ताज़ा खबर
 

टीम में चयन को लेकर बिशन सिंह बेदी और चेतन चौहान पर भड़के गौतम गंभीर

14 जून को भारत-अफगानिस्तान के इकलौता टेस्ट मैच बेंगलुरू में खेला जाएगा। मोहम्मद शमी के फिटनेस टेस्ट में फेल होने के बाद सैनी को इस मुकाबले के लिए उनकी जगह टीम में मौका दिया गया। रणजी ट्रॉफी में सैनी टॉक ऑफ द टाउन थे।

गौतम गंभीर। (फाइल फोटो)

भारतीय टीम में नवदीप सैनी के चयन को लेकर क्रिकेटर गौतम गंभीर, पूर्व क्रिकेटर बिशन सिंह बेदी और चेतन चौहान पर भड़के हैं। मंगलवार (12 जून) को उन्होंने ट्वीट कर कहा, “‘आउटसाइडर’ सैनी के टीम में चयन पर मेरी संवेदना दिल्ली एंड डिसट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन के कुछ सदस्यों- बिशन सिंह बेदी और चेतन चौहान के साथ है। बेंगलुरू में काली विरोध जताने वाली पट्टियां सिर्फ 225 रुपए में मिल जाएंगी। सर, कृपया ध्यान रखें कि सैनी पहले एक भारतीय है, बाद में उसका ताल्लुक किसी राज्य से है।”

14 जून को भारत-अफगानिस्तान के इकलौता टेस्ट मैच बेंगलुरू में खेला जाएगा। मोहम्मद शमी के फिटनेस टेस्ट में फेल होने के बाद सैनी को इस मुकाबले के लिए उनकी जगह टीम में मौका दिया गया। रणजी ट्रॉफी में सैनी टॉक ऑफ द टाउन थे। कारण- आठ मुकाबलों में उन्होंने कुल 34 विकेट अपनी झोली में गिराए थे। टीम इंडिया में चयन के बाद गौती ने डीडीसीए के दोनों सदस्यों पर सोशल मीडिया के जरिए खुलकर निशाना साधा।

गंभीर हालिया टिप्पणी से पहले भी सैनी का समर्थन कर चुके हैं। एक बार दिल्ली की चीम में उन्हें जगह दिलाने के लिए गौती को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। रणजी टीम के चयन के लिए दिल्ली के चयनकर्ता सामने थे, उस समय गंभीर ने सैनी का नाम पेश किया था।

चयनकर्ताओं का कहना था कि दिल्ली के बाहर के लड़के को राज्य की टीम में क्यों रखा जाए? तब बिशन सिंह बेदी ने सैनी के नाम पर इन्कार कर दिया था। हालांकि, गौती अपनी बात पर टिके थे। बाद में उन्होंने सैनी को टीम में जगह दिला कर ही मानी। चेतन चौहान तब डीडीसीए उपाध्यक्ष थे।

सैनी टीम में जगह मिलने के पीछे गौती को असल श्रेय दे चुके हैं। पीटीआई से उन्होंने कहा था, “गौतम भैया ने कहा था- जैसे टेनिस बॉल डालता है, वैसे ही डाल। कोई टेंशन नहीं। बाकी सब ठीक हो जाएगा। मैंने वही किया, जो उन्होंने बोला। आज मैं जो भी हूं, उन्हीं के कारण हूं। पता नहीं क्यों मैं जब भी उनकी बात करता हूं, तो जज्बाती हो जाता हूं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App