ताज़ा खबर
 

IND vs BAN: कोहली ने कहा- आस्ट्रेलिया में दिन रात का टेस्ट खेलेंगे बशर्ते अभ्यास मैच दिया जाये

कोहली ने कहा ,‘‘ आप दो दिन पहले अचानक नहीं कह सकते कि गुलाबी गेंद से खेलना है। इसके लिये तैयारी चाहिये होती है । एक बार आदत बन जाने पर कोई दिक्कत नहीं है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ हम अपने देश में गुलाबी गेंद से टेस्ट खेल रहे हें। देखना होगा कि यह कैसा रहता है। इसके बाद हम बाहर किसी अहम टेस्ट श्रृंखला में इससे खेल सकते हैं।’’

Author कोलकाता | Updated: November 21, 2019 3:57 PM
विराट कोहली। (फोटो सोर्स- एपी)

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि अगले साल आस्ट्रेलिया में वह दिन रात का टेस्ट खेलने को तैयार है बशर्ते टीम को एक अभ्यास खेलने को मिले। भारतीय टीम ने 217 . 18 के आस्ट्रेलिया दौरे पर दिन रात का टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया था । अब यहां शुक्रवार से बांग्लादेश के खिलाफ वह पहला दिन रात का टेस्ट खेलने जा रहे हैं। यह पूछने पर कि क्या अगले साल के दौरे पर वह आस्ट्रेलिया में दिन रात का टेस्ट खेलेंगे, कोहली ने हां में जवाब दिया लेकिन कहा कि उनकी एक शर्त है। उन्होंने कहा ,‘‘ जब भी यह होगा , इससे पहले एक अभ्यास मैच रखना होगा।’’ उन्होंने कहा कि भारतीय टीम ने 2017 . 18 में एडीलेड में दिन रात का टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया था क्योंकि टीम को अनुकूलन के लिये अभ्यास मैच नहीं मिला था।

उन्होंने कहा ,‘‘ हम गुलाबी गेंद से क्रिकेट खेलना चाहते थे । अब ऐसा हो रहा है । एक बड़े दौरे पर अचानक यह नहीं हो सकता कि हम गुलाबी गेंद से खेले बिना ही टेस्ट खेलने को तैयार हो जायें । हमने गुलाबी गेंद से कोई प्रथम श्रेणी मैच भी नहीं खेला था।’’ यह पूछने पर कि उनका इरादा कैसे बदला, उन्होंने कहा कि वह इसलिये तैयार हुए क्योंकि लंबे समय से बातचीत चल रही थी और उन्हें अचानक नहीं बताया गया।

कोहली ने कहा ,‘‘ आप दो दिन पहले अचानक नहीं कह सकते कि गुलाबी गेंद से खेलना है। इसके लिये तैयारी चाहिये होती है । एक बार आदत बन जाने पर कोई दिक्कत नहीं है।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ हम अपने देश में गुलाबी गेंद से टेस्ट खेल रहे हें। देखना होगा कि यह कैसा रहता है। इसके बाद हम बाहर किसी अहम टेस्ट श्रृंखला में इससे खेल सकते हैं।’’ ओस की भूमिका के बारे में उन्होंने कहा ,‘‘ देर वाले सत्र में ओस की भूमिका होगी। हम उस समय देखेंगे कि कैसे निपटना है। भारत में और दूसरे देश में दिन रात का टेस्ट खेलने में यही फर्क है।

इसके अलावा कोई फर्क नहीं दिखता । इसमें हमें फैसले अधिक सटीक लेने होंगे और कहीं कोई कोताही की गुंजाइश नहीं होगी ।’’ कोलकाता में गुलाबी गेंद वाले टेस्ट को लेकर बनी हाइप की तुलना उन्होंने टी20 विश्व कप 2016 में भारत पाकिस्तान मैच से की। उन्होंने कहा ,‘‘ आखिरी बार इतना उत्साह तभी देखने को मिला था । सभी बड़े सितारे आये थे और उन्हें सम्मानित किया गया था । स्टेडियम खचाखच भरा था। अभी भी ऐसा ही माहौल है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 IPL 2020 में 8 नहीं बल्कि 9 टीमें बिखेर सकती हैं अपना जलवा, BCCI नई फ्रेंचाइजी को जोड़ने का बना रहा प्लान
2 ‘अदरक कम, नींबू ज्यादा’ बांग्लादेशी चाय दादा के फैन हैं महेंद्र सिंह धोनी, कोलकाता में लाल टोपी पहन टीम को कर रहे चीयर
3 India vs West Indies T20I, ODI Series 2019 Squad, Players List: भुवनेश्वर की टी20 और वनडे सीरीज के लिए भारतीय टीम में वापसी, कप्तान कोहली भी शामिल
जस्‍ट नाउ
X