ताज़ा खबर
 

राहुल द्रविड़ को चार करोड़ का चूना! बेंगलुरु की फर्म के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

बेंगलुरु पुलिस ने कंपनी के मालिक राघवेंद्र श्रीनाथ सहित एजेंट सूत्रम सुरेश, नरसिम्हा मूर्ति, केसी नागराज और प्रहलाद को 800 लोगों को धोखा देने के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। सबसे आश्चर्य की बात यह है कि सुरेश सुत्रम बेंगलुरु के बहुत ही मशहूर स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट हैं।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड़ (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और अंडर-19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ ने बेंगलुरु की एक कंपनी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। द्रविड़ का कहना है कि कंपनी की पोंजी स्कीम के तहत उन्होंने कुछ पैसे जमा किए थे, लेकिन उन्हें इसमें फायदे की जगह नुकसान हुआ। न्यूज़ 18 के मुताबिक द्रविड़ ने विक्रम इंवेस्टमेंट के खिलाफ की गई शिकायत में कहा है कि उन्होंने ज्यादा इंटरेस्ट पाने के मकसद से 20 करोड़ रुपए जमा कराए थे, लेकिन उन्हें महज 16 करोड़ रुपए ही वापस मिले। कंपनी ने राहुल द्रविड़ द्वारा जमा कराई गई मूल रकम से 4 करोड़ रुपए कम वापस किए हैं। उन्होंने इंद्रानगर पुलिस में यह शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने द्रविड़ की शिकायत बनशंकरी पुलिस को सौंप दी है, जो कि कंपनी द्वारा किए गए 500 करोड़ रुपए के घोटाले की जांच कर रही है।

बेंगलुरु पुलिस ने कंपनी के मालिक राघवेंद्र श्रीनाथ सहित एजेंट सूत्रम सुरेश, नरसिम्हा मूर्ति, केसी नागराज और प्रहलाद को 800 लोगों को धोखा देने के मामले में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया, ‘इन सभी लोगों को 14 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। इस गैंग ने लोगों से करीब 300 करोड़ रुपए छले हैं। हम पूरे दस्तावेजों की जांच कर रहे हैं।’

सबसे आश्चर्य की बात यह है कि सुरेश सुत्रम बेंगलुरु के बहुत ही मशहूर स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट हैं। पुलिस का कहना है कि सुत्रम ने ही क्रिकेटर राहुल द्रविड़, बेडमिंटन स्टार साइना नेहवाल और पूर्व बेडमिंटन खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को इस कंपनी की स्कीम में पैसा लगाने के लिए तैयार किया था। उसके झांसे में आकर कई खिलाड़ियों द्वारा विक्रम इन्वेस्टमेंट कंपनी में निवेश करने की आशंका है। आपको बता दें कि कंपनी ने अपनी स्कीम के तहत लोगों को 40 फीसदी इंटरेस्ट देने का वादा किया था, लेकिन इंटरेस्ट तो दूर की बात, कंपनी ने लोगों की मूल रकम से ही कटौती कर दी। एक अधिकारी ने बताया कि गिरोह ने निवेशकों को 300 करोड़ रुपये से ज्यादा का चूना लगाया है। पुलिस अधिकारियों ने दावा किया कि कई निवेशक ज्यादा रिटर्न की लालच में कंपनी में निवेश किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App