ताज़ा खबर
 

28 मार्च: 2004 में वीरेंद्र सहवाग ने बनाया था यह रिकॉर्ड, पाकिस्‍तानियों को धो कर बनाए थे 309 रन

पाकिस्तान के मुल्तान शहर में टेस्ट सीरीज का पहला मैच खेला जा रहा था। टॉस जीतते हुए भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। मैच के पहले दिन 28 मार्च को आकाश चोपड़ा और वीरेंद्र सहवाग की जोड़ी ओपनिंग करने उतरी। दोनों क्रिकेटर्स ने पहले विकेट के लिए 160 रन जोड़े। आकाश चोपड़ा 42 रन बनाकर आउट हो गए।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

भारत में अगर सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाज की बात की जाए तो इस लिस्ट में पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का नाम आज भी सबसे ऊपर आता है। दोनों की जोड़ी ने कई मैचों में विरोधी टीम के छक्के छुड़ाए थे। वनडे मैच हो या फिर टेस्ट मैच सहवाग और सचिन के बल्लों से धड़ाधड़ चौकों और छक्कों की बारिश होती थी। आज से ठीक 14 साल पहले भी सहवाग के बल्ले ने पाकिस्तान की क्रिकेट टीम की बखिया उधेड़ दी थी। हम बात कर रहे हैं क्रिकेट जगत के एतिहासिक दिन 28 मार्च 2004 की। इस दिन से भारत और पाकिस्तान के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का आगाज हुआ था।

कप्तान सौरव गांगुली के नेतृत्व में लंबे अरसे बाद क्रिकेट मैच खेलने पाकिस्तान पहुंची टीम इंडिया ने विरोधी टीम की बखिया उधेड़ दी थी। टेस्ट सीरीज से पहले दोनों टीमों के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज हुई थी, जिसमें भारत ने 3-2 से जीत हासिल की थी। उसके बाद टेस्ट सीरीज के लिए भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट टीमें आमने-सामने थी।

पाकिस्तान के मुल्तान शहर में टेस्ट सीरीज का पहला मैच खेला जा रहा था। टॉस जीतते हुए भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। मैच के पहले दिन 28 मार्च को आकाश चोपड़ा और वीरेंद्र सहवाग की जोड़ी ओपनिंग करने उतरी। दोनों क्रिकेटर्स ने पहले विकेट के लिए 160 रन जोड़े। आकाश चोपड़ा 42 रन बनाकर आउट हो गए। उसके बाद राहुल द्रविड़ बल्लेबाजी करने आए। द्रविड़ ज्यादा देर मैदान में टिक नहीं पाए और 6 रन बनाकर आउट हो गए। उसके बाद सहवाग का साथ देने आए सचिन तेंदुलकर। दोनों के बीच अच्छी साझेदारी हुई और दोनों क्रिकेटर्स के बल्लों से झमाझम रनों की बारिश हुई। सहवाग और सचिन की जोड़ी ने पाकिस्तानी गेंदबाजों के छक्के छुड़ा दिए। पहले दिन का खेल खत्म होते तक सहवाग ने दोहरा शतक जड़ते हुए 228 रन बना लिए थे और उन्होंने पाकिस्तानियों के खिलाफ सबसे ज्यादा रन बनाने का संजय मांजरेकर (221) का रिकॉर्ड भी पहले दिन ही तोड़ दिया था। पहले दिन का खेल खत्म होने तक सहवाग 228 और सचिन 60 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे।

दूसरे दिन का खेल यानी 29 मार्च को सहवाग और सचिन की जोड़ी ने क्रिकेट जगत में नया कीर्तिमान रच दिया। सहवाग ने दूसरे तीन तिहरा शतक भी पूरा किया। वह 295 रन बनाकर खेल रहे थे, ऐसे में छक्का मारने का रिस्क शायद ही कोई बल्लेबाज लेता है, लेकिन सहवाग ने अगली गेंद पर शानदार छक्का जड़ते हुए तिहरा शतक जड़ दिया। वह दूसरे दिन 375 गेंदों पर 309 रन बनाकर आउट हुए। इसके साथ ही वह पाकिस्तान के खिलाफ तिहरा शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी बने। वहीं सचिन ने भी इस मैच में 194 रन बनाए। आपको बता दें कि इस मैच को भारतीय टीम ने एक पारी और 52 रनों से जीता था। वहीं पूरी सीरीज पर भी भारतीय टीम 2-1 से कब्जा करने में कामयाब रही थी। वहीं आज से ठीक 10 साल पहले यानी 28 मार्च 2008 के दिन भी सहवाग ने शादार कारनामा किया था। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हो रही तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले मैच में 304 गेंदों पर 319 रन बनाए थे। इसके साथ ही वह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में दो बार तिहरा शतक जड़ने वाले तीसरे क्रिकेटर बने थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App