ताज़ा खबर
 

सुर्खियों में युवी: क्रिकेटरों के बीच विवाद

दिग्गज खिलाड़ियों के बीच विवाद मीडिया की उपज रही है। बॉलीवुड की तरह क्रिकेट मे भी गॉसिप पत्रकारिता चरम पर रही है।

row over cricketer in aभारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह।

मनीष कुमार जोशी
पूर्णबंदी में खेल गतिविधियों पर जारी प्रतिबंध के बीच पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह सुर्खियों में आ गए हैं। युवराज अपने खिलाड़ी मित्रों के साथ आनलाइन चर्चा कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने युजवेंद्र चहल को लेकर जातिसूचक टिप्पणी कर दी। यह टिप्पणी चहल के प्रशंसकों को पसंद नहीं आई। इसकी जबरदस्त आलोचना होने लगी। ट्विटर पर हैश टैग माफी मांगो युवराज ट्रेंड करने लगा। यहां तक भी युवी ने परवाह नहीं की। फिर मामला आगे और बढ़ा। इस टिप्पणी को लेकर उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज करवाई गई। इसके बाद युवराज सिह गंभीर हो गए। आनन-फानन में उन्होंने माफी मांग ली।

युवराज ने ट्विटर पर लिखा कि उनके किन्ही शब्दों के कारण किसी की भावनाएं आहत हुई हैं तो मैं माफी मांगता हूं। उन्होंने कहा कि गलतफहमी के कारण यह टिप्पणी हो गई। इस माफी के बाद संभावना है कि उन्हे इस मामले में राहत मिल जाए। युवी के करिअर में हमेशा कोई न कोई विवाद रहा है। महेंद्र सिंह धोनी और युवराज का विवाद भी उनमें से एक है। इस बाएं हाथ के बल्लेबाज के पिता योगराज सिंह ने विश्व विजेता कप्तान धोनी पर कई आरोप लगाए। हालांकि धोनी ने इसका कोई जवाब नहीं दिया। युवराज सिंह ने अपने पिता की ओर से माफी मांगी।

दिग्गज खिलाड़ियों के बीच विवाद मीडिया की उपज रही है। बॉलीवुड की तरह क्रिकेट मे भी गॉसिप पत्रकारिता चरम पर रही है। कपिल देव और सुनील गावसकर लगभग समकालीन थे। दोनों ही अपने हुनर के मास्टर थे। एक दुनिया का महान बल्लेबाज था तो दूसरा दुनिया का नंबर एक हरफनमौला। उस दौर में दोनों के बीच विवाद की काफी खबरें आती थीं। गावसकर की कप्तानी में एक बार कपिल को टैस्ट टीम से बाहर कर दिया गया। इससे उनका लगतार टैस्ट खेलने का रेकार्ड टूट गया।

कारण चाहे कुछ भी रहे हों लेकिन मीडिया मे कपिल-गावसकर विवाद से छाया रहा। कई बार तो इन दोनों खिलाड़ियों के समर्थक स्टेडियम में ही भिड़ गए। कहने का मतलब यह है कि खिलाड़ियों के बीच विवाद की गुंजाइश बहुत कम होती है। उनके बीच विवाद या तो गॉसिप मीडिया की उपज होती है या कोई गलतफहमी। युवराज सिंह का ताजा विवाद दोस्तों के बीच अल्हड़पन का नतीजा है। फिर भी खिलाड़ियों को सोशल मीडिया का उपयोग करते वक्त जिम्मेदार होना चाहिए। वे युवाओं के नायक हैं। उन्हे सोशल मीडिया का उपयोग जिम्मेदार नागरिक की तरह करना चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मुक्केबाजी में तेज प्रहार मेरी मजबूती, इसी के बूते जीतूंगा तमगा : सतीश
2 इरफान पठान ने कहा था- सोसाइटी में घर नहीं मिलना भी नस्लवाद, लोगों ने ट्रोल किया तो कर दी बोलती बंद
3 टीम इंडिया अगस्त में करेगी श्रीलंका का दौरा, एशिया कप भी श्रीलंका में ही होगा; रिपोर्ट्स में दावा