ताज़ा खबर
 

केएल राहुल-पांड्या ने बिना शर्त मांगी माफी, BCCI ने लोकपाल नियुक्त करने की उठाई मांग

राय ने कहा कि सत्रह जनवरी को होने वाली सुनवाई के लिए हमने सर्वोच्च न्यायालय से लोकपाल की नियुक्ति की मांग की है।

Author January 14, 2019 8:08 PM
हार्दिक पांड्या-केएल राहुल ने मांगी माफी (Image Source: Facebook/@OfficialHardikPandya)

टेलीविजन कार्यक्रम में महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के मामले में निलंबित क्रिकेटर हार्दिक पंड्या और लोकेश राहुल ने सोमवार (14 जनवरी ) को ‘बिना शर्त’ माफी मांगी। इस बीच प्रशासकों की समिति (सीएओ) के अध्यक्ष विनोद राय ने कहा कि बीसीसीआई को दोनों खिलाड़ियों के करियर को खतरे में डालने की जगह उनमें सुधार करने पर ध्यान देना चाहिए। दोनों खिलाड़ियों के बिना शर्त माफी मांगने के बावजूद भी बीसीसीआई की 10 इकाइयों ने इस मामले की जांच के लिए लोकपाल नियुक्त करने के लिए विशेष आम बैठक बुलाने की मांग की हैं। सीओए में राय की सहयोगी डायना इडुल्जी चाहती है कि यह जांच सीओए और बीसीसीआई के अधिकारी करें।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई को गोपनीयता की शर्त पर बताया, ‘‘ हां, हार्दिक और राहुल ने फिर से जारी किये गये कारण बताओ नोटिस का जवाब दे दिया है। उन्होंने बिना शर्त माफी मांगी है। सीओए प्रमुख ने बीसीसीआई के नये संविधान की धारा 41 (सी) के तहत मुख्य कार्यकारी अधिकारी (राहुल जौहरी) को मामले की जांच का निर्देश दिया है। इडुल्जी को लगता है कि ऐसा होने पर मामले मे ‘लीपापोती’ की जाएगी। इन दोनों क्रिकेटरों की ‘कॉफी विद करण’ कार्यक्रम में की गई महिलाओं के बारे में अपमानजनक टिप्पिणयों के कारण बवाल मच गया था।ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच से स्वदेश बुलाये गये दोनों खिलाड़ियों का करियर अधर में अटका है। विश्व कप के शुरू होने में चार महीने से भी कम समय बचा है। राय ने इडुल्जी को भेजे मेल में कहा, ‘‘ बीसीसीआई को युवा खिलाडियों का करियर खत्म नहीं करना चाहिए।’’

राय ने लिखा कि कृपया इस बात को लेकर आश्वस्त रहे कि मामले की जांच में ‘लीपापोती’ नहीं होगी। भारतीय क्रिकेट के हित को ध्यान में रखना होगा। उन्होंने कहा, हमने उन्हें निलंबित किया है। हमें उन में सुधार करने की जरूरत है। फैसले में देरी कर के हम उनका करियर खतरे में नहीं डाल सकते। इसमें सुधारात्मक रवैये के साथ त्वरित कार्रवाई की जरूरत है। राय ने बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी को मामले की शुरुआती जांच का निर्देश दिया है। इडुल्जी ने जौहरी से मामले की शुरुआती जांच करने पर आशंका जताई। उनके मुताबिक जौहरी खुद यौन उत्पीड़न के मामले में फंसे थे और इससे जांच में लीपापोती की जा सकती है।

राय ने कहा कि सत्रह जनवरी को होने वाली सुनवाई के लिए हमने सर्वोच्च न्यायालय से लोकपाल की नियुक्ति की मांग की है। अगर न्यायालय लोकपाल की नियुक्ति नहीं करता है तो भी कानूनी सलाह के तहत हमें तदर्थ लोकपाल के साथ जांच को आगे बढ़ाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘ सीईओ की जांच रिपोर्ट पर नियुक्त लोकपाल खिलाड़ियों के मामले में अंतिम फैसला ले सकेंगे। इससे जुड़े एक अन्य मामले में कार्यवाहक बोर्ड अध्यक्ष सीके खन्ना को 10 राज्यों की इकाइयों ने जल्द से जल्द विशेष आम बैठक बुलाने की मांग की है।

World Cup 2019
  • world cup 2019 stats, cricket world cup 2019 stats, world cup 2019 statistics
  • world cup 2019 teams, cricket world cup 2019 teams, world cup 2019 teams list
  • world cup 2019 points table, cricket world cup 2019 points table, world cup 2019 standings
  • world cup 2019 schedule, cricket world cup 2019 schedule, world cup 2019 time table

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X