ताज़ा खबर
 

हीना ने स्वर्ण पदक जीत कर ओलंपिक कोटा हासिल किया

विश्व की पूर्व नंबर एक निशानेबाज हीना ने यहां डा. कर्णीसिंह शूटिंग रेंज में आठ महिलाओं के बीच चले फाइनल में 199.4 अंक बनाए और वह चीनी ताइपै की तियान चिया चेन (198.1 अंक) और कोरिया की गिम युन मी (177.9 अंक) से आगे रही।

Author नई दिल्ली | January 28, 2016 01:35 am
हीना ने फाइनल में 199.4 अंक बनाए और वह चीनी ताइपै की तियान चिया चेन (198.1 अंक) और कोरिया की गिम युन मी (177.9 अंक) से आगे रही। (EXPRESS PHOTO BY PRAVEEN KHANNA)

भारत की चोटी की पिस्टल निशानेबाज ने बुधवार को यहां एशियाई ओलंपिक क्वालीफायर्स के पहले दिन महिलाओं की दस मीटर एअर पिस्टल का स्वर्ण पदक जीतकर देश के लिए ओलंपिक कोटा भी हासिल किया। वर्तमान में विश्व रिकार्ड धारक और विश्व की पूर्व नंबर एक निशानेबाज हीना ने यहां डा. कर्णीसिंह शूटिंग रेंज में आठ महिलाओं के बीच चले फाइनल में 199.4 अंक बनाए और वह चीनी ताइपै की तियान चिया चेन (198.1 अंक) और कोरिया की गिम युन मी (177.9 अंक) से आगे रही।

हीना ने फाइनल में आखिर से पहले वाले शाट में 10.3 अंक बनाए और चीनी ताइपै की अपनी प्रतिद्वंद्वी पर 1.5 अंक की बढ़त हासिल की। इस भारतीय ने अपने आखिरी प्रयास में ठीक दस अंक बनाए और यह स्वर्ण पदक जीतने के लिए पर्याप्त थे। तियान चिया ने आखिरी प्रयास में 10.2 अंक बनाए लेकिन वह हीना से आगे निकलने में नाकाम रही। भारत का यह निशानेबाजी में नौवां कोटा है। भारत की पुरुष 50 मीटर राइफल प्रोन में भाग ले रहे खिलाड़ियों के लिए हालांकि दिन अच्छा नहीं रहा। भारत का कोई भी निशानेबाज क्वालीफाईंग से आगे नहीं बढ़ पाया। इस स्पर्धा में स्वप्निल कुसाले 617.2 अंक के साथ 14वें स्थान पर रहे। सुशील घाले 17वें और सुरेंद्र सिंह राठौड़ 24वें स्थान पर रहे। महिलाओं के ट्रैप में रियो खेलों के लिए केवल एक ही कोटा था जिसमें श्रेयासी सिंह शूट आफ में हार गई।

पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता विजय कुमार 285 अंक के साथ सातवें स्थान पर रहे। स्पर्धा में भाग ले रहे दो अन्य भारतीय नीरज कुमार और हरप्रीत सिंह क्रमश: 13वें और 16वें स्थान पर रहे। भारतीय दृष्टि से दिन पूरी तरह से हीना के नाम पर रहा जिन्होंने ओलंपिक कोटा हासिल करने का अपना लंबा इंतजार आखिर में खत्म किया। इस टूर्नामेंट से पहले पटियाला में जन्मी 26 वर्षीय निशानेबाज ने पिछले साल सितंबर और नवंबर में कुवैत में क्रमश: एशियाई एअर गन चैंपियनशिप और एशियाई निशानेबाजी चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीते थे।

फाइनल से पहले हीना का आत्मविश्वास बढ़ा हुआ था क्योंकि क्वालीफिकेशन में वह 387 का स्कोर बनाकर शीर्ष पर रही थी। स्पर्धा में भाग लेने वाली अन्य भारतीय खिलाड़ियों में यशास्विनी देशवाल 11वें और श्वेता सिंह 12वें स्थान पर रही। हीना ने बाद में पत्रकारों से कहा, ‘मैं केवल खेल पर ध्यान केंद्रित कर रही थी। मैं जानती थी कि मैं अच्छा प्रदर्शन कर रही हूं। मैं आज कोटा हासिल करने के प्रति आश्वस्त थी।’ हीना के पति और कोच रौनक पंडित ने भी राहत की सांस ली। उन्होंने कहा, ‘अभी तीन विश्व कप होने हैं लेकिन हीना पहले में हिस्सा नहीं लेगी। वह अब बच्ची नहीं है। जिसके लिए लगातार अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में खेलना जरूरी हो। दक्षिण एशियाई खेलों के बाद वह रियो विश्व कप में भाग लेगी जो कि बेहद महत्त्वपूर्ण है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App