ताज़ा खबर
 

ओलंपिक में पहली बार कोई ट्रांसजेंडर हिस्सा लेगी, न्यूजीलैंड की वेटलिफ्टर लॉरेल हब्बार्ड यह रिकॉर्ड भी बनाएंगी

बीबीसी की रिपोर्ट में बेल्जियम की वेटलिफ्टर अन्ना वानबेलिंगेन के हवाले से कहा गया है कि अगर हब्बार्ड को टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने की मंजूरी दी जाती है तो यह महिलाओं के लिए अनुचित होगा और ‘एक बुरे मजाक की तरह’ होगा।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 21, 2021 10:21 PM
लॉरेल हब्बार्ड टोक्यो ओलंपिक खेलों में हिस्सा लेंगी। वह ओलंपिक खेलों के इतिहास में क्वालिफाई करने वाली पहली ट्रांसजेंडर हैं। (सोर्स- रायटर्स)

न्यूजीलैंड की वेटलिफ्टर लॉरेल हब्बार्ड ने टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर लिया है। वह ओलंपिक खेलों के इतिहास में क्वालिफाई करने वाली पहली ट्रांसजेंडर (पुरुष से महिला बनीं) खिलाड़ी बन गई हैं। हब्बार्ड उन पांच भारोत्तोलकों में शामिल हैं, जिन्हें सोमवार को टोक्यो ओलंपिक के लिए चुनी गई न्यूजीलैंड की टीम में शामिल किया गया।

लॉरेल हब्बार्ड 43 साल की उम्र में ओलंपिक में हिस्सा लेने वाली सबसे उम्रदराज भारोत्तोलक भी होंगी। वह दो अगस्त को आयोजित होने वाले महिलाओं के 87 किलोग्राम और अधिक वजन के भार वर्ग में हिस्सा लेंगी। हब्बार्ड ने 2017 विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक और समोआ में 2019 प्रशांत क्षेत्रीय खेलों में स्वर्ण पदक जीता है। उन्होंने 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लिया, लेकिन वह गंभीर तरीके से चोटिल हो गईं थीं। इससे उनका करियर भी प्रभावित हुआ।

लॉरेल हब्बार्ड की ओर से जारी बयान में कहा, ‘न्यूजीलैंड के लोगों से मुझे जो समर्थन मिला है, मैं उसके लिए अभारी हूं। तीन साल पहले राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान जब मेरा हाथ फ्रैक्चर हुआ था जो कहा गया था कि मेरा करियर समाप्त हो सकता है। आपके समर्थन, प्रोत्साहन और प्यार ने मुझे अंधेरे से बाहर निकाला।’

हब्बार्ड ने आठ साल पहले 35 साल की उम्र में अपना लिंग बदलवाया था। इसके बाद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (International Olympics Committee) के ट्रांस एथलीट्स के निष्पक्ष प्रतिस्पर्धा के लिए बने नियमों और सभी आवश्यकताओं को पूरा किया है।

आईओसी नीति में शर्तों के साथ पुरुष से महिला बनने वालों को महिला वर्ग में प्रतिस्पर्धा करने की अनुमति है। हालांकि, आलोचकों का कहना है कि ओलंपिक की महिला वर्ग में ट्रांसजेंडर की भागीदारी अब भी महिला एथलीट्स के लिए अनुचित है।

बीबीसी की रिपोर्ट में बेल्जियम की वेटलिफ्टर अन्ना वानबेलिंगेन के हवाले से कहा गया है कि अगर हब्बार्ड को टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने की मंजूरी दी जाती है तो यह महिलाओं के लिए अनुचित होगा और ‘एक बुरे मजाक की तरह’ होगा।

अन्ना वानबेलिंगेन ने भी हब्बार्ड के भार वर्ग श्रेणी में ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया है। हालांकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि वह ट्रांसजेंडर समुदाय का अपना पूरा समर्थन देती हैं, लेकिन साथ ही कहा कि समावेश का सिद्धांत ‘दूसरों की कीमत पर’ नहीं होना चाहिए।

Next Stories
1 एमएस धोनी परिवार संग शिमला की वादियों में मना रहे छुट्टियां, साक्षी ने शेयर किया Video, जीवा संग नए लुक में दिखे माही
2 विराट कोहली ICC Finals में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बने, बतौर कप्तान भी रचा इतिहास; इस मामले में सुनील गावस्कर से पिछड़े
3 Pakistan Super League: शोएब अख्तर की राशिद खान की टीम खरीदने की चाहत, फ्रैंचाइजी मालिक पर लगाया यह आरोप
आज का राशिफल
X