ताज़ा खबर
 

हरभजन सिंह बोले- विराट भले ही सचिन का रिकॉर्ड तोड़ दें लेकिन…

हरभजन सिंह ने कहा कि विराट ने जो भी हासिल किया है, मैं हमेशा से उसका सम्मान करता हूं। टीम में आने के बाद उन्होंने अपनी फिटनेस पर काफी काम किया है। वह कुछ खास कर रहे हैं।

हरभजन सिंह। (image source-PTI)

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सभी को पीछे छोड़ते हुए सबसे तेज 10 हजार रन बनाने का रिकॉर्ड बना दिया है। विराट ने यह कारनामा सिर्फ 205 पारियों में किया है। पूरा क्रिकेट जगत विराट कोहली को इस उपलब्धि के लिए बधाई दे रहा है। भारतीय दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह ने भी विराट कोहली को रिकॉर्ड बनाने के लिए बधाई दी है और उनकी दिल खोलकर तारीफ की है। एक समाचार चैनल के साथ बातचीत में हरभजन सिंह ने कहा कि कोहली को मेरा सलाम। कोहली मैदान पर एक उम्मीद के साथ उतरते हैं। वह शानदार बल्लेबाज हैं। वह रन मशीन हैं। विराट कोहली होना आसान नहीं है। वह अपने दम पर मैच जिता सकते हैं। हरभजन सिंह ने कहा कि मैं ये कह सकता हूं कि बीते कुछ सालों में मैंने जितने भी बल्लेबाज देखें हैं , उसमें कोहली नंबर एक हैं। हालांकि हरभजन सिंह ने ये भी कहा कि मैं कई महान बल्लेबाजों के साथ खेला हूं, अगर कोहली उनका रिकॉर्ड तोड़ भी दें तो भी पाजी (सचिन तेंदुलकर) के लिए सम्मान वही रहेगा। सचिन पाजी सबसे ऊपर बने रहेंगे। हरभजन सिंह ने सचिन तेंदुलकर के साथ काफी क्रिकेट खेला है और साथ खेलने के दौरान भी सचिन हरभजन के पसंदीदा खिलाड़ी रहे हैं। यही वजह है कि हरभजन, कोहली की दिल खोलकर तारीफ कर रहे हैं, लेकिन उनके लिए आज भी सचिन का दर्जा सबसे ऊपर है।

हरभजन सिंह ने कहा कि विराट ने जो भी हासिल किया है, मैं हमेशा से उसका सम्मान करता हूं। टीम में आने के बाद उन्होंने अपनी फिटनेस पर काफी काम किया है। वह कुछ खास कर रहे हैं और युवाओं के लिए सही प्रेरणास्त्रोत हैं। हरभजन सिंह ने विराट कोहली के समर्पण की भी खूब तारीफ की। बता दें कि विराट कोहली से पहले सबसे तेज 10000 रन बनाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम पर ही दर्ज था। सचिन ने 259 पारियों में यह आंकड़ा छुआ था। वहीं पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए 263 पारियां लीं थी। पूर्व भारतीय कप्तान और मौजूदा टीम में कोहली के साथी एमएस धोनी ने 10,000 रनों का आंकड़ा 273 पारियों में छुआ था।

हरभजन सिंह ने प्रैक्टिस के दौरान भी कोहली के समर्पण और गंभीरत की दाद दी। हरभजन ने कहा कि कोहली जिस गंभीरता से प्रैक्टिस करते हैं, उन्होंने ऐसा करते हुए बहुत कम खिलाड़ियों को देखा है। उल्लेखनीय है कि वेस्टइंडीज के खिलाफ जारी वनडे सीरीज में अभी तक 2 मैच हुए हैं और दोनों ही मैचों में कोहली ने शानदार शतक जड़े हैं। पहले मैच में जहां कोहली ने 140 रन बनाए, वहीं दूसरे मैच में वह 157 रन बनाकर नाबाद रहे। वनडे में कोहली के शतकों की संख्या 37 हो चुकी है और वह बहुत तेजी से सचिन तेंदुलकर के सर्वाधिक शतकों के रिकॉर्ड की तरफ बढ़ रहे हैं। हालांकि पहले वनडे में कोहली का शतक टीम को जीत नहीं दिला सका और वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मैच टाई करा लिया। वेस्टइंडीज की तरफ से शाई होप और शिमरन हेटमायर ने बेहतरीन बल्लेबाजी की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App