ताज़ा खबर
 

बीवी, बेटियों के सामने गौतम गंभीर ने यादगार बनाया आखिरी मैच, जड़ा शतक

गंभीर ने 4 दिसंबर को ही भारी मन से क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा की थी। उनके करियर पर नजर डालें तो गंभीर ने 58 टेस्ट मैचों में 41.96 की औसत से 4154 रन बनाए जिसमें 9 शतक शामिल हैं।

अपने विदाई मैच के दौरान गौतम गंभीर ((Source: Express Photo by Amit Mehra)

हर खिलाड़ी का सपना होता है कि जब वो अपने करियर का आगाज करे तो कुछ ऐसा हो कि उसके टीम में होने का असर लंबे समय तक दिखे लेकिन जब कोई खिलाड़ी अपने करियर का आखिरी मुकाबला खेलता है तो आंखों में सारे अनुभव समेटकर वो ऐसी पारी खेलना चाहता है जिसकी बदौलत वो साबित करता है कि उसने इस लंबे करियर में क्या सीखा है और साथ ही अपनी एक छाप भी छोड़ना चाहता है। ऐसी ही एक यादगार पारी अपने करियर के आखिरी मुकाबले में खेली है भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज और वर्ल्ड कप के हीरो गौतम गंभीर ने। अभी हाल ही में क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा करने वाले गौतम ने पहले ही साफ कर दिया था कि आंध्र प्रदेश के साथ खेला जाने वाला रणजी मुकाबला उनके करियर का आखिरी मैच होगा। ऐसे में इस मुकाबले में उन्होंने अपने परिवार और हजारों फैंस के सामने शानदार शतक जड़कर धमाल मचाया।
रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप बी मैच के तीसरे दिन उन्होंने अपने होम ग्राउंड फिरोजशाह कोटला पर आंध्र प्रदेश के खिलाफ 163 गेंदों में अपना शतक पूरा किया और 112 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 10 चौके जड़े। बता दें कि इस मैच के दूसरे दिन गंभीर 92 रन बनाकर वापस लौटे थे। भारत को विश्वविजेता बनाने में अहम भूमिका निभाने वाला यह खिलाड़ी जब आखिरी बार मैदान में उतरा तो प्रशंसकों के साथ-साथ सभी खिलाड़ियों ने खड़े होकर तालियों के साथ उनका स्वागत किया था। गंभीर की इस पारी के दम पर दिल्ली इस मुकाबले में मजबूत स्थिति में है।

उनकी इस पारी को देखने के लिए भारी संख्या में प्रशंसकों के साथ-साथ उनकी पत्नी और बेटियां भी पहुंची थी। गौरतलब है कि गंभीर ने 4 दिसंबर को ही भारी मन से क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा की थी। उनके करियर पर नजर डालें तो गंभीर ने 58 टेस्ट मैचों में 41.96 की औसत से 4154 रन बनाए जिसमें 9 शतक शामिल हैं। जबकि 147 एकदिवसीय मैचों में 39.68 की औसत और 11 शतकीय पारियों की मदद से 5238 रन बनाए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App