ताज़ा खबर
 

French Open: पावल्युचेनकोवा ने रचा इतिहास, 6 साल बाद रूसी प्लेयर ग्रैंड स्लैम के फाइनल में, मैच पॉइंट बचाने वाली गैरवरीय बारबोरा से होगी भिड़ंत

इस बार फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला सिंगल्स सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली चारों खिलाड़ी इससे पहले कभी किसी ग्रैंडस्लैम के अंतिम चार में नहीं पहुंच पाईं थीं।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 11, 2021 9:09 AM
एनास्तासिया पावल्युचेनकोवा ऑस्ट्रेलिया ओपन 2015 के बाद किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली रूस की पहली महिला खिलाड़ी हैं। चेक गणराज्य की बारबोरा क्रेजसिकवा (बाएं) पिछले 5 साल में फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचने वाली चौथी गैर वरीय खिलाड़ी हैं। (सोर्स- इंस्टाग्राम Anastasia Pavlyuchenkova/Barbora Krejcikova)

एनास्तासिया पावल्युचेनकोवा (Anastasia Pavlyuchenkova) ने गुरुवार को पहले सेमीफाइनल में गैरवरीय तमारा जिदानसेक को सीधे सेटों में हराकर पहली बार फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया। फ्रेंच ओपन ग्रैंड स्लैम टेनिस टूर्नामेंट के आयोजन स्थल रोलां गैरों स्टेडियम में हुए मैच में रूस की 31 वरीय पावल्युचेनकोवा जिदानसेक को 7-5, 6-3 से हराया।

वह ऑस्ट्रेलियन ओपन 2015 के बाद किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने वाली अपने रूस की पहली महिला खिलाड़ी हैं। फाइनल में उनका मुकाबला चेक गणराज्य की बारबोरा क्रेजसिकवा (Barbora Krejcikova) से होगा। दुनिया की 33वें नंबर की खिलाड़ी चेक गणराज्य की क्रेजसिकवा ने दूसरे सेमीफाइनल में एक मैच पॉइंट बचाते हुए ग्रीस की 17वीं वरीयता प्राप्त मारिया सक्कारी को 7-5, 4-6, 9-7 से हराया। 25 साल की क्रेजसिकोवा पिछले पांच साल में फ्रेंच ओपन के महिला सिंगल्स के फाइनल में पहुंचने वाली चौथी गैर वरीय खिलाड़ी हैं।

क्रेजसिकोवा ने 2018 में फ्रेंच ओपन वुमन्स डबल्स का खिताब जीता था। हालांकि, सिंगल्स में उनका पिछला सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2020 में रहा था। जब उन्होंने फ्रेंच ओपन में चौथे दौर तक का सफर तय किया था। यह पहली बार महिला प्रमुख चैंपियन का ताज जीतने वाला लगातार छठा फ्रेंच ओपन होगा। एनास्तासिया पावल्युचेनकोवा और बारबोरा क्रेजसिकवा के फाइनल में पहुंचने से फ्रेंच ओपन में लगातार छठी बार कोई महिला पहली बार सिंगल्स की ट्रॉफी अपने नाम करेगी।

इससे पहले पहले सेमीफाइनल में कोर्ट फिलिप चैटरियर पर दोनों खिलाड़ियों को अपनी सर्विस को लेकर जूझना पड़ा लेकिन पावल्युचेनकोवा ने महत्वपूर्ण अंकों पर धैर्य बरकरार रखते हुए जीत दर्ज की। इससे पहले कभी किसी ग्रैंडस्लैम के दूसरे दौर से भी आगे नहीं बढ़ने वाली जिदानसेक ने कुछ शानदार ड्रॉप शॉट और फोरहैंड विनर लगाए लेकिन साथ ही उन्होंने 33 सहज गल्तियां भी कीं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Women’s Tennis Association (@wta)

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Women’s Tennis Association (@wta)

पावल्युचेनकोवा ने कहा, ‘मुझे इसकी इतनी अधिक जरूरत थी कि मैं अभी कुछ महसूस ही नहीं कर रही हूं। टेनिस इतना अधिक मानसिक खेल है।’ बता दें इस बार सेमीफाइनल में जगह बनाने वाली चारों महिला खिलाड़ी इससे पहले कभी किसी ग्रैंडस्लैम के अंतिम चार में नहीं पहुंची थीं। बुधवार को क्रेजसिकोवा ने अमेरिका की उभरती महिला टेनिस खिलाड़ी कोको गॉफ को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया था। बारबोरा ने 17 साल की कोको गॉफ को 7-6 (8-6) 6-3 से मात दी थी।

Next Stories
1 PSL 2021: राशिद खान ने बरपाया कहर, 20 रन दे झटके 5 विकेट; सानिया मिर्जा के पति की तूफानी पारी बेकार; टॉप पर पहुंचे कलंदर्स
2 सिर्फ 12वीं पास हैं विराट कोहली और रोहित शर्मा, एमएस धोनी हैं ग्रेजुएट; जानिए फेमस भारतीय क्रिकेटर्स ने की है कितनी पढ़ाई
3 शिखर धवन की कप्तानी में श्रीलंका से वनडे और टी20 सीरीज खेलेगा भारत, देवदत्त पडिक्कल समेत 5 नए चेहरे भी हैं टीम का हिस्सा
ये पढ़ा क्या?
X