ताज़ा खबर
 
  • राजस्थान

    Cong+ 95
    BJP+ 80
    RLM+ 0
    OTH+ 24
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 113
    BJP+ 105
    BSP+ 5
    OTH+ 7
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 59
    BJP+ 22
    JCC+ 9
    OTH+ 0
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 87
    TDP-Cong+ 22
    BJP+ 2
    OTH+ 8
  • मिजोरम

    MNF+ 25
    Cong+ 10
    BJP+ 1
    OTH+ 4

* Total Tally Reflects Leads + Wins

गौतम गंभीर पर 4 मैचों के लिए लगा बैन, यह है वजह

भारत के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर पर शनिवार को घरेलू क्रिकेट में चार मैच का प्रतिबंध लगा दिया गया है।

गौतम गंभीर। (Photo source-PTI)

भारत के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर पर शनिवार को घरेलू क्रिकेट में चार मैच का प्रतिबंध लगा दिया गया है। उनके ऊपर लगे इस प्रतिबंध का कारण इसी साल विजय हजारे ट्रॉफी में दिल्ली टीम के कोच भास्कर पिल्लई के साथ हुए विवाद है। न्यायाधीश विक्रमजीत सेन द्वारा बनाए गई मदन लाल, राजेंद्र राठौर और सोनी सिंह की स्वतंत्र समिति ने गंभीर को गंभीर दुर्व्यवहार का दोषी पाया है। समिति ने हालांकि गंभीर पर लगे दो साल के प्रतिबंध को खत्म कर दिया है जो मार्च 2019 को खत्म होता।

विजय हजारे ट्रॉफी के दौरान गंभीर ने भास्कर पर युवा खिलाड़ियों के लिए सही माहौल न बनाने का आरोप लगया था। इसके बाद डीडीसीए ने इस मामले की जांच के लिए समिति का गठन किया था। सेन ने एक बयान में कहा है, “समिति ने जो उसके सामने तथ्य आए और हालात बने उसको मानते हुए गंभीर के पिल्लई के खिलाफ रवैये को पूर्व नियोजित तरीके से कोच का अपमान करने वाला पाया है।” उन्होंने कहा, “कोच का पद टीम के सदस्यों में बेहद सम्मानजनक होता है। यह कोच का टीम के सामने उसके एक सीनियर खिलाड़ी द्वारा किया अपमान था।” उन्होंने कहा, “गंभीर का बर्ताव सोचा समझा था और इसलिए यह नहीं कहा जा सकता कि वह टीम के हित में था।”

समिति ने और भी कुछ अहम फैसले लिए। समिति ने खिलाड़ियों की शिकयतों के सुधार के लिए एक सिस्टम बनाने की सिफारिश की है। साथ ही अनुशासनात्मक कार्रवाई के नियम बनाने की सिफारिश भी की गई है ताकि सब को इस बात कि जानकारी रहे कि नियमों का उल्लंघन करने पर उनके खिलाफ क्या कार्रवाई की जा सकती है। सेन ने कहा- “अनुशासनात्मक कार्रवाई के नियम और दंड तैयार करने की सिफारिश भी की गई है। अनुशासन बनाए रखने के लिए यह जरूरी है। जब खिलाड़ियों को पता होगा कि अनुशासनहीनता के करने पर उन्हें गंभीर नतीजों का सामना करना होगा तो ऐसा करने से वे बचेंगे और नियमों का पालन करेंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App