ताज़ा खबर
 

रवि शास्त्री ने खोला राज, महेंद्र सिंह धोनी ने क्यों ली थी गेंद, बताई ये वजह

Ind vs Eng, India vs England One Day series 2018, Squad, Schedule: लीड्स में बुधवार (18 जुलाई) को हुए तीसरे वनडे मुकाबले के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था। धोनी उसमें अंपयार ब्रूस ऑक्सफोर्ड व माइकल गॉफ से गेंद लेते हुए नजर आ रहे थे। आठ विकेट से उस मैच में भारतीय टीम के हारने के बाद धोनी के इस रवैये पर फैंस और अन्य लोग उनके संन्यास को लेकर चर्चा करने लगे।

भारतीय टीम के कोच ने धोनी के संन्यास लेने की खबरों को सिरे से खारिज किया है। (फोटोः एपी)

भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे मैच के बाद अंपायर से गेंद किसलिए ली थी? टीम के कोच और पूर्व खिलाड़ी रवि शास्त्री ने इस राज से पर्दा उठाया है। उन्होंने कहा है कि धोनी ने गेंदबाजी कोच भारत अरुण को गेंद दिखाने के लिए उसे अंपायरों से लिया था। शास्त्री ने इसी के साथ उन आशंकाओं को भी खारिज किया, जिनमें सवाल खड़ा किया जा रहा था कि कहीं धोनी ने ऐसा संन्यास लेने के फैसले को लेकर तो नहीं किया था?

दरअसल, लीड्स में बुधवार (18 जुलाई) को हुए तीसरे वनडे मुकाबले के बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था। धोनी उसमें अंपयार ब्रूस ऑक्सफोर्ड और माइकल गॉफ से गेंद लेते हुए नजर आ रहे थे। आठ विकेट से उस मैच में भारतीय टीम के हारने के बाद धोनी के इस रवैये पर फैंस और अन्य लोग उनके संन्यास को लेकर चर्चा करने लगे।

भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरा वनडे खत्म होने के बाद क्या था? देखिए

यह बात हवा की तरह ऐसे फैल गई कि शास्त्री को इसमें आगे आना पड़ा और चीजें स्पष्ट करनी पड़ीं। उन्होंने धोनी के संन्यास की अफवाहों को बेहद निराशाजनक बताया और लोगों को उसके लिए झाड़ा। बकौल भारतीय टीम के कोच, “धोनी गेंदबाजी कोच को गेंद दिखाना चाहते थे। वह गेंद की स्थिति का जायजा लेना चाहते थे। साथ ही जानने को बेताब थे कि आखिर उस गेंद के हिसाब से कैसे वहां खेलना था।”

शास्त्री ने एक अंग्रेजी अखबार से कहा, “धोनी के संन्यास की बात बकवास है। वह कहीं नहीं जा रहे हैं।” धोनी ने तीसरे वनडे में 66 गेंदों पर 42 रन बनाए थे, जिसमें उन्होंने चार चौके जड़े थे। वह इस मैच में 63.64 के स्ट्राइक रेट से खेले। डेविड विली की गेंद पर जॉस बटलर ने धोनी का कैच लपका था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App