ताज़ा खबर
 

5 बार के सर्वश्रेष्ठ अंपायर साइमन टॉफेल ने कहा- ओवर-थ्रो में इंग्लैंड को 6 रन मिलना गलत

आईसीसी के नियमों के मुताबिक, रन लेने के लिए दौड़ रहे दोनों बल्लेबाज यदि एक दूसरे को क्रास कर लें तो ओवर थ्रो पर रन जुड़ता है। जबकि न्यूजीलैंड-इंग्लैंड के फाइनल मैच के दौरान गुप्टिल के थ्रो पर दूसरा रन ले रहे बेन स्टोक्स और आदिल रशीद ने एक दूसरे को क्रास नहीं किया था।

बेन स्टोक्स।

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 खत्म हो चुका है, लेकिन इस फाइनल मुकाबले में निकले नतीजे को लेकर अब तक चर्चा जारी है। फाइनल का फैसला सुपर ओवर में भी नहीं निकला था। इसके बाद दोनों टीमों की ओर से लगाई गई बाउंड्री के आधार पर इंग्लैंड को वर्ल्ड चैंपियन घोषित किया गया है। इस मैच के दूसरी पारी के 50वें ओवर में मार्टिन गुप्टिल के ओवर थ्रो पर इंग्लैंड को 6 रन दिए गए थे। अंपायरों के इस फैसले को आईसीसी के पूर्व अंपायर साइमन टॉफेल ने गलत करार दिया है। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड को 6 रन की बजाय 5 रन ही दिए जाने चाहिए थे। यदि ऐसा होता तो नतीजे के लिए सुपर ओवर नहीं होता और न्यूजीलैंड की टीम का पहली बार विश्व चैंपियन बनने का सपना भी पूरा हो जाता।

आईसीसी के नियमों के मुताबिक, रन लेने के लिए दौड़ रहे दोनों बल्लेबाज यदि एक दूसरे को क्रास कर लें तो ओवर थ्रो पर रन जुड़ता है। जबकि न्यूजीलैंड-इंग्लैंड के फाइनल मैच के दौरान गुप्टिल के थ्रो पर दूसरा रन ले रहे बेन स्टोक्स और आदिल रशीद ने एक दूसरे को क्रास नहीं किया था। टॉफेल की गिनती दुनिया के सर्वश्रेष्ठ अंपायरों में की जाती है। उन्हें 5 बार आईसीसी अंपायर ऑफ द ईयर के पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। टॉफेल ने 74 टेस्ट और 174 वनडे और 34 टी-20 में अंपायरिंग की थी। उन्होंने 2012 में अंपायरिंग से संन्यास ले लिया था। उन्होंने 1999 में पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच में अंपायरिंग की। टॉफेल 2011 वर्ल्ड कप के फाइनल में भी अंपायर थे।

टॉफेल ने कहा, ‘आईसीसी के नियम 19.8 के मुताबिक, ओवर थ्रो पर गेंद बाउंड्री पार जाती है तो उसमें बल्लेबाजों द्वारा पूरे किए गए रन भी जुड़ते हैं। अगर बल्लेबाजों ने थ्रो करने से पहले एक-दूसरे को क्रॉस कर लिया है तो ओवर थ्रो में वह रन भी जोड़ा जाता है। अगर फील्डर के थ्रो फेंकने से पहले बल्लेबाजों ने एक-दूसरे क्रॉस नहीं किया हो तो वह रन नहीं जोड़ा जाएगा।’ इंग्लैंड-न्यूजीलैंड के फाइनल मैच में 50वें ओवर की चौथी गेंद पर स्टोक्स ने शॉट लगाया और रन लेने के लिए दौड़ पड़े। गुप्टिल ने गेंद को फील्ड किया और थ्रो फेंका। हालांकि, तब तक स्टोक्स और रशीद एक रन पूरा कर दूसरे रन के लिए दौड़ पड़ थे, लेकिन दूसरे रन के लिए दौड़ते हुए दोनों ने एक दूसरे को क्रास नहीं किया था। टॉफेल का कहना है कि ऐसी स्थिति में इंग्लैंड के खाते में 5 रन ही जोड़े जाने चाहिए थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 निरंजन मुकुंदन : विश्व रेकॉर्ड बनाने वाला पैरा तैराक
2 ICC ने चुनी अपनी वर्ल्ड कप इलेवन; कोहली-वार्नर जैसे दिग्गज नदारद, भारत से सिर्फ रोहित और बुमराह