ताज़ा खबर
 

2 मैच खेलते ही मार्क बाउचर को पीछे छोड़ ऐसा करने वाले पहले विकेटकीपर बन जाएंगे धोनी

धोनी इकलौते ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने 3 आईसीसी ट्रॉफी अपने नाम की हैं। वहीं, इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम हैं। उन्होंने तीनों फॉर्मेट में कुल मिलाकर 191 स्टंप किए हैं।

ind vs aus, india vs australaia, ms dhoni, ms dhoni at vizag, vizag airport, ms dhoni fansएमएस धोनी (Photo: BCCI)

भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने साल 2019 में शानदार आगाज किया। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में लगातार तीन अर्धशतक बनाकर मैन ऑफ द सीरीज का अवॉर्ड अपने नाम किया और उन्होंने आलोचकों का मुंह बंद कर दिया। ऑस्ट्रेलिया के बाद न्यूजीलैंड में भी वह शानदार फॉर्म में नजर आए और सब यही उम्मीद लगा रहे हैं कि धोनी का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज में भी यही प्रदर्शन जारी रहे।

वैसे तो महेंद्र सिंह धोनी ने अपने क्रिकेट में करियर कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी सीरीज में उनकी नजर एक और बड़े रिकॉर्ड को तोड़ने पर होगी, जो फिलहाल साउथ अफ्रीका के पूर्व विकेट कीपर-बल्लेबाज मार्क बाउचर के नाम दर्ज है। दरअसल, महेंद्र सिंह धोनी ने एक विकेट कीपर के तौर पर क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में 524 मैचों की कुल 594 में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। अगर वह 2 मैच और खेल लेते हैं तो क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में सबसे ज्यादा पारी खेलने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लेंगे। इस मामले में साउथ अफ्रीका के मार्क बाउचर पहले नबंर पर हैं। बाउचर ने 467 मैचों में कुल 596 पारीयां खेली हैं। इस मामले में तीसरे नंबर श्रीलंका के कुमार संगकारा (499 पारी) तीसरे जबकि आस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट (485) चौथ नंबर पर हैं।

गौरतलब है कि धोनी इकलौते ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने 3 आईसीसी ट्रॉफी अपने नाम की हैं। वहीं, इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग का रिकॉर्ड भी उन्हीं के नाम हैं। धोनी ने तीनों फॉर्मेट में कुल मिलाकर 191 स्टंप किए हैं। बता दें कि हाल ही में भारतीय क्रिकेट टीम के चयन समिति के प्रमुख प्रमुख एमएसके प्रसाद ने खेल वेबसाइट क्रिकइंफो को दिए इंटरव्यू में एमएस धोनी को लेकर बड़ी बात कही है। एमएसके प्रसाद का मानना है कि विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी हालिया फॉर्म और अनुभव के कारण इंग्लैंड में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के लिए काफी अहम साबित होंगे। उन्होंने कहा कि अपनी लीडरशिप स्किल से वह विराट कोहली का मार्गदर्शन करेंगे। उनकी विकेटकीपिंग स्किल भी शानदार है और साथ ही वह युवा खिलाड़ियों के मेंटॉर की भूमिका निभाएंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राष्ट्रीय चैपियनशिप से ऑल इंग्लैंड की तैयारी में मदद मिलेगी: प्रणीत
2 New Zealand vs Bangladesh 1st ODI Playing 11: कुछ इस तरह है दोनों टीमों की प्लेइंग इलेवन
3 राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप में दिखेगा पीवी सिंधु और साइना नेहवाल का जलवा
ये पढ़ा क्या?
X