ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी कप्तान ने बताया क्यों वर्ल्ड कप में भारत से नहीं जीती उनकी टीम, चैंपियन टीम का सदस्य नहीं होने का है अफसोस

भारतीय टीम वर्ल्ड कप में अब तक पाकिस्तान के खिलाफ 7 बार खेली है और उसे हर बार हराया है। पिछली बार सरफराज अहमद की कप्तानी में 2019 वर्ल्ड कप में भी पाकिस्तानी टीम हारी थी।

वकार यूनुस की कप्तानी में भी पाकिस्तानी टीम भारत से वर्ल्ड कप में हारी थी। (सोर्स – सोशल मीडिया)

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान और अपने जमाने के खतरनाक गेंदबाज रहे वकार यूनुस ने इस बात का खुलासा किया है कि उनकी टीम वर्ल्ड कप में भारत से क्यों हार जाती है। यूनुस साथ ही यह भी बताया कि उनके करियर का सबसे बड़ा अफसोस 1992 में विश्व कप विजेता टीम का हिस्सा नहीं बनना है। भारतीय टीम वर्ल्ड कप में अब तक पाकिस्तान के खिलाफ 7 बार खेली है और उसे हर बार हराया है। पिछली बार सरफराज अहमद की कप्तानी में 2019 वर्ल्ड कप में भी पाकिस्तानी टीम हारी थी।

पाकिस्तान की टीम 1992 वर्ल्ड कप में पहली बार भारत से हारी थी। उस टीम में वकार नहीं थे। इसके बाद 1996 वर्ल्ड कप में भी टीम इंडिया जीती थी। तब वकार टीम के सदस्य थे। 1999 में हारने वाली टीम में वकार का नाम नहीं था। इसके बाद 2003 में भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने थी। तब सौरव गांगुली टीम इंडिया और वकार पाकिस्तान के कप्तान थे, लेकिन उन्हें जीत नसीब नहीं हुई। इसके बाद भारत ने 2011, 2015 और 2019 में भी हराया।

ट्विटर पर फैंस से बातचीत में वकार ने कहा,‘‘पिछले सभी वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की टीम भारत के खिलाफ नहीं जीती थी। हमने दूसरे फॉर्मेट में बेहतर प्रदर्शन किया है। टेस्ट में अच्छा खेला है, लेकिन जब वर्ल्ड कप और वनडे की बात आती है तो हम उनसे पीछे हो जाते हैं। मुझे लगता है वे इस दौरान शानदार क्रिकेट खेलते हैं।’’ वकार को लगता है कि उनकी टीम भारत के खिलाफ प्रेशर को सही से हैंडल नहीं कर पाती है। प्रेशर के समय अपना कंट्रोल खो देती है।

वकार ने कहा, ‘‘मुझे बेंगलुरु (1996) और प्रिटोरिया (2003) याद है। मुझे बहुत सारे खिलाड़ी याद है और मैंने कई खिलाड़ियों के साथ खेला भी है। उनकी टीम अच्छी थी। मुझे लगता है कि खास दिन पर वे सकारात्मक होकर खेलने आते हैं। वे बेहतर और स्मार्ट तरीके से खेलते हैं। हमारे हाथों में कई बार मैच था। अगर आप 2011 और 1996 के मुकाबलों को देखें तो मैच हमारे पक्ष में था, लेकिन हमने इसे गंवा दिया। शायद यह वर्ल्ड कप के प्रेशर के कारण हुआ होगा। क्योंकि यह कई बार हुआ है।’’ वकार ने पाकिस्तान के लिए 87 टेस्ट में 373 और 262 वनडे में 416 विकेट लिए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘रॉस टेलर को कप्तानी से हटाना सबसे मुश्किल दौर, लेकिन हमें खेद नहीं’, बोले न्यूजीलैंड के पूर्व कोच
2 दांडीवाल से पूछताछ; BCCI एसीयू ने कहा- भ्रष्टाचार की दुनिया में मची खलबली
3 ‘अभी ना जाओ छोड़कर कि दिल अभी भरा नहीं,’ केदार जाधव ने की महेंद्र सिंह धोनी से अपील
यह पढ़ा क्या?
X