एबी डिविलियर्स के गुरुमंत्र से हर्षल पटेल ने इंटरनेशनल डेब्यू पर किया कमाल, आईपीएल में RCB के लिए भी रच चुके हैं इतिहास

हर्षल पटेल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने इंटरनेशनल डेब्यू में कमाल करने के बाद बताया कि, आईपीएल में आरसीबी के लिए उनके साथ खेलने वाले एबी डिविलियर्स का गुरुमंत्र पूरे करियर के दौरान उनके जहन में रहेगा।

harshal-patel-remembers-ab-de-villiers-advice-during-ipl-2021-to-create-history-for-rcb-that-helped-purple-cap-winner-on-international-debut-against-new-zealand
एबी डिविलियर्स ने अंतर्राष्ट्रीय के बाद फ्रैंजाइजी क्रिकेट से भी संन्यास ले लिया है, इसी दिन हर्षल पटेल ने भारत के लिए डेब्यू किया (सोर्स- ट्विटर @BCCI, @RCBTweets)

न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 मुकाबले में हर्षल पटेल को अपना इंटरनेशनल डेब्यू करने का मौका मिला। इसी साल उन्होंने आईपीएल 2021 में भी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए इतिहास रचते हुए 32 विकेट लेकर पर्पल कैप अपने नाम की थी। इससे पहले मैच के कुछ घंटों पहले एबी डिविलियर्स ने हर तरह के क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी थी।

मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में हर्षल पटेल ने अपने आरसीबी के साथी एबी डीविलियर्स को याद किया और उनसे जुड़ा एक किस्सा भी सुनाया। उन्होंने बताया कि, एबी द्वारा उनको आईपीएल के दौरान दिए गए एक गुरुमंत्र (सलाह) से काफी फायदा मिला। यही कारण है कि उन्हें पहले आईपीएल और अब भारत के लिए अपने डेब्यू मैच में सफलता मिली।

आपको बता दें कि आईपीएल 2021 में हर्षल पटेल ने 32 विकेट झटके थे। उन्होंने ड्वेन ब्रावो के एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने के रिकॉर्ड की बराबरी की थी। इसके अलावा वे आरसीबी के लिए पर्पल कैप जीतने वाले भी आईपीएल के इतिहास में पहले खिलाड़ी बने थे।

आईपीएल के दौरान एबी डिविलियर्स से मिली सलाह को याद करते हुए तेज गेंदबाज हर्षल पटेल ने कहा कि, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के पूर्व साथी खिलाड़ी का उनके कैरियर पर बड़ा असर रहा है। आईपीएल के दूसरे चरण में उनकी (एबी) दी गई सलाह अब पूरे करियर में मेरे जहन में रहेगी।

हर्षल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि,’एबी का मेरे कैरियर पर बड़ा असर रहा है। मैं हमेशा उन्हें चुपचाप देखता आया हूं। हाल ही में यूएई में मैने उनसे पूछा कि बड़े ओवरों में किफायती गेंदबाजी कैसे करूं। उन्होंने कहा कि जब बल्लेबाज अच्छी गेंद को भी पीटे तो भी बदलाव मत करो। अच्छी गेंदों को मारने के लिए बल्लेबाज को मजबूर करो क्योंकि वह सोचेगा कि आप दूसरी गेंद डालोगे लेकिन ऐसा होगा नहीं।’

‘मैं 135 किमी प्रति घंटे से ज्यादा की गेंद नहीं फेंक सकता’

हर्षल पटेल ने काफी कड़ी मेहनत करते भारतीय टीम में जगह बनाई है। 30 वर्ष की आयु में उन्हें भारत के लिए डेब्यू करने का मौका मिला है। डेब्यू मैच में प्लेयर ऑफ द मैच रहे पटेल ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये भी कहा कि,’तेज गेंदबाज को रफ्तार चाहिए लेकिन मुझे लगा कि मैं 135 किमी प्रति घंटे से ज्यादा तेज गेंद नहीं फेंक सकत। बहुत कोशिश करने पर 140 लेकिन उससे ज्यादा नहीं।’

उन्होंने आगे कहा कि,’फिर मैने दूसरी चीजों पर फोकस किया और अपने कौशल को निखारा। मैंने अपने एक्शन पर काम किया। मेरा एक्शन बायो मैकेनिक्स की नजर में परफेक्ट नहीं है लेकिन यही मेरी ताकत बन गया। इसी की वजह से बल्लेबाजों को मुझे खेलने में दिक्कत आती है।’

गौरतलब है कि हर्षल पटेल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने डेब्यू टी20 मैच में शानदार गेंदबाजी की। उन्होंने 4 ओवर में 25 रन देकर दो विकेट भी अपने नाम किया। इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए अपने पहले अंतरराष्ट्रीय मैच में उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
CLT20: रसेल और डोएशे ने दिलाई केकेआर को जीत
अपडेट