ताज़ा खबर
 

India vs England: तीसरे टेस्‍ट में करने चाहिए ये 4 बदलाव, तभी बचा पाएंगे सीरीज

तीसरे मैच में स्पिन गेंदबाज की जगह एक और तेज गेंदबाज को खिलाया जा सकता है। दूसरी तरफ टेस्ट सीरीज में वापसी के लिए भारत को प्लेइंग इलेवन में चार बदलाव देखने को मिल सकते हैं, जो इस प्रकार हैं।

इंग्लैंड के लॉर्ड्स में कोच रवि शास्त्री संग भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली। (फोटो सोर्स रॉयटर्स)

इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों के सामने भारतीय बल्लेबाजों ने एक बार फिर घुटने टेक दिए, जिससे मेजबान टीम ने बारिश से प्रभावित दूसरे क्रिकेट टेस्ट के चौथे ही दिन पारी और 159 रन की जीत के साथ पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है। विराट कोहली की कप्तानी में यह भारत की पारी के अंतर से पहली हार है। मैच में टीम की हार की वजह चोटी के बल्लेबाजों का खराब प्रदर्शन रहा। भारतीय बल्लेबाज इंग्लिश गेंदबाजों के सामने कहीं टिकते नजर नहीं आए। ऐसे में अगर टीम इंडिया को सीरीज बचानी है तो बल्लेबाजी क्रम में कोई दूसरा विकल्प तलाशना होगा। इसके अलावा टीम प्रबंधन को खिलाड़ियों के बीच आपसी समन्वय बनाने के लिए पुनर्मूल्यांकन की भी जरुरत होगी। वहीं जसप्रीम बुमराह की उपलब्धता भी बड़ा समस्या होगी जब टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन का फैसला होगा। तीसरे मैच में स्पिन गेंदबाज की जगह एक और तेज गेंदबाज को खिलाया जा सकता है। दूसरी तरफ टेस्ट सीरीज में वापसी के लिए भारत को प्लेइंग इलेवन में चार बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

1- सभी को उम्मीद थी कि टीम के ओपनर बल्लेबाज मुरली विजय बल्लेबाजी में बड़ी भूमिका निभाएंगे, मगर उन्होंने सभी को निराश किया। पहले टेस्ट मैच की पहली और दूसरी पारी में वह महज 20 और 6 रन बना पाए। दूसरे टेस्ट में मैच में खराब प्रदर्शन का तो उन्होंने रिकॉर्ड बना दिया। इसमें मुरली विजय ने दोनों पारियों में एक भी रन नहीं बनाया। खराब प्रदर्शन की वजह से उनकी बल्लेबाजी का औसत भी 40 से नीचे चला गया है। माना जा रहा है कि अगले मैच में मुरली विजय की जगह एक बार फिर शिखर धवन को मौका मिल सकता है। हालांकि विदेशी धरती पर धवन बल्लेबाजी में जूझते रहे हैं, फिर भी उनमें आक्रामक बल्लेबाजी क्षमता है।

2- अतिरिक्त तेज गेंदबाज के रूप में हार्दिक पाड्ंया को रविंद्र जडेजा की जगह टीम में शामिल किया गया था। मगर वह अभी तक टेस्ट सीरीज में अपना प्रभाव नहीं छोड़ पाए हैं। पहले टेस्ट में वह एक भी विकेट नहीं ले पाए, हालांकि दूसरे टेस्ट में उन्होंने तीन विकेट जरूर लिए। इसके अलावा उनकी खराब बल्लेबाजी तकनीक भी समस्या बनी हुई है। ऐसे में माना जा रहा है कि अगले मैच में अतिरिक्त बल्लेबाज को मौका दिया जा सकता है। पांड्या की जगह करुण नायर को टीम में शामिल किया जा सकता है।

3- स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव से उम्मीद थी कि वो वनडे और टी-20 की तरह इंग्लैंड के खिलाफ उम्दा प्रदर्शन करेंगे। मगर लॉर्ड्स मैदान पर यादव अपनी लय से जूझते नजर आए। उन्हें उमेश यादव की जगह मौका दिया गया। माना जा रहा है कि इंग्लैंड की पिच तेज गेंदबाजी के अनुकूल हैं। ऐसे में भारत तीसरे टेस्ट से पहले जसप्रीत बुमराह की फिटनेस का इंतजार कर रहा है। अगर तय समय तक वो फिट हो जाते हैं तो टीम में उन्हें खिलाया जा सकता है। अन्यथा उमेश यादव जिन्हें दूसरे टेस्ट में बाहर किया गया दोबारा टीम में शामिल किया जा सकता है।

4- रणजी में ढेर सारे रन बनाने के बाद दिनेश कार्तिक ने दोबारा नेशनल क्रिकेट में वापसी की। मगर इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट की चार पारियों में कार्तिक महज 21 रन बना पाए हैं। इसमें दो बार वह जीरो पर आउट हुए। इसके अलावा उनकी विकेटकीपिंग भी प्रभावित नहीं कर पाई है। इससे ऋषभ पंत को टेस्ट प्रारूप में शामिल करने का समय आ सकता है। पंथ ने इंडिया-ए ने के लिए कई महत्वपूर्ण पारी खेली हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App