ताज़ा खबर
 

India vs England 4th Test: 200+ का पीछा करते भारत को नसीब हुई है 61 में से सिर्फ 3 मैचों में जीत

Ind vs Eng, India vs England 4th Test Match: भारत एशिया से बाहर 200 से ज्यादा के स्कोर का पीछा करते हुए 61 टेस्ट में से सिर्फ 3 में ही जीत दर्ज कर सका है, जबकि 22 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं।

स्टुअर्ट ब्रॉड की गेंद पर कुछ यूं बोल्ड हुए केएल राहुल। (Photo Courtesy: ICC)

Ind vs Eng, India vs England 4th Test Match: इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने रोज बाउल स्टेडियम में खेले जा रहे चौथे टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार (2 सितंबर) को भारत को 245 रनों का लक्ष्य दिया है। जोस बटलर (69) की अर्धशतकीय पारी के दम पर इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी में 96.1 ओवर तक बल्लेबाजी करते हुए 271 रन बनाए। भारत एशिया से बाहर 200 से ज्यादा के स्कोर का पीछा करते हुए 61 टेस्ट में से सिर्फ 3 में ही जीत दर्ज कर सका है, जबकि 22 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। भारत को इस दौरान न्यूजीलैंड (1968), वेस्टइंडीज (1976) और ऑस्ट्रेलिया (2003) के खिलाफ ही जीत नसीब हुई हैं।

मेजबान टीम इंग्लैंड के लिए दूसरी पारी में बटलर के अलावा, कप्तान जोए रूट (48) और सैम कुरान (46) ने भी अहम योगदान दिया। जेम्स एंडरसन (1) नाबाद रहे। भारत के लिए इंग्लैंड की दूसरी पारी में मोहम्मद शमी ने सबसे अधिक 4 विकेट लिए। इसके अलावा, इशांत शर्मा ने दो विकेट चटके। जसप्रीत बुमराह और रविचंद्रन अश्विन ने एक-एक सफलता हासिल की। कप्तान रूट और सैम रन आउट हुए।

विराट कोहली और अनुष्का। (Photo Courtesy: Twitter)

लंच तक भारत की स्थिति खराब: चौथे दिन रविवार को टीम इंडिया लंच तक 46 रन पर तीन विकेट पर गंवा चुकी है। 245 रनों का पीछा कर रहे भारत को जीत के लिए अभी 199 रन और बनाने हैं, जबकि उसके सात विकेट शेष हैं। कप्तान विराट कोहली 39 गेंदों पर 10 रन और अजिंक्य रहाणे 31 गेंदों पर 13 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं।

इंग्लैंड के लिए जेम्स एंडरसन 15 रन पर दो विकेट और स्टुअर्ट ब्रॉड 14 रन पर एक विकेट हासिल कर चुके हैं। 245 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने 22 रन तक शिखर धवन (17), लोकेश राहुल (0) और चेतेश्वर पुजारा (5) का विकेट गंवा दिया। इसके बाद कोहली और रहाणे ने लंच तक भारतीय टीम को और कोई झटका नहीं लगने दिया। दोनों बल्लेबाज चौथे विकेट के लिए 24 रन की अविजित साझेदारी कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App