ताज़ा खबर
 

WBO टाइटल के लिए पूर्व यूरोपीय चैंपियन कैरी होप से भिड़ेंगे विजेंदर सिंह

यह बाउट त्यागराज स्टेडियम में आयोजित की जाएगी, जिसकी क्षमता करीब 6000 दर्शकों की है और विजेंदर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और कई अन्य गणमान्य व्यक्तियों को आमंत्रित किया हुआ है।

Author नई दिल्ली | June 7, 2016 5:24 AM
विजेंद्र सिंह और कैरी हॉप

भारतीय मुक्केबाजी स्टार विजेंदर सिंह 16 जुलाई को यहां होने वाली डब्लूबीओ एशियाई खिताबी बाउट में पूर्व यूरोपीय चैंपियन कैरी होप से भिड़ेंगे, जिनके नाम की सोमवार को घोषणा की गई। भारत का यह 30 वर्षीय स्टार मुक्केबाज पिछले साल पेशेवर बना था और तब से उसे शिकस्त नहीं मिली है। विजेंदर ने अभी तक अपने सारे छह मुकाबले नाकआउट के जरिए जीते हैं।

वहीं उनके प्रतिद्वंद्वी होप को 30 बाउट का अनुभव हासिल है, जिसमें से उन्होंने 23 में जीत दर्ज की है। इसमें से दो नाकआउट रही। वेल्श में जन्मे होप आस्ट्रेलिया में बस गए थे। वे डब्लूबीसी मिडिलवेट चैंपियन भी हैं और एक वर्ग ऊपर सुपर मिडिलवेट में लड़ने लगे हैं। होप ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि वह भारत में सुपरस्टार है लेकिन मेरे लिए वह महज एक मुक्केबाज है। वह एक साल से ही पेशेवर बना है, मैं पिछले 12 साल से पेशेवर हूं। मेरे पास अपार अनुभव है। मैं जानता हूं कि दर्शक उसके साथ होंगे लेकिन मुझे छिपा रुस्तम बने रहना पसंद है। दबाव उस पर होगा। उसे कठिन ट्रेनिंग करनी होगी।

चौंतीस वर्षीय होप ने कहा कि मैं बीते समय में दुनिया का तीसरे नंबर का मुक्केबाज रह चुका हूं। मैंने उसकी उपलब्धियों के बारे में काफी कुछ सुना है लेकिन ये सब एमेच्योर में हैं। मैं पेशेवर सर्किट में काफी अनुभवी हूं। वहीं होप के बयान के जवाब में विजेंदर ने कहा कि समय फैसला करेगा कि 16 जुलाई को क्या होगा। इंतजार कीजिए और देखिए। विजेंदर के दो प्रोमोटरों – भारत के आइओएस और ब्रिटेन के क्वींसबेरी प्रमोशंस – ने खुलासा किया कि बाउट की टिकटों की बिक्री मंगलवार से शुरू होगी। बाउट का पहला टिकट पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को पेश किया गया जो विजेंदर के लंबे समय से दोस्त हैं। सहवाग ने टिकट लेने के बाद कहा कि यहां तक कि क्रिकेट में आस्ट्रेलियाइयों को हराने में काफी मजा आता है। इसलिए मुझे उम्मीद है कि विजेंदर कैरी को हरा देगा।

क्वींसबेरी प्रमोशंस के फ्रांसिस वारेन ने कहा कि उन्हें लगता है कि 10 राउंड का मुकाबला विजेंदर के लिए काफी कठिन होगा। उन्होंने कहा कि विजेंदर की उस दिन की खिताबी बाउट से पहले दो चार-राउंड, दो छह-राउंड और एक आठ-राउंड का मुकाबला होगा। मुझे लगता है कि यह विजेंदर के लिए कठिन भिड़ंत होगी लेकिन खिताब के अलावा डब्लूबीओ रैंकिंग में शीर्ष 15 में जगह बनाने का मौका भी दांव पर लगा होगा। इससे जल्द ही विजेंदर के लिए विश्व खिताबी बाउट का रास्ता बनेगा।

यह बाउट त्यागराज स्टेडियम में आयोजित की जाएगी, जिसकी क्षमता करीब 6000 दर्शकों की है और विजेंदर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और कई अन्य गणमान्य व्यक्तियों को आमंत्रित किया हुआ है।

वहीं विजेंदर सिंह भले ही कह रहे हों कि पेशेवर मुक्केबाजों के लिए दरवाजे खुलने के बाद वे ओलंपिक क्वालीफिकेशन में हाथ आजमाना चाहते हैं लेकिन उनके ब्रिटेन के प्रमोटर फ्रांसिस वारेन ने सोमवार को स्पष्ट किया कि भारत के इस स्टार मुक्केबाज के पास रियो का टिकट कटाने की कोशिश के लिए समय नहीं बचा है। अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआइबीए) ने पेशेवर मुक्केबाजों के लिए ओलंपिक के दरवाजे खोल दिए हैं तो भारत के सबसे सफल मुक्केबाज विजेंदर के सामने एक सवाल खड़ा है कि क्या वे इस मौके का फायदा उठाना चाहेंगे?

ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप के पूर्व कांस्य पदकधारी मुक्केबाज ने कहा कि अगर उनके लिए मौका है तो वे इसे हासिल करना चाहेंगे। मौके से उनका मतलब वेनेजुएला में अंतिम ओलंपिक क्वालीफायर से है, जो दुनिया के सभी पेशेवर मुक्केबाजों को मिलेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App