पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश और बलविंदर भी भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच की दौड़ में - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश और बलविंदर भी भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच की दौड़ में

भारत ने महेंद्र सिंह धोनी के मार्गदर्शन में जब 2007 में पहला टी20 विश्व कप जीता था तो प्रसाद गेंदबाजी कोच थे।

Author नई दिल्ली/मुंबई | June 8, 2016 10:36 PM
पूर्व गेंदबाज वेंकटेश

पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद और बलविंदर सिंह संधू ने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच पद के लिए आवेदन कर अपनी दावेदारी पेश कर दी हैं। इसके अलावा भारतीय टीम के पूर्व टीम निदेशक शास्त्री और मौजूदा मुख्य चयनकर्ता संदीप पाटिल ने भी पद के लिए आवेदन किए हैं। बीसीसीआइ ने इस पद के लिए आवेदन देने की समय सीमा 10 जून तक रखी है और उम्मीद है कि जुलाई और अगस्त में होने वाले वेस्टइंडीज के टैस्ट दौरे पर विराट कोहली और उनकी टीम नए कोचिंग स्टाफ के साथ जाएगी जिसमें मुख्य कोच भी शामिल होगा। प्रसाद ने बुधवार को बताया, ‘मैंने सुबह आवेदन किया।’ बीसीसीआइ की जूनियर चयन समिति के अध्यक्ष प्रसाद दोबारा कोचिंग की भूमिका निभाने को लेकर उत्सुक हैं। वह अतीत में भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच रह चुके हैं।

भारत ने महेंद्र सिंह धोनी के मार्गदर्शन में जब 2007 में पहला टी20 विश्व कप जीता था तो प्रसाद गेंदबाजी कोच थे। प्रसाद को इस पद के लिए भारत के पूर्व टीम निदेशक रवि शास्त्री और सीनियर चयन समिति के मौजूदा अध्यक्ष संदीप पाटिल जैसे दिग्गजों की चुनौती का सामना करना होगा जो इस पद के लिए आवेदन कर चुके हैं। पता चला है कि अगर मुख्य कोच नहीं बनाया जाता है तो प्रसाद राष्ट्रीय टीम के गेंदबाजी कोच बनने को भी तैयार हैं। प्रसाद 2007 और 2009 के बीच भारत के गेंदबाजी कोच रहे और आइपीएल में अब निलंबित चेन्नई सुपरकिंग्स और रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के भी कोच रहे।

वहीं बलविंदर संधू ने इस प्रतिष्ठित पद की जिम्मेदारी मिलने का भरोसा जताया। संधू ने कहा, ‘हां, मैंने पद के लिए आवेदन दिया है। मैंने मंगलवार शाम आवेदन किया और मैं काफी आश्वस्त हूं, हालांकि मुझे पता है कि रवि शास्त्री प्रबल दावेदार हैं।’ संधू ने कहा कि उन्हें विभिन्न टीमों की कोचिंग का लगभग 25 साल का अनुभव है और 15 साल पहले वह मुंबई रणजी टीम के मुख्य कोच थे जब गेंदबाजों के लिए पहली बार विडियो विश्लेषण का इस्तेमाल किया गया था। उन्होंने कहा, ‘मैंने मुंबई, मध्य प्रदेश और बड़ौदा व आइएसएल टीमों (अब भंग हो चुकी) को भी कोचिंग दी है।’ भारत की ओर से आठ टैस्ट और 22 वनडे खेलने वाले संधू ने कहा कि अगर मौका मिला तो वह गेंदबाजी कोच बनने को भी तैयार हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App