ताज़ा खबर
 

मेरी भूमिका वही, जो पांच साल पहले थी: हरभजन

बांग्लादेश के खिलाफ आगामी शृंखला में अपनी वापसी को सही साबित करने के लिए बेताब भारत दिग्गज आफ स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा कि भारतीय टीम में उनकी भूमिका वही होगी जो आज से पांच-सात साल पहले थी...

Author June 8, 2015 11:20 AM
भारत की ओर से टैस्ट में सर्वाधिक विकेट लेने वालों में तीसरे स्थान पर काबिज हरभजन सिंह ने फिर इस बात पर बल दिया कि उनको हमेशा इस बात का विश्वास था कि वह टीम में वापसी करेंगे।(फ़ोटो-पीटीआई)

बांग्लादेश के खिलाफ आगामी शृंखला में अपनी वापसी को सही साबित करने के लिए बेताब भारत दिग्गज आफ स्पिनर हरभजन सिंह ने कहा कि भारतीय टीम में उनकी भूमिका वही होगी जो आज से पांच-सात साल पहले थी, जब वह गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ थे।

टीम की ढाका रवानगी की पूर्वसंध्या पर हरभजन ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘मेरी भूमिका आज भी वही है जो आज से पांच-सात साल पहले थी। सभी गेंदबाजों को एक-दूसरे को सहयोग करने की जरूरत होती है। जब बात लक्ष्य को लेकर होती है तो यह वैसे ही था जब मैं अनिल कुंबले या अमित मिश्रा के साथ खेल रहा था। इसका मतलब जीत के लिए एक-दूसरे की मदद से है। दो साल बाद वापसी करने पर जब उनसे नए और हरभजन में अंतर पूछा गया तो तुरंत जवाब देते हुए कहा कि आपको कोई अंतर दिख रहा है क्या? कोई अंतर नहीं है।’

भारत की ओर से टैस्ट में सर्वाधिक विकेट लेने वालों में तीसरे स्थान पर काबिज भज्जी ने फिर इस बात पर बल दिया कि उनको हमेशा इस बात का विश्वास था कि वह टीम में वापसी करेंगे। उन्होंने कहा, ‘मैं पिछले दो सालों से टीम से बाहर था लेकिन यह बात हमेशा मेरे दिमाग में थी कि मैं वापसी करूं गा। मुझे जब भी जिस स्तर पर मौका मिला है मैंने अच्छा प्रदर्शन किया है। वापसी की बात हमेशा मेरे दिमाग में थी इसी के लिए मैं क्रिकेट खेल रहा था।’

हरभजन ने कहा, ‘मैंने आइपीएल खेला। मैं वरिष्ठ खिलाडियों से मिलता रहा जिन्होंने हमेशा इस पर जोर दिया कि मेरे अंदर अभी बहुत क्रिकेट बाकी है। मुझे खुशी है कि मेरे पास ऐसे सीनियर हैं जो हमेशा हमारे सहयोग के लिए मौजूद थे। टीम में वापसी करना शानदार है और आशा है कि मैं टीम की जीत में योगदान कर सकूंगा। आर अश्विन के साथ उनकी जोड़ी के बारे में भज्जी ने कहा कि हमारा मुख्य काम टीम को जीत दिलाना है और उसके साथ खेलना और गेंदबाजी करना हमेशा अच्छा रहेगा। हम दोनों भारतीय टीम की जीत के लिए खेलेंगे। इसलिए हम लोग एक टीम के रूप में जा रहे हैं और जीत सुनिश्चित करने के लिए हमें एक-दूसरे को सहयोग करने की जरूरत होगी।’

हरभजन ने कहा, जज्बा लेकर आता है विराट

मोहम्मद अजरुद्दीन के नेतृत्व में पदार्पण करने के बाद सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेलने वाले हरभजन सिंह का मानना है कि युवा विराट कोहली अपने नेतृत्व कौशल में काफी जज्बा लेकर आएंगे। भारतीय टैस्ट कप्तान के संदर्भ में हरभजन ने कहा, ‘विराट मैच विजेता है। वह काफी प्रतिस्पर्धी है। विरोधी कोई भी हो, वह जीतना चाहता है जो काफी अच्छा गुण है। कप्तान के रूप में उसका होना अच्छी चीज है। मैच जीतने का इरादा मौजूद है और विराट कोहली यही टीम में लेकर आता है।’ टीम के बाहर से कोहली की नेतृत्व क्षमता देखने वाले इस अनुभवी आफ स्पिनर ने कहा कि उनकी अपनी टीम के साथ खड़े होने की क्षमता काबिलेतारीफ है।

उन्होंने कहा, ‘वह (कोहली) ऐसे खिलाड़ी हैं जो हमेशा टीम के लिए खड़े रहते हैं। उसे चुनौती लेना पसंद है और जीतना चाहता है। मैदान पर इतनी उर्जा वाले कप्तान के होने से बेशक उसकी उर्जा मैदान पर अन्य लोगों में भी आती है। यह सकारात्मक संकेत है। इस अनुभवी आफ स्पिनर ने आस्ट्रेलिया में दो टैस्ट मैचों में कोहली की कप्तानी की तारीफ की। भारतीय टीम आस्ट्रेलिया में जिस तरह खेली वह शानदार था। हालांकि हम टैस्ट मैच नहीं जीते। वह जब भी बल्लेबाजी या क्षेत्ररक्षण करता है तो वह यह मैच जीतने के लिए करता है। वह जीतने (शृंखला) के लिए एक या दो मैच हारने से गुरेज नहीं करता।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App