ताज़ा खबर
 

ICC World Cup 2019: धोनी ना होते तो कार्तिक ने खेले होते 26 टेस्ट और 91 वन डे से ज्यादा मैच

ICC World Cup 2019: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 15 साल पहले पदार्पण करने के बाद टीम से लगातार अंदर-बाहर होने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक के खेल की चर्चा होती रहती है और ऐसे में वह खुद को टीम के लिए ‘प्रासंगिक’ मानते हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: May 24, 2019 4:43 PM
कार्तिक ने इंग्लैंड रवाना होने से पहले पीटीआई से कहा, ‘‘ अगर परिवार और दोस्तों की दुआएं मेरे साथ नहीं होती तो मैं अभी तक खेल नहीं पाता। अच्छा या बुरा, अगर लोग आपके बारे में बात कर रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि आप प्रासंगिक बने हुए हैं।

ICC World Cup 2019: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 15 साल पहले पदार्पण करने के बाद टीम से लगातार अंदर-बाहर होने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक के खेल की चर्चा होती रहती है और ऐसे में वह खुद को टीम के लिए ‘प्रासंगिक’ मानते हैं। विश्व कप के लिए भारतीय टीम का चयन 15 अप्रैल को हुआ और प्रतिभाशाली ऋषभ पंत की जगह 33 साल के दिनेश कार्तिक को जगह देने पर सवाल उठा था। मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने विकेट के पीछ कार्तिक को बेहतर बताते हुए इस चर्चा को यह कहते हुए विराम देने की कोशिश की। कार्तिक ने इंग्लैंड रवाना होने से पहले पीटीआई से कहा, ‘‘ अगर परिवार और दोस्तों की दुआएं मेरे साथ नहीं होती तो मैं अभी तक खेल नहीं पाता। अच्छा या बुरा, अगर लोग आपके बारे में बात कर रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि आप प्रासंगिक बने हुए हैं।

यह देखना काफी सुकून देता है कि मैं इतने वर्षों के बाद भी प्रासंगिक बना हुआ हूं और टीम का हिस्सा होने के लिए अब भी मेहनत कर रहा हूं।’’ कार्तिक ने महेन्द्र सिंह धोनी से पहले पदार्पण किया था और अगर धोनी भारतीय टीम में नहीं आते तो कार्तिक ने करियर में 26 टेस्ट और 91 एकदिवसीय से कहीं ज्यादा मैच खेले होते। कार्तिक को यह मानने में कोई हिचक नहीं है कि वह एक विशेष खिलाड़ी के कारण टीम से बाहर हुए। विकेट के पीछे धोनी के करीब पहुंचने में नाकाम रहे कार्तिक ने बल्लेबाजी पर ज्यादा ध्यान देना शुरू किया और 2017 में हुई चैम्पियन्स ट्राफी के बाद से टीम में जगह बनाये रखने में सफल हुए। श्रीलंका में निदहास ट्राफी के फाइनल में आखिरी गेंद पर जब उन्होंने छक्का मार कर जीत दिलायी तब लगा कि टीम प्रबंधन की फिनिशर की खोज पूरी हुई।

उन्हें हांलाकि विश्व कप से पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की आखिरी श्रृंखला में टीम में जगह नहीं मिली जिसके बाद से विश्व कप के लिए उनके चुने जाने पर संशय बन गया। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं आश्चर्यचकित था (ऑस्ट्रेलिया श्रृंखला के लिए नहीं चुने जाने पर) लेकिन मुझे भरोसा था और आखिरी में मुझे पिछले दो साल के प्रदर्शन के आधार पर चुना गया।’’ कार्तिक ने कहा, ‘‘ मैंने विभिन्न क्रमों पर बल्लेबाजी की है और मुझे सफलता भी मिली है। लेकिन मेरे लिए पिछले प्रदर्शन को देखना जरूरी नहीं, मेरे लिए सबसे बड़ा टूर्नामेंट होने जा रहा है और मुझे अब वहां खेलने का मौका मिला है।’’ कार्तिक ने कहा, ‘‘इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपके बारे में क्या कहा जा रहा है। मेरे लिए यह जरूरी है कि मुझे एक मौका मिला है और ऐसे लोग हैं जो मुझ पर विश्वास करते हैं। मुझे वहां जाकर अपने देश के लिए अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 सचिन-लारा के क्लब में शामिल होंगे क्रिस गेल, साथ ही बनेंगे ‘सिक्सर किंग
2 हैंपशर की ओर से काउंटी पदार्पण करते हुए रहाणे का शतक, ऐसा करने वाले तीसरे भारतीय