मेजर ध्यानचंद को मिला बर्थडे गिफ्ट, हॉकी प्लेयर्स का 36 साल बाद पूरा हुआ सपना - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मेजर ध्यानचंद को मिला बर्थडे गिफ्ट, हॉकी प्लेयर्स का 36 साल बाद पूरा हुआ सपना

हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर और खेल दिवस के मौके पर खेल प्रशंसकों की खुशियां महिला हॉकी टीम के अगले वर्ष होने वाले...

Author नई दिल्ली | August 29, 2015 1:58 PM

हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर और खेल दिवस के मौके पर खेल प्रशंसकों की खुशियां महिला हॉकी टीम के अगले वर्ष होने वाले रियो ओलंपिक के लिये क्वालिफाई करने की खबर के साथ ही दोगुनी हो गयीं।

हॉकी वर्ल्ड लीग सेमीफाइनल्स में पांचवें स्थान पर आने के बाद महिला टीम से उम्मीद की जा रही थी कि वो रियो के लिए क्वालिफाई करेंगी। यूरो हॉकी चैंपियनशिप में इंग्लैंड और हॉलैंड के फाइनल में पहुंचने के साथ ही भारतीय टीम का रियो के लिए रास्ता खुल गया। भारतीय महिला हॉकी टीम ने इससे पहले वर्ष 1980 में ओलंपिक में शिरकत करी थी और 36 साल बाद अब वह दूसरी बार खेलों के महाकुंभ ओलंपिक का हिस्सा बनेगी।

भारतीय महिला टीम के रियो के लिए क्वालिफाई करने पर अपनी खुशी जाहिर करते हुए खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि खेल दिवस के अवसर पर महिला हॉकी टीम के ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने से इस मौके का महत्व बढ़ गया है। महिला हॉकी टीम की इस शानदार उपलब्धि पर मैं उनको बधाई देता हूं।

पुरुष हॉकी टीम पहले ही रियो के लिए क्वालिफाई कर चुकी है और अब महिला टीम ने भी रियो के लिए क्वालिफाई करके खेल दिवस के इस मौके को खास बना दिया है। हम उम्मीद करते हैं कि पुरुष और महिला टीम अगले वर्ष होने वाले ओलंपिक में अपना शानदार प्रदर्शन करते हुए देश के लिए पदक जीतेगीं।

महिला हॉकी टीम को उनकी शानदार उपलब्धि पर अपनी बधाई देते हुए हॉकी इंडिया के अध्यक्ष नरेंद्र ध्रुव बत्रा ने कहा कि महिला हॉकी टीम का ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करना हम सभी के लिए एक गौरवपूर्ण क्षण है। हमें 36 साल के लंबे इंतजार के बाद यह खुशी मिली है। महिला टीम ने इसके लिए कड़ी मेहनत की थी और मैं उन्हें उनकी इस शानदार सफलता पर बधाई देता हूं। मैं उम्मीद करता हूं कि महिला टीम अपने इस बेहतरीन प्रदर्शन को जारी रखते हुए ओलंपिक में देश के लिए पदक जीतेंगी।

बयान के अनुसार, यूरो हॉकी चैम्पियनशिप का विजेता यूरोपीय महाद्वीपीय विजेता के रूप में 2016 ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करेगा जिससे एक क्वालीफिकेशन स्थान बच गया जो भारत को हॉकी विश्व लीग सेमीफाइनल्स से क्वालीफाई नहीं करने वाली सबसे बेहतर रैंकिंग वाली टीम के रूप में मिला।

भारत अब पहले ही क्वालीफाई कर चुकी नौ अन्य टीमों के साथ ओलंपिक में हिस्सा लेगा। इससे पहले दक्षिण कोरिया, अर्जेन्टीना, ग्रेट ब्रिटेन, चीन, जर्मनी, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और अमेरिका रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं।

भारतीय महिला हॉकी टीम ने पिछली बार 1980 मास्को खेलों में हिस्सा लिया था जहां टीम चौथे स्थान पर रही थी। हॉकी इंडिया ने महिला हॉकी टीम की इस ऐतिहासिक उपलब्धि के लिए सराहना की।

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा ने विज्ञप्ति में कहा, यह हाकी इंडिया और पूरे देश के लिए गर्व की बात है। हम पिछले 36 साल से इसका इंतजार कर रहे थे और यह उपलब्धि हाल के समय की सभी पिछली उपलब्धियों में सबसे यादगार है।

हॉकी इंडिया ने इस दौरान खिलाड़ियों और कोचिंग स्टाफ को भी बधाई दी। भारत रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली 10वीं टीम है। अंतिम दो टीमों का फैसला मिस्र में होने वाले 2015 अफ्रीका कप फोर नेशन्स और नवंबर में न्यूजीलैंड में होने वाले 2015 ओसियाना कप से होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App