ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी ने कोहली से ली यो यो टेस्ट की जानकारी, विराट ने कहा- फेल होने पर कप्तान भी होगा टीम से बाहर

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि फिट इंडिया मूवमेंट ने एक साल में ही लोगों की जिंदगी में जगह बना ली है। बड़ी बात ये है कि इस दौरान दुनिया कोरोना से भी जूझ रही है। खेलों को लेकर अवेयरनेस लगातार बढ़ रही है।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: September 24, 2020 3:20 PM
Narendra Modi Virat Kohli FIT India Dialogueपीएम नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया डायलॉग में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली से फिटनेस और उनके रूटीन को लेकर बात की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल खेल दिवस (29 अगस्त) के मौके पर फिट इंडिया मूवमेंट की शुरुआत की थी। इसके एक साल होने पर प्रधानमंत्री ने आज यानी 24 सितंबर 2020 को खिलाड़ियों और दूसरे सेलेब्रिटीज से बात की। चर्चा के दौरान मोदी ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली से यो यो टेस्ट के बारे में पूछा। साथ ही दिल्ली के छोले-भटूरे की याद दिलाई। कोहली ने मोदी को बताया कि अपना फिटनेस लेवल बढ़ाने के लिए यो यो टेस्ट जरूरी है। इसमें यदि कप्तान भी फेल हो गया तो उसको भी टीम से बाहर होना पड़ेगा।

बता दें कि यह कार्यक्रम दिल्ली से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए आयोजित किया गया। विराट कोहली आईपीएल-2020 में हिस्सा लेने के लिए इन दिनों संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में हैं। यही वजह रही है कि वह इस कार्यक्रम में दुबई से जुड़े। पीएम मोदी ने कोहली से उनके फिटनेस रूटीन के बारे में पूछा। इस पर कोहली ने कहा, ‘मुझे एक बड़ा बदलाव देखने को मिला। जिस पीढ़ी में हमने खेलना शुरू किए, उस दौर में फिटनेस को लेकर काफी चीजें बदलीं। हमें खुद से महसूस होना चाहिए कि क्या बदलना है। पहले खेल को अच्छा करने के लिए फिटनेस सेशन शुरू किए, लेकिन अब प्रैक्टिस मिस होने पर उतना बुरा नहीं लगता जितना फिटनेस सेशन मिस होने पर लगता है।’

यो यो टेस्ट के बारे में पूछने पर विराट कोहली ने पीएम को बताया, ‘यह एक फिटनेस लेवल का टेस्ट होता है। सबसे पहले मैं ही भागता हूं। यह तय है कि अगर उसमें मैं भी फेल हो जाऊंगा तो टीम से बाहर होना पड़ेगा। फिट रहना काफी जरूरी होता है। पहले हमारी फिटनेस अच्छी नहीं थी, लेकिन आज हमारी टीम काफी फिट है। पीएम मोदी ने विराट-अनुष्का के घर आने वाले नन्हें मेहमान के लिए शुभकामनाएं भी दीं।’

मोदी के यह पूछने पर कि क्या दिल्ली के छोले-भटूरे मिस करते हैं, कोहली ने कहा, ‘जहां से आता हूं, वहां का खान-पान बहुत असर नहीं डालता। हालांकि, अब फिटनेस के लिए बहुत कुछ बदलना पड़ा। अगर हम फिटनेस को इम्प्रूव नहीं करेंगे तो खेल में पीछे छूटते चले जाएंगे। शरीर और दिमाग दोनों का स्वस्थ रहना जरूरी है। रात को मीठा खाकर बिना एक्टिविटी किए सोए तो यह गलत होगा। दिमाग में स्पष्ट चाहिए कि आप किसके लिए फिट रहना चाहते हैं?’

कोहली से पहले मोदी ने एक्टर मिलिंद सोमण से बातचीत में उनके गाने ‘मेड इन इंडिया’ का जिक्र किया। प्रधानमंत्री ने सोमण से उम्र के बारे में पूछा। एक्टर ने कहा, ‘लोग मुझसे कहते हैं कि 55 साल में इतना कैसे दौड़ लेते हो? मैं उनसे कहता हूं कि मेरी मां 81 साल की हैं। वे भी ये सब कर लेती हैं। मेरे दादाजी भी बहुत फिट थे। बैठने से आप कमजोर होते हैं। कोई भी व्यक्ति एक्सरसाइज से 3 किमी से 100 किमी तक दौड़ सकता है।’

मोदी ने कहा कि फिट इंडिया मूवमेंट ने एक साल में ही लोगों की जिंदगी में जगह बना ली है। बड़ी बात ये है कि इस दौरान दुनिया कोरोना से भी जूझ रही है। खेलों को लेकर अवेयरनेस लगातार बढ़ रही है। रनिंग, स्वीमिंग, योग, जॉगिंग, एक्सरसाइज अब जीवन का हिस्सा बन चुके हैं। आज दुनियाभर में सेहत को लेकर जागरूकता है। फिजिकल एक्टीविटी पर WHO ने रिकमंडेशन भी जारी की है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘स्टार क्रिकेटर्स की बीवियां भी लेती हैं ड्रग्स, IPL में मैच के बाद हुआ कोकीन का इस्तेमाल,’ कामसूत्र 3D की हीरोइन शर्लिन चोपड़ा का दावा
2 वीरेंद्र सहवाग के बाद MS Dhoni पर केविन पीटरसन भी भड़के, कहा- मैं उनकी नॉनसेंस को स्‍वीकार नहीं कर सकता
3 IPL 2020: हार्दिक पंड्या ने बाउंड्री पर दौड़कर लपका शानदार कैच, पलटा मैच का रुख; देखें video
यह पढ़ा क्या?
X