IPL 2018 Retained Players Full List: चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ वापस लौटे महेंद्र सिंह धोनी, गंभीर केकेआर से बाहर, जानें किसने किसे रखा

IPL 2018 Retained Players List, IPL 2018 Player Retention: दो साल बाद आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स ने वापसी की है। चेन्नई ने महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना और रवींद्र जडेजा को रिटेन किया है, जबकि राजस्थान रॉयल्स ने सिर्फ ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को रिटेन किया है।

महेंद्र सिंह धोनी की अगुआई में चेन्नई सुपर किंग्स दो बार आईपीएल चैंपियन रह चुकी है।

IPL 2018 Retained Players Full List: आईपीएल 2018 के लिए विभिन्न फ्रेंचाइजी ने रिटेन किए जाने वाले खिलाड़ियों के नामों का ऐलान कर दिया है। सबसे ज्यादा चौंकाने वाला फैसला कोलकाता नाइट राइडर्स का है। चैंपियन बनने के दौरान टीम के कप्तान रहे गौतम गंभीर को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। अब गौतम नीलामी के लिए उपलब्ध होंगे। हालांकि, इस बात की आशंका काफी पहले से जाहिर की जा रही थी। गंभीर ने खुद यह माना था कि कोलकाता टीम में खेलने के लिए उनसे किसी ने संपर्क नहीं किया है। उधर, दो साल बाद आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स ने वापसी की है। चेन्नई ने महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना और रवींद्र जडेजा को रिटेन किया है, जबकि राजस्थान रॉयल्स ने सिर्फ ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को रिटेन किया है।

किस टीम ने किन खिलाड़ियों को किया रिटेन

केकेआर: सुनील नारायण और आंद्रे रसेल।
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु: विराट कोहली, सरफराज और एबी डिविलियर्स।
हैदराबाद सनराइजर्स: डेविड वॉर्नर और भुवनेश्वर कुमार।
चेन्नई सुपर किंग्स: महेंद्र सिंह धोनी, रवींद्र जडेजा और सुरेश रैना।
दिल्ली डेयरडेविल्स: ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर और क्रिस मोरिस।
मुंबई इंडियंस: रोहित शर्मा, हार्दिक पंड्या और जसप्रीत बुमरा।
राजस्थान रॉयल्स: स्टीव स्मिथ।
किंग्स इलेवन पंजाब: अक्षर पटेल।

IPL 2018 Player Retention से जुड़ा हर अपडेट जानने के लिए क्लिक करें

IPL: करोड़ों कमाती है टीम, पर चीयर लीडर्स को देती है मामूली पैसा, जान‍िए चीयर लीडर्स की कमाई

बता दें कि आईपीएल संचालन परिषद की बैठक में लिये गए फैसले के तहत हर टीम प्लेयर रिटेंशन और राइट टू मैच के तहत पांच खिलाड़ियों को चुन सकती है। फ्रेंचाइजी को यह अधिकार है कि वह अधिकतम तीन रिटेंशन या तीन आरटीएम चुन सकती है। खिलाड़ियों की नीलामी से पहले यदि कोई रिटेंशन नहीं होता है तो टीम तीन आरटीएम ले सकती है।  वेतन पर लगी कैप भी बढा दी गई है। आगामी सत्र के लिये 80 करोड़, 2019 के लिये 82 और 2020 के लिये यह 85 करोड़ रूपये होगी। हर सत्र के लिये अधिकतम खर्च इसका 75 फीसदी हो सकता है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट