ताज़ा खबर
 

लिंक्डइन की पिच पर उतरे 100 शतक ठोंकने वाले सचिन तेंदुलकर, कहा-बेखौफ होकर नाकामयाबियों से मुकाबला करें

सचिन ने नई पीढ़ी को काफी सहारा दिया है और साथ ही वह युवाओं को भी काफी बढ़ावा दे रहे हैं।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर।(Photo: Twitter)

क्रिकेट के भगवान माने जाने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर अब लिंक्डइन की पिच पर नई शुरुआत की है। जी हैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक लगाने वाले इस बल्लेबाज ने हाल ही में विश्व की सर्वश्रेष्ठ व्यावसायिक नेटवर्किंग साइट लिंक्डइन जॉइन कर ली है। सचिन ने नई पीढ़ी को काफी सहारा दिया है और साथ ही वह युवाओं को भी काफी बढ़ावा दे रहे हैं। लिंक्डइन इंफ्लूअंसर बनने के बाद सचिन अब उस समूह का हिस्सा बन गए हैं, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ग्लोबल स्टार प्रियंका चोपड़ा, राजनेता शशि थरूर और बिल गेट्स, रिचर्ड ब्रैनसन, एरिना हफिंगटन, जैक वेल्च जैसे दिग्गज बिजनेसमैन शामिल हैं।

पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, एक टीम का हिस्सा होकर कुछ नया सीखना वाकई में शानदार अनुभव होता है, मैंने वर्तमान में बहुत सारी परिस्थितियों को देखा है, जो क्रिकेट मैदान से बिलकुल अलग है। मैं अपने इन अनुभवों को व्यावसायिक साइट लिंक्डइन के ज़रिए उन सभी लोगों के साथ साझा करना चाहता हूं, जो अपनी जिंदगी के भविष्य में कुछ करना चाहते हैं या जो इसके लिए मेहनत कर रहे हैं।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹3750 Cashback
  • Sony Xperia L2 32 GB (Gold)
    ₹ 14845 MRP ₹ 20990 -29%
    ₹1485 Cashback

इसके बाद लिंक्डइन इंडिया के कंट्री मैनेजर अक्षय कोठारी ने कहा, हमें खुशी है कि सचिन तेंदुलकर अब एक लिंक्डइन इन्फ्यूअंसर हैं। स्पोर्ट्स और बिजनेस एेड्स में उनकी कामयाबी भारतीय इन्फलूअंसरों की बढ़ती संख्या को दर्शाती है, जिससे हमारे 467 मिलियन वैश्विक सदस्यों को अपने करियर में ऊंचाई तक पहुंचने की प्रेरणा मिलेगी।

लिंक्डइन को दिए इंटरव्यू में सचिन ने कहा कि बेखौफ होना सबसे ज्यादा जरूरी है और नाकामयाबियों की चिंता न कीजिए। कई बार नाकामयाबियां आपको कुछ नया करने से रोकती हैं और इसका पता आपको तब चलता है , जब आप कुछ नया करते हैं। इसलिए अपने सपनों को सच कीजिए। कामयाबी पाने की तैयारियों पर सचिन कहते हैं कि जल्दी तैयारियां शुरू कीजिए। जो भी आप कर रहे हैं, उसके लिए दिमागी तौर पर तैयार रहिए। खेल में वापस आने के बारे में उन्होंने कहा, मुझे याद है जब मेरी टेनिस एल्बो की सर्जरी हुई थी। साढ़े तीन महीने के बाद मैं प्रैक्टिस पर गया था और मुझे कहा गया कि पूरी तरह से ठीक होने में साढ़े चार महीने का वक्त और लगेगा। मुझे लगा कि मेरा करियर खत्म हो गया। उस वक्त आपको आपके आसपास कई मजबूत लोगों की टीम दिखाई देती है, जिसमें डॉक्टर्स, टेनर्स, आपके फैमिली मेंबर्स और करीबी दोस्त शामिल होते हैं।

विराट कोहली के बारे में 10 ऐसी दिलचस्प बातें जो आप नहीं जानते होंगे, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App