ताज़ा खबर
 

Happy B’Day: जब खून की उल्टियां करते और कैंसर से लड़ते हुए Yuvraj Singh ने भारत को बनाया था 28 साल बाद वर्ल्ड चैंपियन

साल 2011 में टीम इंडिया को वनडे वर्ल्‍डकप दिलाने में युवराज ने गेंद और बल्‍ले दोनों से जोरदार प्रदर्शन किया था और 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' बने थे। उस विश्वकप में युवराज कैंसर जैसी बीमारी से घिरने के बाद खून की उल्टियां कर रहे थे।

2011 विश्व कप में महेंद्र सिंह धोनी के छक्के के साथ भारत को फाइनल में जीत दिलाने के बाद युवराज ने कुछ यूं जाहिर की थी अपनी खुशी। (File Photo)

12 दिसंबर को भारतीय क्रिकेट के चर्चित खिलाड़ी और सिक्सर किंग के उपनाम से मशहूर युवराज सिंह का 38वां जन्मदिन है। युवराज सिंह कपिल देव के बाद चंडीगढ़ शहर से ताल्लुक रखने वाले टीम इंडिया के दूसरे सबसे बड़े खिलाड़ी हैं। युवराज सिंह T20 और वनडे क्रिकेट के सर्वश्रेष्‍ठ भारतीय बल्‍लेबाजों में शुमार किए जाते है। टी-20 वर्ल्‍डकप 2007 में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में छह छक्‍के जमाने के बाद युवराज को ‘सिक्सर किंग’ की उपाधि मिली। साल 2011 में टीम इंडिया को वनडे वर्ल्‍ड कप दिलाने में युवराज ने गेंद और बल्‍ले दोनों से जोरदार प्रदर्शन किया था और ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ बने थे। इससे भी अहम बात यह थी कि उस विश्व कप में युवराज ने यह प्रदर्शन कैंसर जैसी बीमारी से घिरने के बाद खून की उल्टियां करते हुए किया था।

वर्ल्‍ड कप के तुरंत बाद जब यह खुलासा हुआ कि युवराज के बाएं फेफड़े में गोल्‍फ बॉल के बराबर ट्यूमर है, तो पूरा देश चिंता में डूब गया था। हर जगह इस दिलदार क्रिकेटर की सलामती के लिए दुआएं की जा रही थीं। युवराज को अमेरिका में अपने इलाज के दौरान कीमोथैरेपी के दर्द भरे दौर से गुजरना पड़ा। किसी को उम्मीद नहीं थी कि युवराज फिर से मैदान पर वापसी कर पाने में सफल रहेंगे, इसे युवराज का जीवट ही कहा जाएगा कि न सिर्फ उन्‍होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी की बल्कि कामयाबी भी हासिल की।

साल 2007 के टी20 वर्ल्डकप में एक ओवर में छह छक्‍के लगाकर रिकॉर्ड बुक में अपने साथ इंग्‍लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड का नाम दर्ज कराने वाले युवराज भी एक गेंदबाज के तौर पर एक ओवर में छह छक्‍के खाते-खाते बचे थे। मौका था इंग्‍लैंड के खिलाफ 5 सितंबर 2007 को ओवल में खेले गए वनडे मैच का, जब इंग्‍लैंड के दिमित्री मस्‍करेन्‍हास ने युवी के एक ओवर की पांच गेंदों पर लगाता पांच छक्‍के लगाए थे। यह इंग्‍लैंड की पारी का 50वां ओवर ही था और 49वें ओवर की समाप्ति पर इंग्‍लैंड का स्‍कोर 286/6 से ‘छलांग’ लगाते हुए 316 रन पर पहुंच गया था। हालांकि, इंग्‍लैंड के इस विशाल स्‍कोर के बावजूद मैच टीम इंडिया ने दो विकेट से जीता था।

कैंसर के इलाज के दौरान कीमोथैरेपी के बाद युवराज सिंह ने ये तस्वीर ट्विटर पर शेयर की थी।(Photo: Twitter) कैंसर के इलाज के दौरान कीमोथैरेपी के बाद युवराज सिंह ने ये तस्वीर ट्विटर पर शेयर की थी।(Photo: Twitter)

पांच छक्‍के के इस ‘अपमान का बदला’ युवराज ने करीब दो सप्‍ताह बाद ही टी20 वर्ल्‍डकप 2007 में इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड की गेंद पर एक ओवर में 6 छक्के लगाकर चुकाया। युवी ने इस मैच में न केवल ब्रॉड के एक ओवर में छह छक्‍के जमाए थे बल्कि महज 16 गेंद पर तीन चौकों व सात छक्‍कों की मदद से 58 रन बना डाले थे। उस दिन युवराज ऐसी बल्‍लेबाजी कर रहे थे कि इंग्‍लैंड के गेंदबाज और क्षेत्ररक्षक उनके आगे डरे-सहमे नजर आ रहे थे। स्टुअर्ट ब्रॉड जब अपना ओवर करने आए उससे पहले युवराज की इंग्‍लैंड के हरफनमौला एंड्रयू फ्लिंटाफ से किसी बात पर बहस हुई थी। इस मैच के बाद युवराज ने कहा था, ‘जब मेरे ओवर में पांच छक्के लगे थे तो इसके बाद मुझे जितनी संख्या में फोन आए, शायद शतक बनाने के बाद भी उतने नहीं आते। तब मैंने ईश्वर से कहा था कि यह ठीक नहीं है, आपको मुझे मौका देना होगा और आज मुझे यह मौका मिल गया।’

 श्रीलंका के खिलाफ 2011 विश्वकप फाइनल में धोनी के विजयी छक्का लगाने के बाद युवराज सिंह भावुक होकर उनको गले लगाते हुए।(Photo: BCCI) श्रीलंका के खिलाफ 2011 विश्वकप फाइनल में धोनी के विजयी छक्का लगाने के बाद युवराज सिंह भावुक होकर उनको गले लगाते हुए।(Photo: BCCI)

युवराज ने वैसे तो क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट टेस्‍ट, वनडे और टी-20 में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्‍व किया है, लेकिन उन्‍हें क्रिकेट के शॉर्ट फॉर्मेट में सफलताएं ज्‍यादा मिली। उन्होंने इसी साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। हालांकि, टी20 लीग में खेल रहे हैं। उन्होंने बॉलीवुड अभिनेत्री और मॉडल हेजल कीच के साथ शादी की है।

वीडियो: जब युवराज ने स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में उड़ाए थे 6 छक्के

Next Stories
ये पढ़ा क्या?
X