ताज़ा खबर
 

पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश और बलविंदर भी भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच की दौड़ में

भारत ने महेंद्र सिंह धोनी के मार्गदर्शन में जब 2007 में पहला टी20 विश्व कप जीता था तो प्रसाद गेंदबाजी कोच थे।

Author नई दिल्ली/मुंबई | Published on: June 8, 2016 10:36 PM
indian cricket team, coach, former baller, venktesh, balvinderपूर्व गेंदबाज वेंकटेश

पूर्व तेज गेंदबाज वेंकटेश प्रसाद और बलविंदर सिंह संधू ने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच पद के लिए आवेदन कर अपनी दावेदारी पेश कर दी हैं। इसके अलावा भारतीय टीम के पूर्व टीम निदेशक शास्त्री और मौजूदा मुख्य चयनकर्ता संदीप पाटिल ने भी पद के लिए आवेदन किए हैं। बीसीसीआइ ने इस पद के लिए आवेदन देने की समय सीमा 10 जून तक रखी है और उम्मीद है कि जुलाई और अगस्त में होने वाले वेस्टइंडीज के टैस्ट दौरे पर विराट कोहली और उनकी टीम नए कोचिंग स्टाफ के साथ जाएगी जिसमें मुख्य कोच भी शामिल होगा। प्रसाद ने बुधवार को बताया, ‘मैंने सुबह आवेदन किया।’ बीसीसीआइ की जूनियर चयन समिति के अध्यक्ष प्रसाद दोबारा कोचिंग की भूमिका निभाने को लेकर उत्सुक हैं। वह अतीत में भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच रह चुके हैं।

भारत ने महेंद्र सिंह धोनी के मार्गदर्शन में जब 2007 में पहला टी20 विश्व कप जीता था तो प्रसाद गेंदबाजी कोच थे। प्रसाद को इस पद के लिए भारत के पूर्व टीम निदेशक रवि शास्त्री और सीनियर चयन समिति के मौजूदा अध्यक्ष संदीप पाटिल जैसे दिग्गजों की चुनौती का सामना करना होगा जो इस पद के लिए आवेदन कर चुके हैं। पता चला है कि अगर मुख्य कोच नहीं बनाया जाता है तो प्रसाद राष्ट्रीय टीम के गेंदबाजी कोच बनने को भी तैयार हैं। प्रसाद 2007 और 2009 के बीच भारत के गेंदबाजी कोच रहे और आइपीएल में अब निलंबित चेन्नई सुपरकिंग्स और रायल चैलेंजर्स बेंगलूर के भी कोच रहे।

वहीं बलविंदर संधू ने इस प्रतिष्ठित पद की जिम्मेदारी मिलने का भरोसा जताया। संधू ने कहा, ‘हां, मैंने पद के लिए आवेदन दिया है। मैंने मंगलवार शाम आवेदन किया और मैं काफी आश्वस्त हूं, हालांकि मुझे पता है कि रवि शास्त्री प्रबल दावेदार हैं।’ संधू ने कहा कि उन्हें विभिन्न टीमों की कोचिंग का लगभग 25 साल का अनुभव है और 15 साल पहले वह मुंबई रणजी टीम के मुख्य कोच थे जब गेंदबाजों के लिए पहली बार विडियो विश्लेषण का इस्तेमाल किया गया था। उन्होंने कहा, ‘मैंने मुंबई, मध्य प्रदेश और बड़ौदा व आइएसएल टीमों (अब भंग हो चुकी) को भी कोचिंग दी है।’ भारत की ओर से आठ टैस्ट और 22 वनडे खेलने वाले संधू ने कहा कि अगर मौका मिला तो वह गेंदबाजी कोच बनने को भी तैयार हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 World T20 सेमीफाइनल में भारत की हार की वजह बने सिमंस ने कोहली को बताया ‘घमंडी’ और ‘आक्रामक’
2 गेंदबाजों के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने आस्ट्रेलिया को 47 रनों से दी मात
3 नई टीम की अगुआई करना मेरे लिए बिलकुल नई चुनौती होगा : धोनी
ये पढ़ा क्या?
X