ताज़ा खबर
 

Champions Trophy 2017: भारत-पाकिस्तान के बीच फाइनल मुकाबले से पहले आईसीसी ने कर दी ये घोषणा

चैंपियंस ट्रॉफी की करें तो इन दोनों टीमों के बीच अबतक 4 मुकाबले खेले गए हैं, जिसमें भारत को 2 में जीत और इतने ही मैचों में हार मिली है।

पाकिस्तान भले ही इस टूर्नामेंट में भारत से 124 रनों से हारा हो मगर इस टीम को किसी भी कीमत में कम नहीं आंका जा सकता। (Photo Courtesy: BCCI)

भारत-पाकिस्तान के बीच रविवार को चैंपियंस ट्रॉफी-2017 का फाइनल मैच खेला जाएगा। मैच को लेकर दर्शकों के बीच काफी उत्साह है। इसके शुरू होने से पहले ही मुकाबले में अहम निर्णय देने वाले अंपायर्स के नामों को घोषित कर दिय गया है। इसे आईसीसी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है।

दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच होने वाले खिताबी मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के मारियास इरासमुस और रिचर्ड केटेलबोरोग मैदानी अंपायर होंगे। वहीं थर्ड अंपायर आर. टकर, जबकि फोर्थ अंपायर कुमार धर्मसेना होंगे। भारत का टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से आईसीसी टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला हुआ था। इसके 10 सालों बाद फिर से ऐसा मौका आया है।

द ओवल मैदान पर भारत और पाकिस्तान के बीच फाइनल मैच खेला जाएगा। पीठ में दर्द की समस्या के कारण आमिर इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच के टॉस से ठीक पहले पाकिस्तान की अंतिम एकादश से बाहर हो गए थे। हालांकि, टीम के गेंदबाजी कोच अजहर महमूद का कहना है कि आमिर इस मैच के लिए फिट हैं, लेकिन उनके रविवार के मैच में खेलने पर संदेह अब भी बरकरार है।

चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में रविवार को भारत का सामना पाकिस्तान से होगा। टीम इंडिया भले ही टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में पाकिस्तान को 4 जून को 124 रनों से करारी मात दे चुका है लेकिन विपक्षी टीम को किसी भी हिसाब से कमतर नहीं आंका जा सकता। भारत और पाकिस्तान दोनों ही 4 में से 3 मैच जीतकर फाइनल तक पहुंचे हैं। भारत से हारने के बाद पाकिस्तान ने एक भी मैच नहीं गंवाया। ये टीम इस वक्त जीत की लय में है। चैंपियंस ट्रॉफी की करें तो इन दोनों टीमों के बीच अबतक 4 मुकाबले खेले गए हैं, जिसमें भारत को 2 में जीत और इतने ही मैचों में हार मिली है।

विराट कोहली से आखिर क्यों नाराज हैं भारत का यह पूर्व क्रिकेटर?, देखें वीडियो ...

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App