scorecardresearch

IND vs NZ: मुंबई में लगातार हो रही बारिश से दूसरे टेस्ट पर मंडराए खतरे के बादल, विराट कोहली के सामने खड़ी हुईं ये बड़ी समस्याएं

भारत और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला 3 दिसंबर से मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला जाएगा। इस मैच पर लगातार मुंबई में जारी बारिश के कारण खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। साथ ही विराट कोहली की वापसी हो रही है तो अंतिम एकादश टीम मैनेजमेंट के लिए चिंता का सबब है।

ind-vs-nz-mumbai-test-rainfall-can-create-problem-in-whole-match-virat-kohli-returning-playing-11-tensions-arises-ks-bharat-set-to-debut
विराट कोहली की ब्रेक के बाद मुंबई टेस्ट में वापसी होगी, मुंबई में लगातार बारिश की वजह से चिंता बढ़ती जा रही हैं (सोर्स- Indian Express, Twitter)

ब्रेक के बाद वापसी कर रहे कप्तान विराट कोहली के सामने न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रहे दूसरे और आखिरी क्रिकेट टेस्ट में टीम संयोजन की बड़ी समस्या होगी। साथ ही मुंबई में लगातार हो रही बारिश भी दोनों टीमों और मैनेजमेंट के लिए चिंता का सबब है। ये मुकाबला 3 दिसंबर से 7 दिसंबर तक खेला जाएगा।

कानपुर में खेले गए पहले टेस्ट में न्यूजीलैंड की आखिरी जोड़ी की संयमित पारियों के कारण भारत तय लग रही जीत से वंचित रह गया था। अब नियमित कप्तान विराट कोहली की वापसी के बाद टीम संयोजन में बदलाव तय है। लेकिन ये बदलाव होगा क्या किसे अंतिम-11 से बाहर किया जाएगा ये कप्तान और हेड कोच के लिए सिरदर्द बन गया है।

मौसम ने खड़ी की समस्या

इसके अलावा मौसम भी काफी परेशान कर रहा है। वानखेड़े स्टेडियम पर संभव है कि मेजबान टीम को चार ही दिन मिले क्योंकि पहले दिन भारी बारिश का अनुमान है। बारिश के कारण पिच में नमी होने से न्यूजीलैंड टीम नील वैग्नर के रूप में अतिरिक्त तेज गेंदबाज को उतार सकती है ।

आम तौर पर भारतीय टीमों में बहुत ज्यादा बदलाव के पक्ष में टीम प्रबंधन नहीं रहता है लेकिन कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान कोहली के सामने समस्या यह है कि दो खिलाड़ी रन नहीं बना पा रहे हैं । कानपुर में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करके 105 और 65 रन बनाने के बाद श्रेयस अय्यर की जगह पक्की मानी जा रही है ।

पुजारा और रहाणे को मिलेगा एक और मौका

अजिंक्य रहाणे लगातार 12 पारियों में नाकाम रहे हैं लेकिन पिछले मैच में कप्तानी करने वाले खिलाड़ी को खराब फॉर्म के कारण अगले मैच से बाहर नहीं किया जा सकता और वह भी उसके घरेलू मैदान पर। उन्हें एक और मौका दिए जाने के मायने हैं कि टीम प्रबंधन की कड़ा कदम नहीं उठाने को लेकर आलोचना होगी ।

दूसरा मसला चेतेश्वर पुजारा का है जो अक्सर यह भूल जाते हैं कि टेस्ट क्रिकेट सिर्फ विकेट बचाकर खेलना नहीं है। इंग्लैंड में उनकी इस मानसिकता में तनिक बदलाव दिखा लेकिन कानपुर में वह फिर उसी चिर परिचित हो चले अंदाज में नजर आए।

अगर टीम की अंतिम एकादश की बात करें तो लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे मयंक अग्रवाल को बाहर किया जा सकता है। शुभमन गिल ने अपनी खराब रक्षण तकनीक के बावजूद पहले मैच में अर्धशतक जमाया था। उन्हें भविष्य की ओर देखते हुए टीम में बनाए रखा जा सकता है।

अग्रवाल की जगह कोहली लेंगे लेकिन सवाल यह है कि गिल के साथ पारी का आगाज कौन करेगा। चेतेश्वर पुजारा या विकेटकीपर बल्लेबाज के एस भरत को यह जिम्मेदारी दी जा सकती है। रिद्दिमान साहा गले की जकड़न से जूझ रहे थे कानपुर टेस्ट में जिस कारण उनकी जगह मुंबई टेस्ट में केएस भरत को लिया जा सकता है।

पिछले मुकाबले में विकेट नहीं निकाल पाए इशांत शर्मा के खराब फॉर्म को देखते हुए भारतीय टीम में मोहम्मद सिराज को मौका दिया जा सकता है । पिच अनुकूल होने के कारण तीन स्पिनरों की जगह बरकरार रहने की संभावना लग रही है ।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट