scorecardresearch

‘आइसबाथ बकवास है,’ जसप्रीत बुमराह के टी20 विश्व कप से बाहर होने के बाद ब्रेट ली ने चोटों से बचने को लेकर शेयर किया Video

Watch Brett Lee YouTube Video: ब्रेट ली ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘आपको दौड़ने और बहुत तेज दौड़ने में सक्षम होना चाहिए। भारी वजन न उठाएं, यह हाथ के एक्शन को स्लो करता है।’

‘आइसबाथ बकवास है,’ जसप्रीत बुमराह के टी20 विश्व कप से बाहर होने के बाद ब्रेट ली ने चोटों से बचने को लेकर शेयर किया Video
ब्रेट ली ने बताया कि चोटों के बाद अपना प्रशिक्षण कार्यक्रम कैसे शुरू किया जाए। (सोर्स- यूट्यूब वीडियो स्क्रीनशॉट)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने 3 अप्रैल 2022 की शाम को बयान जारी किया कि जसप्रीत बुमराह के पीठ दर्द ने उन्हें टी 20 विश्व कप से बाहर कर दिया है। इसके कुछ घंटों बाद, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने चोटों से बचने के तरीके को लेकर यूट्यूब पर वीडियो जारी किया। इस वीडियो में उन्होंने आइसबाथ को बकवास करार दिया है। साथ ही वह तेज गेंदबाजों को भारी वजन नहीं उठाने के लिए कहते हैं।

उन्होंने कहा, ‘हम देखते हैं कि बहुत से गेंदबाज भारी जैसे स्क्वैट्स, लेग प्रेस, बॉडी वेट, बेंच प्रेस, बाइसप-कर्ल्स वजन उठाते हैं…। मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि जिम का काम महत्वपूर्ण है लेकिन अगर आप 150 किमी प्रति घंट की रफ्तार से गेंदबाजी करना चाहते हैं, तो ज्यादा संख्या में बिना चर्बी की मांसपेशियों को होना महत्वपूर्ण है।’

ब्रेट ली ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘आपको दौड़ने और बहुत तेज दौड़ने में सक्षम होना चाहिए। भारी वजन न उठाएं, यह हाथ के एक्शन को स्लो करता है। तेज गेंदबाजी के लिए आपको फास्ट-ट्विच मसल्स की जरूरत होती है।’ ट्विच मसल्स ऐसी मांसपेशियां होती हैं जो आपके मूवमेंट को बढ़ाने में मदद करती हैं। ब्रेट ली ने इसके बाद बताया कि चोटों के बाद कैसे अपना प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया जाए।

उन्होंने कहा, ‘मैं बहुत सारी सॉफ्ट-सैंड रनिंग करूंगा; यह मेरे टखने, मेरे घुटनों और मेरी पीठ पर असर डालेगा। फिर मैं घास पर दौड़कर इसे सप्लीमेंट करूंगा, तब आपको ऐसा लगेगा कि आप बहुत तेज दौड़ रहे हैं। रेत पर कड़ी मेहनत करो और फिर घास पर दौड़ो।’

बॉलिंग एनर्जी है, जो पूरे शरीर के जरिए हाथ में स्थानांतरित होती है। जब तेज गेंदबाज दौड़ना शुरू करते हैं तो फ्रंट फुट पर काफी दबाव डालते हैं। ब्रेट ली का मानना ​​है कि बहुत अधिक भारी वजन होने से कोई मदद नहीं मिलती है।

ब्रेट ली तर्क देते हैं, ‘एक बार जब आप ज्यादा भारी नहीं होते, क्योंकि आपको यह भी सोचना होगा कि जो भी ज्यादा किलो वजन है वह आपके सामने के पैर से गुजरने वाला बल है। जब गेंदबाज गेंदबाजी करते हैं, तो वे अपने शरीर के वजन के दोगुने के बराबर होते हैं। यदि आपका वजन 90 किलो है, तो उनके सामने के टखने पर 180 किलो वजन पड़ने वाला है।’

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 05-10-2022 at 01:36:20 pm
अपडेट