IND Vs NZ: Virat Kohli seeks blessings from Ashish Nehra’s parents, here's why - मैच के बाद नेहरा के मां-बाप का आशीर्वाद लेने क्यों पहुंचे विराट कोहली - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मैच के बाद नेहरा के मां-बाप का आशीर्वाद लेने क्यों पहुंचे विराट कोहली

फिरोजशाह कोटला मैदान में 1 नवंबर को खेले गए पहले टी20 के बाद आशीष नेहरा ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया।

आशीष नेहरा के परिवार के साथ कप्तान विराट कोहली।

दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में बुधवार (1 नवंबर) को खेले गए पहले टी20 मैच में जीत के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने तेज गेंदबाज आशीष नेहरा के माता-पिता से आशीर्वाद लिया। इस मैच में जीत के साथ नेहरा ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। दिल्ली स्थित घर से डेक्कल क्रॉनिकल से बातचीत में नेहरा के पिता दिवान सिंह ने कहा, मैच के बाद विराट कोहली और शिखर धवन हमारे पास आए और आशीर्वाद लिया। उन्होंने कहा कि विराट और शिखर नेहरा के दोस्त हैं और बचपन से हमारे घर आ रहे हैं। नेहरा के फेयरवेल मैच में उनका पूरा परिवार, दोस्त व रिश्तेदार स्टेडियम में मौजूद थे। बेहद इमोशनल होते हुए पूर्व तेज गेंदबाज के पिता ने कहा, मेरी पत्नी सुमित्रा, आशीष की पत्नी रुश्मा और उनके दो बच्चे मैदान पर मौजूद थे। यह आशीष का पहला और आखिरी मैच था, जब हमने उसे मैदान पर खेलते हुए देखा। इससे पहले कभी स्टेडियम में मैंने उसका मैच नहीं देखा था।

साल 2002 में हम उसे खेलता देखने इंग्लैंड गए थे, लेकिन तब वह टेस्ट मैच में 12वां खिलाड़ी था और एक अन्य मौके पर हम देरी से पहुंचे, तब तक वनडे सीरीज खत्म हो चुकी थी। दिवान सिंह ने कहा, मैं तारक सिन्हा के साथ बैठा था, जिनका आशीष अपने गुरु की तरह सम्मान करते हैं। रिटायरमेंट के बाद आशीष नेहरा क्या करेंगे, इस पर उनके पिता ने कहा कि जल्द ही वह इस पर विचार करेंगे। उसकी उत्तर प्रदेश में कुछ अकैडमी हैं और वह उन्हें ही मॉनिटर करेगा।

गौरतलब है कि कप्तान विराट कोहली ने आशीष नेहरा से पहला और अंतिम ओवर डलवाया था। लेकिन करियर का आखिरी ओवर डालते वक्त नेहरा कैसा महसूस कर रहे थे, इसका उन्होंने खुद खुलासा किया है। क्रिकट्रैकर की रिपोर्ट के मुताबिक नेहरा ने कहा कि उस वक्त अलग ही तरह का दबाव था। यह पहली बार नहीं था, जब मैंने आखिरी ओवर डाला हो, लेकिन फिर भी चीजें अलग थीं। उन्होंने बताया कि कप्तान विराट कोहली ने उनसे पहले बॉल डालने को कहा था, लेकिन उन्होंने अंतिम ओवर चुना। नेहरा ने कहा, मैंने भारत के लिए सबसे ज्यादा बार अंतिम ओवर डाले हैं, लेकिन यह अलग किस्म का प्रेशर था और काफी आरामदायक भी। विराट ने मुझसे आखिरी के 2-3 ओवर डालने को बोला था, लेकिन मैंने कहा कि अंतिम ओवर डालूंगा।

18 साल के करियर में कई बार सर्जरी करा चुके नेहरा ने कहा कि मुझे इन सबकी कमी महसूस होगी। आपको इसी के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। एक चीज जिसे अब निश्चित रूप से आराम मिलेगा वह है मेरा शरीर। मैंने इससे पहले कहा था कि मैं और कुछ साल खेल सकता हूं लेकिन संन्यास लेने के लिए  इससे बेहतर वक्त नहीं हो सकता था।’ मैंने आखिरी बार 24 या 25 साल की उम्र में टेस्ट क्रिकेट खेला था, लेकिन अंत में 18 साल खेलकर आप नीली जर्सी में अपना आखिरी मैच खेलते हैं, इससे ज्यादा आपको और क्या चाहिए।

उन्होंने कहा, टीम प्रबंधन चाहता था कि मैं क्रिकेट खेलता रहूं और इसलिए वे छह महीने पहले वे मुझे चैंपियन्स ट्रॉफी की टीम में चाहते थे। मैं हैमस्ट्रिंग खिंचने के कारण नहीं खेल पाया। मेरे लिए टीम में शामिल 15 लोग अहम हैं और अगर वे कहते और चाहते हैं कि मैं खेलता रहूं तो यह महत्वपूर्ण है। कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि किसी तेज गेंदबाज के लिए 19 साल खेलना बहुत मुश्किल है। मुझे पता है कि वह कितने प्रोफेशनल हैं और उन्होंने कितनी मेहनत की है। कोहली ने कहा, आशीष नेहरा इस तरह का ही फेयरवेल डिजर्व करते हैं, जिसमें फैन्स उनके लिए चियर कर रहे हों। अब वह अपने परिवार के साथ समय बिता सकते हैं। हम टच में रहेंगे, लेकिन उनकी याद भी बहुत आएगी।

 

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App