ताज़ा खबर
 

ISL 2017, FC Pune City vs Delhi Dynamos FC: दिल्ली ने 3-2 से दर्ज की जीत

ISL 2017 Football: दिल्ली की टीम ने बीते सीजन में उसके लिए अच्छा खेलने वाले कई अहम खिलाड़ियों को गंवा दिया है लेकिन इस साल गर्मियों में हुई नीलामी में उसने कई अच्छे खिलाड़ियों को अपने साथ जोड़ा भी है।

ISL 2017 Football: सीजन में दिल्ली के लिए कुल 14 गोल किए थे।

दिल्ली डायनामोज ने हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में एफसी पुणे सिटी के खिलाफ अपनी शानदार फॉर्म जारी रखी है। दिल्ली ने बुधवार को श्री छत्रपति शिवाजी स्पोटर्स काम्पलेक्स में खेले गए लीग के चौथे सीजन के अपने पहले मैच में पुणे को 3-2 से हराकर पूरे तीन अंक हासिल किए। आईएसएल इतिहास में दिल्ली और पुणे के बीच अब तक कुल सात मुकाबले हुए हैं। इनमें से चार बार दिल्ली की जीत हुई है जबकि दो मैच बराबरी पर छूटे हैं। सिर्फ एक मैच में पुणे ने दिल्ली को हराया है। इस कारण सीजन-4 के अपने पहले मैच में दिल्ली की टीम पुणे के खिलाफ मनोवैज्ञानिक बढ़त के साथ उतरी और उसी बढ़त के दम पर शानदार आगाज किया।

उम्मीद थी कि नए कोच के साथ पुणे की टीम नए सीजन का कुछ अलग आगाज करेगी लेकिन उसके प्रशंसकों को निराशा हाथ लगी। पहला हाफ खाली जाने के बाद दिल्ली ने दूसरे हाफ की शुरुआत में ही अपना दमखम दिखाया और 46वें मिनट में पाउलिन्हो डियास द्वारा किए गए गोल की मदद से बढ़त हासिल की। डियास ने यह गोल लालियानगियान चांग्ते द्वारा बाएं किनारे से दिए गए क्रास पर हेडर के जरिए किया।

इसके बाद लगा कि पुणे की टीम सम्भल जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और उसकी रक्षापंक्ति की सुस्ती का फायदा उठाकर चांग्ते ने 54वें मिनट में अकेले दम पर एक बेहतरीन गोल करते हुए अपनी टीम को 2-0 से आगे कर दिया। चांग्ते का यह गोल हर लिहाज से दर्शनीय था। वह लगभग मैदान के बीच से गेंद लेकर अकेले भागे और पुणे के गोलकीपर कमलजीत के खुद तक पहुंचने से पहले ही गेंद को गोलपोस्ट में डाल दिया।

डायनामोज मानो बेकाबू हो चुके थे। उनका हमला जारी था। 57वें मिनट में दिल्ली की ओर से एक और जोरदार हमला हुआ, लेकिन गोलकीपर कमलजीत ने बेहतरीन बचाव करते हुए पुणे को 0-3 से पीछे होने से बचा लिया। माटियास मेराबाजी ने अपने साथी खिलाड़ी से मिले क्रास को हेडर के जरिए पुणे के गोलपोस्ट में डालने की कोशिश की, लेकिन कमलजीत ने बहुत चालाकी से उसे रोक दिया।

माटियास हालांकि यहां निराश नहीं हुए और 65वें मिनट में गोल करते हुए अपनी टीम को 3-0 से आगे कर दिया। यह निश्चित तौर पर इस मैच का सबसे बेहतरीन गोल था। राइट विंग से प्रीतम कोटाल ने माटियास को पास दिया। माटियास असल में कोटाल को एसिस्ट करने आए थे, लेकिन आत्मविश्वास से भरपूर इस खिलाड़ी ने अचानक अपना मन बदला और अकेले ही गेंद लेकर आगे बढ़े और गोलकीपर सहित तीन खिलाड़ियों को छकाते हुए गेंद को गोलपोस्ट में डाल दिया।

अब पुणे के लिए सही मायने में सम्भलने का वक्त था। अब मार्सिलिनियो तथा एमिलियानो एल्फारो जैसे स्टार को अपना दमखम दिखाने की जरूरत थी। मार्सिलिनियो बीते सीजन में दिल्ली के लिए खेले थे, लेकिन अब वह पुणे के लिए खेल रहे थे तथा उन्हें खुद को साबित भी करना था। तमाम प्रयासों के बावजूद मार्सिलिनियो तो सफल नहीं हो सके, लेकिन एल्फारो ने 67वें मिनट में गोल करते हुए अपने प्रशंसकों को खुशी प्रदान की, लेकिन उनके लिए अपनी टीम को जीत दिलाने की बहुत बड़ी चुनौती सामने खड़ी थी।

एल्फारो, मार्सेलिनियो और मार्कोस तेबार ने अपनी टीम को मैच में वापस लाने का प्रयास जारी रखा। इंजुरी टाइम के अंतिम मिनट में तेबार ने मार्सेलिनियो के पास पर गोल करते हुए अपनी टीम का दूसरा गोल किया। मार्सेलिनियो बेशक खुद गोल नहीं कर सके लेकिन इस मैच में उन्होंने लगातार हमले और शानदार एसिस्ट करते हुए अपनी चमक बनाए रखी। पुणे की टीम बेशक यह मैच हार गई लेकिन दूसरे हाफ के अंतिम पलों में अपने शानदार खेल से उसने अपने कोच जैंको पोपोविक के लिए उम्मीद की किरण जगा दी।

दिल्ली ने मैच को 3-2 से जीत लिया है।

-आखिरकार पुणे की तरफ से पहला गोल दागा गया। इमिलियानो अल्फारो ने मैच के 67 मिनट पुणे का खाता खोला। दिल्ली इस वक्त 3-1 से लीड कर रहा है।

-माटियास मिराबाजे ने दिल्ली के लिए गोल किया। पुणे मैच में 0-3 से पिछड़ती हुई।  दिल्ली 3, पुणे 0 (मिनट-65)

मैच के 54वें मिनट तक दिल्ली के लिए छांगटे ने गोल दागा। दिल्ली डायनामोज के पास मुकाबले में 2-0 की लीड है। पुणे काफी मुश्किल में नजर आ रही है।

-पहले हाफ तक कोई भी टीम गोल दागने में नाकाम रही है। दिल्ली डायनामोज का शुरुआती समय काफी आक्रामक था मगर उसके बाद पुणे हावी नजर आया। दिल्ली की टीम शॉर्ट पास करती हुई। दिल्ली 0, पुणे 0 (मिनट-45)

दोनों टीमों के डिफेंडर्स विपक्षी टीम के खिलाड़ियों को ज्यादा मौके नहीं दे रहे हैं। इसी बीच दिल्ली के पास दो बार मौका बना मगर इसे भुनाने में नाकामयाब। दिल्ली 0, पुणे 0 (मिनट-24)

-मैच शुरू हो चुका है। दिल्ली मुकाबले में तेजी दिखाते हुए। वहीं पुणे रक्षात्मक मैच खेलता दिख रहा है। दर्शक मैच को लेकर काफी उत्साहित नजर आ रहे हैं।

नाइजीरियाई फारवर्ड कालू उचे मिग्वेल की टीम की आक्रमण पंक्ति की धुरी में होंगे। साथ ही दिल्ली ने इस साल नीदरलैंड्स के स्ट्राइकर गुयोन फर्नादेज को भी अपने साथ जोड़ा है, जो उचे का अच्छा साथ दे सकते हैं।

-दिल्ली की टीम ने बीते सीजन में उसके लिए अच्छा खेलने वाले कई अहम खिलाड़ियों को गंवा दिया है लेकिन इस साल गर्मियों में हुई नीलामी में उसने कई अच्छे खिलाड़ियों को अपने साथ जोड़ा भी है।

-इस सीजन में डायनामोज के स्पेनिश कोच मिग्वेल एंजेल पुर्तगाल का यही लक्ष्य होगा। मिग्वेल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हमारे लिए अच्छी शुरुआत सबसे अहम है। पहले मैच से यह निर्धारित होगा कि मेरी टीम क्या कर सकती है। मेरी नजर में यह प्रतियोगिता काफी संतुलित है। मैं जिस अंदाज में इसे देख रहा हूं, इसे कोई भी जीत सकता है।”

-जहां तक डायनामोज की बात है तो उसे बीते सीजन के अपने फार्म को जारी रखना होगा। दिल्ली की टीम ने बीते तीन में से दो मौकों में सेमीफाइनल में जगह बनाई है लेकिन यह टीम अब तक फाइनल में नहीं पहुंच सकी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App