ताज़ा खबर
 

सिर्फ खेल पर ध्यान लगाना चाहते हैं इरफान

बड़ौदा की ओर से रणजी ट्राफी में शानदार वापसी करने वाले भारतीय आलराउंडर इरफान पठान ने रविवार को कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के बारे में बात करने के बजाय वे अपने प्रदर्शन से जवाब देंगे।

Author नई दिल्ली | November 23, 2015 4:07 AM
बाएं हाथ के तेज गेंदबाज इरफान पठान। (फाइल फोटो)

बड़ौदा की ओर से रणजी ट्राफी में शानदार वापसी करने वाले भारतीय आलराउंडर इरफान पठान ने रविवार को कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के बारे में बात करने के बजाय वे अपने प्रदर्शन से जवाब देंगे। लंबे समय बाद वापसी करने वाले इरफान ने गुजरात के खिलाफ छह विकेट हासिल करने के अलावा 58 रन की पारी भी खेली। इरफान ने इसके बाद पिछले हफ्ते पंजाब के खिलाफ टीम की जीत में भी दोनों पारियों में तीन-तीन विकेट चटकाए। बाएं हाथ का यह तेज गेंदबाज अब अपने प्रदर्शन से अपनी तरफ ध्यान खींचना चाहता है।
इरफान ने एक बातचीत में कहा कि मैं सिर्फ बोलकर अपना ध्यान भंग नहीं करना चाहता। मेरा ध्यान बड़ौदा की ओर से अच्छा प्रदर्शन करने और अपनी क्षमता के अनुसार सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर है। टीम को योगदान देने के लिए मैं किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी और गेंदबाजी के लिए तैयार हूं। भारतीय टीम में अब भी आलराउंडर की जगह बनती है और भारत की ओर से अगस्त 2012 में अंतिम वनडे खेलने वाले इरफान ने कहा कि जहां तक गेंदबाजी और बल्लेबाजी का सवाल है तो वे अच्छा महसूस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे मैं अधिक मैच खेलूंगा बल्लेबाजी को लेकर बेहतर महसूस करने लगूंगा। मैंने अच्छी शुरुआत की है और इसमें सुधार ही होगा। मेरा हमेशा से मानना है कि मैं लय में प्रदर्शन करने वाला क्रिकेटर हूं, फिर चाहे यह बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी, मैं जितना खेलूंगा उतना बेहतर महसूस करूंगा।

इरफान अपने करिअर में चोटों से परेशान रहे हैं लेकिन इस 31 वर्षीय आलराउंडर ने फिलहाल किसी भी तरह की चोट से इनकार किया। उन्होंने कहा- देखिए, चोट खिलाड़ी के जीवन का हिस्सा होती हैं। मैं हमेशा से कहता आया हूं कि आप अपने घर में सोफे पर बैठे हुए चोटिल नहीं हो सकते। मेरा हमेशा से मानना रहा है कि चोटिल होना कोई अपराध नहीं है। कोई चोटिल नहीं होना चाहता, यह खिलाड़ी के जीवन में सामान्य बात है। पाकिस्तान के महान आलराउंडर इमरान खान ने एक बार इरफान की काफी तारीफ करते हुए कहा था कि इरफान ऐसा क्रिकेटर है जो बुलंदियां छुएगा और वह शेरदिल क्रिकेटर है। इस बयान के बारे में याद दिलाए जाने पर इरफान ने कहा कि किसी की प्रतिभा का आकलन उससे की जाने वाली अपेक्षाओं के आधार पर नहीं किया जा सकता।

वर्ष 2003 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ एडीलेड में पदार्पण के बाद इरफान ने 29 टैस्ट में 100 विकेट चटकाने के अलावा 1105 रन बनाए जबकि 120 वनडे में उनके नाम पर 120 विकेट और 1544 रन दर्ज हैं। इरफान का मानना है कि कोहली की कप्तानी की शैली बिलकुल अलग है और यह मौजूदा टैस्ट टीम के लिए अच्छा काम कर रही है। उन्होंने कहा कि अलग-अलग कप्तानों का काम करने का अलग तरीका होता है। मैं जिन भी कप्तानों के साथ खेला उन सभी का रवैया अलग था। और टीम की अपने कप्तान की प्रतिक्रिया के अनुसार प्रतिक्रिया देती है। यह सब इस पर निर्भर करता है कि कप्तान टीम को कैसे संभाल रहा है और विराट टीम को काफी अच्छी तरह से संभाल रहा है।

हमने जो श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो टैस्ट में देखा, वह शानदार था। इरफान ने कहा कि मैं उनकी कप्तान का लुत्फ उठा रहा हूं और उन्हें व टीम को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं। जहां तक मेरा सवाल है मैं आजकल मजे कर रहा हूं और अपने क्रिकेट का लुत्फ उठा रहा हूं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App