ताज़ा खबर
 

‘मैंने फ्लाइट में जड्डू से माफी मांगी थी,’ चैंपियंस ट्रॉफी में रन आउट विवाद पर हार्दिक पंड्या ने खोला राज

हार्दिक पंड्या ने बताया कि वह क्रिकेट सीजन शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम का यह स्टाइलिश ऑलराउंडर बैक इंजरी से ठीक होने के बाद फिर से एक्शन के लिए तैयार है।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 3, 2020 6:19 PM
Hardik Pandya back injury 850हार्दिक पंड्या को पहली बार 2018 में एशिया कप के मैच के दौरान बैक इंजरी की समस्या हुई थी।

2017 में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 124 रन की जीत के साथ चैंपियंस ट्रॉफी में अपने अभियान की शुरुआत की थी। हालांकि, फाइनल में उसे पाकिस्तान के कारण ही चैंपियंस ट्रॉफी से हाथ धोना पड़ा था। उस मैच में 43 गेंद पर 76 रन बनाने वाले हार्दिक पंड्या दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रनआउट हो गए थे। उन्हें रविंद्र जडेजा की गलत कॉल के कारण अपना विकेट गंवाना पड़ा था।

उसके बाद सोशल मीडिया पर जडेजा का जमकर मजाक उड़ा था। लोग मेमे और कमेंट्स कर जडेजा को ट्रोल कर रहे थे। उस घटना के बाद हार्दिक पंड्या ने जडेजा से माफी मांगी थी। चौंकिए नहीं, यह सच है। क्रिकबज के साथ बातचीत के दौरान हार्दिक पंड्या ने क्रिकेट एक्सपर्ट हर्षा भोगले को बताया, ‘यह बात किसी को मालूम नहीं होगी। मैंने जड्डू से फ्लाइट में माफी मांगी थी। मुझे लगा था कि मेरे कारण मेरी टीम के किसी साथी के साथ ऐसा हो रहा है। मुझे अच्छा नहीं लग रहा था। मैंने जडेजा को सॉरी बोला। उसने भी कहा कि कोई बात नहीं। सब चलता है।’

बातचीत के दौरान पंड्या ने बताया कि वह क्रिकेट सीजन शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम का यह स्टाइलिश ऑलराउंडर बैक इंजरी से ठीक होने के बाद फिर से एक्शन के लिए तैयार है। पंड्या ने सितंबर 2018 से अब तक भले ही सिर्फ एक टेस्ट मैच खेला हो, लेकिन सीमित ओवरों के फॉर्मेट में बतौर ऑलराउंडर अपनी जगह पक्की करने में सफल रहे हैं।

पंड्या को पहली बार 2018 में एशिया कप के मैच के दौरान बैक इंजरी की समस्या हुई थी। तब पाकिस्तान के खिलाफ मैच में उन्हें स्ट्रेचर पर मैदान से बाहर ले जाना पड़ा था। हर्षा भोगले से बात करते हुए हार्दिक ने उस दिन को याद किया।

हार्दिक ने बताया कि उन्हें लगा था कि उनका करियर खत्म हो गया। हार्दिक ने कहा, ‘मुझे वास्तव में लगा था कि मेरा करियर खत्म हो गया है क्योंकि मैंने कभी किसी को भी इस तरह मैदान से बाहर ले जाते हुए नहीं देखा था। मैं 10 मिनट तक संघर्ष किया, उसके बाद दर्द कम नहीं हुआ।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘परिवार को गालियां मिलीं, पिता का मजाक उड़ा, लेकिन मैं समझदार बन गया,’ कॉफी विद करण विवाद पर छलका हार्दिक पंड्या का दर्द
2 CarryMinati 2 करोड़ से ज्यादा सब्सक्राइबर वाले दूसरे भारतीय यूट्यूबर, 1 दिन में मोस्ट कमेंट्स पाने का भी बना चुके हैं रिकॉर्ड
3 वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट में बेन स्टोक्स संभाल सकते हैं इंग्लैंड की कमान, मौजूदा कप्तान जो रूट ने दिए संकेत
ये पढ़ा क्या?
X