ताज़ा खबर
 

IPL 2018: गौतम गंभीर का बड़ा खुलासा- मैंने कभी खुद को प्लेइंग इलेवन से बाहर नहीं किया था

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) सीजन 11 में टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी दिल्ली डेयरडेविल्स टीम के पूर्व कप्ताम गौतम गंभीर ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। गौतम गंभीर ने कहा है कि वह खुद प्लेइंग इलेवन से बाहर नहीं बैठे थे, बल्कि यह टीम मैनेजमेंट का फैसला था।

Gautam Gambhir, Gautam Gambhir IPL, Gautam Gambhir DD, Delhi Daredevils Captainगौतम गंभीर। (File Photo: PTI)

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) सीजन 11 में टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी दिल्ली डेयरडेविल्स टीम के पूर्व कप्ताम गौतम गंभीर ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। गौतम गंभीर ने कहा है कि वह खुद प्लेइंग इलेवन से बाहर नहीं बैठे थे, बल्कि यह टीम मैनेजमेंट का फैसला था। दिल्ली की टीम ने गौतम गंभीर की कप्तानी में 6 मैच खेले थे, जिनमें एक मैच ही टीम जीत पाई थी, लगातार निराशा हाथ लगने के कारण गौतम गंभीर ने टीम की कप्तानी छोड़ दी थी, जिसके बाद श्रेयर अय्यर को डीडी का नया कप्तान बनाया गया था, लेकिन गौर करने वाली बात यह रही कि कप्तानी छोड़ने के बाद से गौतम गंभीर एक भी मैच में टीम की प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं रहे। अब जब टीम प्ले ऑफ में जगह नहीं बना पाई तब गंभीर ने समाचार चैनल एबीपी से अपने जज्बात साझा किए हैं। गौतम गंभीर ने कहा- ”मैंने कभी भी प्लेइंग इलेवन से खुद को बाहर नहीं रखा। टीम मैनेजमेंट का यह स्पष्टीकरण गलत है।” गंभीर ने आगे कहा- ”हो सकता है कि टीम मैनेजमेंट के गेम प्लान के अनुसार मैं प्लेइंग इलेवन का हिस्सा न रहा हूं। इससे मुझे परेशानी नहीं है। लेकिन यह कहा जाए कि मैंने खुद को प्लेइंग इलेवन से बाहर रखा, सच यह है कि मैं हर मैच खेलने के लिए तैयार था।’

गंभीर के कप्तानी छोड़ने बाद प्लेइंग इलेवन में उनके नजर न आने पर जब पत्रकारों ने नवनियुक्त कप्तान श्रेयर अय्यर से सवाल किया था तो अय्यर ने कहा था- ”ईमानदारी से कहूं तो मैंने कोई फैसला नहीं लिया। उन्हें ड्रॉप करने का फैसला मेरा नहीं था। उन्होंने खुद बाहर बैठना तय किया था, जोकि पूर्व के मैचों में एक कप्तान होते हुए उनके लिए वाकई साहसिक निर्णय था। उनके लिए सम्मान ऊपर चला गया है। एक कप्तान अच्छा प्रदर्शन न कर पाने पर ऐसा फैसला लेता है, यह देखना वाकई प्रेरणाप्रद है। कॉलिन मुनरो आए और हमें वांछित शुरुआत दी।”

बता दें कि पूर्व में गौतम गंभीर की कप्तानी में कोलकाता नाइट राइडर्स टीम दो बार टूर्नामेंट की चैंपियन रही है। इस बार केकेआर ने उन्हें रिटेन करने में दिलचस्पी नहीं दिखाई। डेयरडेविल्स से जुड़कर गंभीर ने 6 मैचों की पारियों में महज 85 रन बनाए। इस सीजन में उनका सबसे अच्छा स्कोर 55 रन रहा। वहीं प्रदर्शन के आधार पर टूर्नामेंट के बीच में ही कप्तानी छोड़ने के गौतम गंभीर के फैसले को कई दिग्गजों ने सराहा भी था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महिला आईपीएल में खिलाड़ियों का अपमान! पैड और हेल्मेट को रंगीन कपड़ों से ढक खिलाया मैच
2 VIDEO: हरमनप्रीत कौर ने पकड़ा ऐसा कैच कि देखते रह गए सब, स्मृति मंधाना को भेजा पेवेलियन
3 VIDEO: हार गए जिंदर महल तो WWE रेसलर को पीछे से दे मारी कुर्सी
IPL 2020
X