ताज़ा खबर
 

India vs England 5th Test: नेट पर प्रैक्टिस नहीं कर रहे रविचंद्रन अश्विन, पांचवां टेस्ट खेलने पर संशय

Ind vs Eng, India vs England 5th Test Match: टेस्ट श्रृ्ंखला गंवाने से मायूस भारतीय टीम शुक्रवार से शुरू हो रहे पांचवें और अंतिम टेस्ट में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक के विदाई टेस्ट में जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी।

भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (फोटो सोर्स- एपी फोटो)

Ind vs Eng, India vs England 5th Test Match: भारतीय क्रिकेट टीम के स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ग्रोइन इंजरी से जूझ रहे हैं। इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट से पहले उन्हें 5 दिन का आराम दिया गया था, जिसके बाद अंतिम एकादश में जगह मिली। भारत ने पांचवां और अंतिम टेस्ट मैच लंदन में 7 सितंबर से खेलना है। मैच से दो दिन पहले तक अश्विन नेट पर अभ्यास करने नहीं आए, जिसे देख आशंका जताई जा रही है कि वह शायद लंदन टेस्ट में ना खेल सकें।

रविचंद्रन अश्विन 62 टेस्ट की 116 पारियों में 327 शिकार कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 26 बार 5 या उससे अधिक शिकार किए हैं। बात अगर 111 वनडे मैच की करें, तो उन्होंने 150 बार खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा है। इस फॉर्मेट में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 25/4 रहा। वहीं 46 अंतर्राष्ट्रीय टी20 मैचों में अश्विन 52 विकेट झटक चुके हैं।

एक बार फिर श्रृ्ंखला गंवाने से मायूस भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार से शुरू हो रहे पांचवें और अंतिम टेस्ट में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक के विदाई टेस्ट में जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी। इंग्लैंड ने पांच मैचों की श्रृंखला में 3-1 की विजयी बढ़त बना ली है, जिसके कारण ओवल में होने वाला मैच महज औपचारिकता बन गया है लेकिन विराट कोहली की टीम श्रृंखला का सकारात्मक अंत करना चाहेगी।

शादी के दौरान पत्नी प्रीति नारायण के साथ रविचंद्रन अश्विन।

भारत के लिए 2-3 का नतीजा 1-4 से कहीं बेहतर होगा और टीम टेस्ट जीत के लिए बेताब है। मुख्य कोच रवि शास्त्री ने यह कहकर टीम का मनोबल बढ़ाने का प्रयास किया है कि यह पिछले 15 साल में विदेशी दौरों पर जाने वाली यह सर्वश्रेष्ठ टीम है। हालांकि तथ्य इसे साबित नहीं करते। टीम का संयोजन एक बार फिर चर्चा का विषय है। टीम इंडिया सर्वश्रेष्ठ 11 खिलाड़ियों के साथ उतरना चाहेगी लेकिन प्रयोग की संभावना भी बनी हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App