IND vs NZ: टीम इंडिया को लगा झटका, केएल राहुल मांसपेशियों में खिंचाव के चलते टेस्ट सीरीज से बाहर; सूर्यकुमार यादव/श्रेयस अय्यर कर सकते हैं डेब्यू

केएल राहुल कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में टीम के शुरुआती अभ्यास सत्र में शामिल नहीं थे। इसमें टीम के अन्य सभी खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। बीसीसीआई के मुताबिक, ‘वह अब दक्षिण अफ्रीका सीरीज की तैयारी के लिए एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) में रिहैबिलिटेशन करेंगे।’

KL Rahul is not playing the first Test a BCCI source told PTI
केएल राहुल ने भारत के लिए 40 टेस्ट मैच खेले हैं। (सोर्स- पीटीआई)

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले टीम इंडिया को तगड़ा झटका लगा है। उसके स्टार ओपनर केएल राहुल पूरी टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं। उनकी बाईं जांघ की मांसपेशी खिंच गई है। उनकी जगह इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट टीम के सदस्य रहे सूर्यकुमार यादव को टीम में शामिल किया गया है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से मंगलवार यानी 23 नवंबर 2021 को जारी बयान के मुताबिक, ‘भारतीय टीम के बल्लेबाज केएल राहुल की बाईं जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव है। वह न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला से बाहर हो गए हैं।’ बयान के मुताबिक, ‘वह अब अगले महीने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाली सीरीज की तैयारी के लिए एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) में रिहैबिलिटेशन करेंगे।’

केएल राहुल कानपुर के ग्रीनपार्क स्टेडियम में टीम के शुरुआती अभ्यास सत्र में शामिल नहीं थे। इसमें टीम के अन्य सभी खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया। राहुल ने भारत के लिए 40 टेस्ट मैच खेले हैं। इस 29 साल के बल्लेबाज के नाम 35.16 के औसत से 2321 रन हैं।

केएल राहुल टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर 199 रन का है, जो उन्होंने चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ 2016 में बनाया था। शुभमन गिल को टीम के नेट सत्र के दौरान मयंक अग्रवाल के साथ बल्लेबाजी की शुरुआत करते हुए देखा गया।

सीरीज के पहले टेस्ट मैच के उपकप्तान चेतेश्वर पुजारा ने भी नेट में बल्लेबाजी की। इस बात की प्रबल संभावना है कि श्रेयस अय्यर या सूर्यकुमार यादव में से किसी एक को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने का मौका मिलेगा और वह मध्यक्रम में बल्लेबाजी करेगा।

टीम मैनेजमेंट की पहले की रणनीति के अनुसार शुभमन के मध्यक्रम में बल्लेबाजी करने की उम्मीद थी। राहुल की अनुपस्थिति में अब यह युवा सलामी बल्लेबाज अपने पसंदीदा स्थान पर बल्लेबाजी करेगा।

लय में लौटने पर खुश हैं चेतेश्वर पुजारा

टेस्ट मैचों में भारतीय बल्लेबाजी की रीढ़ माने जाने वाले चेतश्वर पुजारा को इस बात की खुशी है कि निडर दृष्टिकोण के साथ बल्लेबाजी करने से उनकी लय लौट आई है। अब वह खुद पर गैरजरूरी दबाव नहीं डालेंगे। पुजारा ने कहा कि पिछले तीन वर्षों से टेस्ट शतक नहीं बनना उनके लिए तब तक चिंता की बात नहीं है, जब तक उनके बल्ले से निकले 80 और 90 रन टीम को जीत दिलाने में मदद करें।

चेतेश्वर पुजारा के लिए जनवरी, 2019 के बाद से अब तक टेस्ट शतक नहीं लगा पाना कोई समस्या नहीं है। (फाइल फोटो)

टीम के अभ्यास सत्र के दौरान पुजारा से जब पूछा गया था कि क्या इंग्लैंड के खिलाफ पिछली सीरीज में आक्रामक बल्लेबाजी से उन्हें फायदा हुआ तो उन्होंने कहा, ‘हां, मुझे ऐसा लगता है। जब प्रदर्शन की बात आती है तो मानसिकता थोड़ी अलग थी, लेकिन जब तकनीक की बात आती है तो मुझे नहीं लगता कि तकनीक में कोई बड़ा बदलाव आया है। मैं थोड़ा निडर था, जिससे मदद मिली।’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट