी में भारत को 49 में से 21 मैच जिताए हैं। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया 13 मैच हारा, जबकि 15 मुकाबले ड्रॉ रहे थे। वहीं विराट गांगुली की बराबरी करने से महज 1 मैच दूर हैं। ऐसे में अगर विराट कोहली अपनी कप्तानी में एक और टेस्ट मैच जितवाकर दादा की बराबरी पर आ जाएंगे।

भारत ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में सबसे अधिक 27 टेस्ट मैच जीते हैं। वहीं 33 में से 12 कप्तान ऐसे रहे, जिनके नेतृत्व में देश एक भी टेस्ट नहीं जीत सका। विराट सेंचुरियन टेस्ट जीत संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर आ जाएंगे और टॉप तक पहुंचने से भी वह कुछ ही कदम दूर हैं। आइए, जानते हैं कौन हैं सबसे अधिक टेस्ट जिताने वाले भारतीय कप्तान…

महेंद्र सिंह धोनी (2008-2014) – 60 टेस्ट – 27 जीत
सौरव गांगुली (2000-2005) – 49 टेस्ट – 21 जीत
विराट कोहली (2014-अब तक) – 33 टेस्ट – 20 जीत
मोहम्मद अजहरुद्दीन (1990-1999) – 47 टेस्ट – 14 जीत
नवाब पटौदी (1962-1975) – 40 टेस्ट – 9 जीत
सुनील गावस्कर (1976-1985) – 47 टेस्ट – 9 जीत

फोटो गैलरी:

सेंचुरियन पर मेजबान टीम ने 22 में से 17 टेस्ट जीते हैं। ऐसे में साउथ अफ्रीका का पलड़ा काफी भारी दिख रहा है। हालांकि पहला टेस्ट गंवाने के बाद टीम इंडिया ने भी नेट पर जमकर अभ्यास किया। भारत किसी भी हाल में दूसरा मुकाबला अपने पक्ष में करने उतरेगा। भारतीय गेंदबाज तो फिलहाल फॉर्म में नजर आ रहे हैं लेकिन बल्लेबाजी बिल्कुल विफल साबित रही है। ऐसे में कोहली एंड कंपनी को अपने-अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App