ताज़ा खबर
 

आउट होने पर MS Dhoni गुस्से में बल्ला फेंक ड्रेसिंग रूम चले गए थे, इरफान पठान ने 14 साल बाद खोला राज

धोनी के साथ सभी फॉर्मेट में खेलने वाले इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘वह भी इंसान हैं। उनका प्रतिक्रिया देना स्वाभाविक है। यहां तक कि चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से किसी के खराब क्षेत्ररक्षण करने या कैच छोड़ने पर उनकी प्रतिक्रिया उचित है।’

Author Edited By मोहनी गिरी धोनी पर पठान और गंभीर का बयान, वह इंसान है- खो चुके हैं आपा | Updated: May 12, 2020 10:19 PM
गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम क्रिकेट कनेक्टेड में कहा, ‘‘लोग कहते हैं कि उन्होंने कभी उन्हें (धोनी) अपना आपा खोते हुए नहीं देखा लेकिन मैंने दो बार ऐसा देखा है।

दुनिया उन्हें ‘कैप्टन कूल’ के नाम से जानती है, लेकिन महेंद्र सिंह धोनी के साथ खेलने वाले पूर्व क्रिकेटरों का मानना है कि यह पूर्व भारतीय कप्तान भी इंसान है। उन्होंने भी कुछ अवसरों पर मैदान पर अपना आपा खोया है। 14 साल पहले तो उन्हें इतना गुस्सा आया था कि वे बल्ला फेंककर ड्रेसिंग रूम चले गए थे। धोनी का 2017 में श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय मैच के दौरान चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव पर चिल्लाना काफी चर्चित रहा था।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भी प्रशंसकों ने कुछ अवसरों पर उन्हें अपना आपा खोते हुए देखा है। पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और इरफान पठान ने कहा कि यह विकेटकीपर बल्लेबाज पूर्व में भी कुछ अवसरों पर अंतरराष्ट्रीय मैचों के दौरान आपा खो बैठा था।

गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम क्रिकेट कनेक्टेड में कहा, ‘लोग कहते हैं कि उन्होंने कभी उन्हें (धोनी) अपना आपा खोते हुए नहीं देखा लेकिन मैंने दो बार ऐसा देखा है। यह विश्व कप 2007 और एक अन्य विश्व कप की बात है जब हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाये थे।’

धोनी के साथ सभी फॉर्मेट में खेलने वाले इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘वह भी इंसान हैं। उनका प्रतिक्रिया देना स्वाभाविक है। यहां तक कि चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से किसी के खराब क्षेत्ररक्षण करने या कैच छोड़ने पर उनकी प्रतिक्रिया उचित है। हां, वह शांतचित है। वह अन्य कप्तानों की तुलना में बेहद शांतचित है। निश्चित तौर पर मेरी तुलना में बेहद शांतचित है।’

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने धोनी को अपने खेल से ‘दर्शकों का मनोरंजन करने वाला खिलाड़ी’ करार दिया और कहा कि ऐसे बहुत कम अवसर आये होंगे जबकि उन्होंने अपना आपा खोया होगा। ली ने कहा, ‘हम अपने खेल से दर्शकों का मनोरंजन करने वाले खिलाड़ी चाहते हैं और धोनी ऐसा करते हैं। उन्होंने कभी सीमाएं नहीं लांघी। अगर ऐसा हुआ होगा तो ऐसा बहुत कम हुआ होगा। लेकिन हम भी इंसान हैं जैसे गौतम गंभीर ने कहा।’

धोनी ने आईपीएल के दौरान कुछ अवसरों पर मैदान पर खुलकर अपना गुस्सा दिखाया। आईपीएल 2019 में किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 19वें ओवर में दीपक चाहर के लगातार दो नोबाल करने पर धोनी गुस्से में थे। इसके बाद जयपुर में तो जब स्क्वायर लेग अंपायर ने नोबाल का फैसला पलट दिया तो वह डग आउट से मैदान पर अंपायर से बहस करने पहुंच गये थे।

पूर्व भारतीय आलराउंडर इरफान पठान ने 2006-07 की घटना को याद किया जब अभ्यास के दौरान धोनी आउट दिये जाने पर नाराज हो गये थे। पठान ने कहा, ‘हमने वार्म अप के दौरान एक मैच खेला था जिसमें दायें हाथ के बल्लेबाजों को बायें हाथ से और बायें हाथ के बल्लेबाजों को दायें हाथ से बल्लेबाजी करनी थी। इसके बाद हमें नेट अभ्यास करना था। वार्म अप के दौरान हमने दो टीमें बनायी। धोनी को आउट दिया गया जबकि उन्हें लगा कि वह आउट नहीं हैं। उन्होंने अपना बल्ला फेंक दिया और ड्रेसिंग रूम में चले गये और अभ्यास के लिये भी देर से आये। इसलिए गुस्सा उन्हें भी आता है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मैदान पर गुस्सैल लेकिन निजी जिंदगी में बेहद रोमांटिक हैं कीरोन पोलार्ड, 7 साल रिलेशनशिप में रहने के बाद की थी शादी
2 PCI अध्यक्ष बनने से पहले ही ले लिया था संन्यास, रिटायरमेंट की खबरों पर बोलीं दीपा मलिक
3 सानिया मिर्जा फेड कप हर्ट अवार्ड जीतने वाली पहली भारतीय बनीं, इनाम में मिले 1.5 लाख राज्य सरकार को दान किए 
अनलॉक 5.0 गाइडलाइन्स
X