X

आज के क्रिकेटर्स में सबसे ज्‍यादा है हनुमा विहारी का औसत, अब मिला टीम में मौका

भारतीय टॉप ऑर्डर और मिडल ऑर्डर ने दोनों ही मैचों में निराश किया। बल्लबाजों के लगातार फ्लॉप प्रदर्शन के बाद टीम में नए खिलाड़ियों को मौका देने की मांग की जा रही थी। ऐसे में फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने वाले हनुमा विहारी सिलेक्टर्स का ध्यान अपनी ओर खींचने में कामयाब रहे।

इंग्लैंड के खिलाफ बाकी बचे दो टेस्ट मैचों के लिए पृथ्वी शॉ और हनुमा विहारी को भारतीय टीम में चुना गया है। बीसीसीआई ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में पहले दो टेस्ट मैचों में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन औसत दर्जे से भी नीचे का रहा है। भारतीय कप्तान विराट कोहली टीम के एक मात्र ऐसे बल्लेबाज रहे जिनके बल्ले से पहले मैच के दौरान दोनों ही पारियों में रन निकले थे। पहली पारी में कोहली 149 रन बनाने में सफल रहे तो वहीं दूसरी पारी में उन्होंने टीम के लिए बहुमूल्य 51 रन बनाए थे। हालांकि, दूसरे मैच मे विराट कोहली भी कुछ खास कमाल नहीं दिखा सकें। भारतीय टॉप ऑर्डर और मिडल ऑर्डर ने दोनों ही मैचों में निराश किया। बल्लबाजों के लगातार फ्लॉप प्रदर्शन के बाद टीम में नए खिलाड़ियों को मौका देने की मांग की जा रही थी। ऐसे में फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने वाले हनुमा विहारी सिलेक्टर्स का ध्यान अपनी ओर खींचने में कामयाब रहे। विहारी का बल्लेबाजी औसत मौजूदा समय में वर्ल्ड के सभी बल्लेबाजों से अधिक है। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में विहारी लगातार 59.45 के औसत से रन बना रहे हैं। विहारी के बाद ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ का औसत 57.27 सबसे अधिक रहा है।

भारतीय टीम और विराट कोहली।

भारतीय बल्लेबाजों में चेतेश्वर पुजारा, रोहित शर्मा और विराट कोहली का औसत 54 का रहा है। विहारी ने 62 फर्स्ट क्लास मैचों में 59.45 औसत के साथ 5000 से अधिक रन बनाए हैं। दक्षिण अफ्रीका-ए के खिलाफ अनाधिकारिक टेस्ट मैच में 148 रन बनाकर विहारी ने अपने फर्स्ट क्लास पांच हजार रन पूरे किए। विहारी लगातार टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन करते रहे हैं। इसके अलावा विहारी साल 2013 से 15 के बीच आईपीएल में हैदराबाद टीम का हिस्सा भी रह चुके हैं।

साल 2016 में अपनी घरेलू टीम हेदराबाद को छोड़ विहारी आंध्र प्रदेश के कप्तान बनाए गए। आंध्र प्रदेश के कप्तान बनने के बाद विहारी ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि इस पद को मिलने से टीम के लिए उनकी जिम्मेदारी पहले से अधिक बढ़ गई। इस मुकाम पर आकर सही फैसलों का चयन करना बेहद जरूरी होता है।”

  • Tags: Cheteshwar Pujara, Rohit Sharma,
  • Outbrain
    Show comments