scorecardresearch

टीम इंडिया की शर्मनाक हार में छिप गया मयंक अग्रवाल का बड़ा रिकॉर्ड, सुनील गावस्कर, वीरेंद्र सहवाग का छोड़ा है पीछे

मयंक अग्रवाल ने 19 दिसंबर 2020 को टेस्ट क्रिकेट में अपने एक हजार रन पूरे किए। मयंक अग्रवाल इस मुकाम तक पहुंचने वाले सबसे तेज (सबसे कम पारियां खेलकर 1000 रन बनाने वाले) भारतीय ओपनर बने। उन्होंने सुनील गावस्कर और वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड तोड़ा।

Mayank Agarwal Test
मयंक अग्रवाल ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 1000 रन पूरे किए। वह भारत की तरफ से सबसे तेज 1000 रन बनाने वाले तीसरे बल्लेबाज बन गए हैं।
ऑस्ट्रेलिया ने 4 मैच की सीरीज के पहले टेस्ट मैच में भारत को 8 विकेट से हराया। दोनों टीमों के बीच हुए पहले डे-नाइट टेस्ट मैच में टीम इंडिया की दूसरी पारी महज 36 रन पर सिमट गई और ऑस्ट्रेलिया ने आसानी से मैच अपने नाम कर लिया। टीम इंडिया की शर्मनाक हार में भारतीय ओपनर मयंक अग्रवाल का एक कीर्तिमान छिप गया। मयंक अग्रवाल ने शनिवार यानी 19 दिसंबर 2020 को टेस्ट क्रिकेट में अपने एक हजार रन पूरे किए।

मयंक अग्रवाल टेस्ट क्रिकेट में 1000 रन बनाने वाले 67वें भारतीय हैं। मयंक अग्रवाल इस मुकाम तक सबसे तेज गति से (सबसे कम पारियां खेलकर 1000 रन बनाने वाले) पहुंचने वाले भारतीय ओपनर बने। उन्होंने सुनील गावस्कर और वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड तोड़ा। मयंक अग्रवाल ने अपनी 19वीं टेस्ट पारी में यह मुकाम छुआ। इसके साथ ही वह सबसे कम पारियां खेलकर एक हजार टेस्ट रन पूरा करने के मामले में तीसरे नंबर पर पहुंच गए। उनसे कम पारियां खेलकर सिर्फ विनोद कांबली और चेतेश्वर पुजारा ही एक हजार टेस्ट रन बना पाए हैं।

विनोद कांबली ने 14 पारियों में ही अपने एक हजार टेस्ट रन पूरे कर लिए थे। वहीं, चेतेश्वर पुजारा ने 18वीं पारी के दौरान यह उपलब्धि अपने नाम की थी। सौरव गांगुली को 1000 टेस्ट रन का आंकड़ा छूने के लिए 23 पारियां खेलनी पड़ी थीं।

बतौर ओपनर सुनील गावस्कर ने 21वीं पारी में अपने एक हजार टेस्ट रन पूरे किए थे। सबसे कम पारियों में 1000 टेस्ट रन बनाने वाले भारतीय ओपनर्स में वीरेंद्र सहवाग तीसरे नंबर पर हैं। वीरेंद्र सहवाग ने 24 पारियों में अपने 1000 टेस्ट रन पूरे कर लिए थे।

25 से कम पारियां खेलकर एक हजार टेस्ट रन पूरा करने वाले भारतीयों में संजय मांजरेकर और राहुल द्रविड़ का भी नाम आता है। संजय मांजरेकर और राहुल द्रविड़ ने अपनी 23वीं पारी के दौरान एक हजार टेस्ट रन पूरे किए थे।

इस मैच में भारतीय टीम ने 19 रन पर 6 विकेट गंवा दिए थे। टेस्ट क्रिकेट में उसने इससे पहले कभी भी इतने कम रनों के भीतर 6 विकेट नहीं गंवाए थे। इससे पहले उसका सबसे खराब प्रदर्शन 1996 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ डरबन के मैदान पर रहा था। तब उसने 25 रन पर 6 विकेट गंवा दिए थे।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट