ताज़ा खबर
 

World Hockey Leauge: सेमीफाइनल में बेल्जियम से हारा भारत

लगातार अच्छा प्रदर्शन कर पाने में नाकाम भारतीय टीम शनिवार को हाकी विश्व लीग सेमीफाइनल में बेल्जियम से 0-1 से हारकर खिताब की दौड़ से बाहर हो गई।

Author रायपुर | December 6, 2015 1:51 AM

लगातार अच्छा प्रदर्शन कर पाने में नाकाम भारतीय टीम शनिवार को हाकी विश्व लीग सेमीफाइनल में बेल्जियम से 0-1 से हारकर खिताब की दौड़ से बाहर हो गई। भारत पांचवें मिनट में ही गोल खा बैठा, जब सेड्रिक चार्लियर ने बेल्जियम के लिए मैदानी गोल दागा। भारतीयों की शुरुआत काफी धीमी रही और पहले दो क्वार्टर में बेल्जियम के डिफेंस को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी। दूसरे हाफ में भारत ने आक्रामक खेल दिखाया लेकिन फारवर्ड पंक्ति फिनिशिंग नहीं दे सकी। पहले 30 मिनट तक विरोधी गोल पर एक भी हमला नहीं कर सकी भारतीय टीम ने आखिरी दो क्वार्टर में 11 प्रयास किए लेकिन गोल नहीं कर सकी।

भारत का गेंद पर नियंत्रण बेल्जियम के 41 फीसद के मुकाबले 59 फीसद रहा। मेजबान टीम ने सर्किल के भीतर 24 बार प्रवेश किया जबकि बेल्जियम 16 बार ही कर सका। दोनों टीमें पूरे मैच में एक भी पेनल्टी कार्नर नहीं बना सकी। मैच शुरू होने से पहले गोलकीपर पी आर श्रीजेश को अभ्यास के दौरान घुटने पर चोट लग गई थी और वे राष्ट्रगान के समय मौजूद नहीं थे। वे हालांकि समय पर फिट होकर मैदान पर उतरे। ब्रिटेन के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में शानदार प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम पूरी तरह दिशाहीन दिखी। खिलाड़ियों ने साबित कर दिया कि पुरानी आदतें जल्दी नहीं छूटती और एक बार फिर तालमेल का अभाव साफ नजर आया।

पहले 30 मिनट तक तो विरोधी गोल पर एक भी हमला नहीं हो सका। बेल्जियम को बढ़त बनाने में सिर्फ पांच मिनट लगे। चार्लियेर ने सर्कि के भीतर से रिवर्स हिट पर गोल किया और गेंद गोलकीपर श्रीजेश के पैरों के बीच से निकल गई। भारतीयों को कुछ मिनट बाद मिला पेनल्टी कार्नर बेल्जियम के रेफरल पर रद्द कर दिया गया। बेल्जियम 11वें मिनट में बढ़त दुगुनी कर लेता लेकिन श्रीजेश ने थामय ब्रियेल्स का शाट रोक दिया।

भारत को 16वें मिनट में गोल करने का मौका मिला लेकिन एसवी सुनील के पास पर आकाशदीप सिंह स्टिक नहीं लगा सके। भारतीय मिडफील्ड की जान कप्तान सरदार सिंह भी फार्म में नहीं थे। ब्रेक के बाद हालांकि भारत ने दबदबा बनाया और 37वें मिनट में गोल करने का पहला मौका मिला जो सुनील और आकाशदीप ने बनाया लेकिन बेल्जियम के गोलकीपर विंसेंट वानाश ने इसे बचा लिया।

बेल्जियम को आखिरी दो क्वार्टर में कुछ मौके और मिले जिनमें से एक 49वें मिनट में फ्लोरेंट वान ओबेल ने गंवा दिया।खेल के आखरी दस मिनट में भारतीयों ने लगातार हमले बोले। धरमवीर ने 57वें मिनट में दाहिने फ्लैंक से सुनील को पास दिया लेकिन वह गोल में नहीं बदल सके। भारत इसके साथ ही हाकी विश्व लीग सेमीफाइनल्स के कांस्य पदक मुकाबले में बेल्जियम के हाथों 0-4 से मिली हार का बदला चुकता करने में नाकाम रहा।

 

Next Stories
1 दिल्ली सरकार ने खिलाड़ियों का सम्मान समारोह टाला
2 सोना 440 रुपए बढ़कर 26,000 पर पहुंचा
3 मिट्टी को उर्वर बनाने के लिए किसानों को मिलेंगे मृदा स्वास्थ्य कार्ड: PM
ये पढ़ा क्या?
X