ताज़ा खबर
 

FIFA World Cup 2018: पुतिन अपना छाता लेकर आए थे, दुनिया के बड़े नेता बारिश में भीगते रहे

कोलिंडा, इन्फेंटिनो और मैक्रॉन सभी बारिश में भीग गए, लेकिन पुतिन नहीं भीगे, क्योंकि केवल वह एक अकेले ऐसे थे जिनके पास छतरी थी। एक व्यक्ति पुतिन के पीछे छतरी लिए खड़ा था। जहां पोडियम में खड़े हुए दुनिया के बड़े नेता भीगते रहे तो वहीं पुतिन बेहद शान के साथ छतरी तले सीधे खड़े रहे।

FIFA World Cup 2018: फ्रांस और क्रोएशिया के फाइनल मुकाबले के बाद छाते के नीचे खेड़े रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और बारिश में भीगते फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुअल मैक्रॉन (फोटो सोर्स- एपी)

फीफा विश्व कप का बेहद ही रोमांचक फाइनल मुकाबला रूस की राजधानी मॉस्को के लुज्निकी स्टेडियम में फ्रांस और क्रोएशिया के बीच खेला गया। इस मुकाबले में फ्रांस ने क्रोएशिया को 4-2 से हराकर फुटबॉल की बादशाहत पर कब्जा कर लिया। मैच के बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, फ्रांस के राष्ट्रपति इमानुअल मैक्रॉन, फीफा अध्यक्ष गियानी इन्फेंटिनो और क्रोएशियाई राष्ट्रपति कोलिंडा ग्रेबर-किटारोविक सभी एक ही पोडियम में खड़े हुए। सभी राष्ट्राध्यक्ष क्रोएशिया और फ्रांस की टीमों के खिलाड़ियों को मेडल देने के लिए एक साथ खड़े हुए। इस दौरान वहां बारिश होने लगी, लेकिन तब भी कोई भी राष्ट्राध्यक्ष वहां से हटा नहीं और बरसते पानी में ही खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया।

कोलिंडा, इन्फेंटिनो और मैक्रॉन सभी बारिश में भीग गए, लेकिन पुतिन नहीं भीगे, क्योंकि केवल वह एक अकेले ऐसे थे जिनके पास छतरी थी। एक व्यक्ति पुतिन के पीछे छतरी लिए खड़ा था। जहां पोडियम में खड़े हुए दुनिया के बड़े नेता भीगते रहे तो वहीं पुतिन बेहद शान के साथ छतरी तले सीधे खड़े रहे। इससे संबंधित तस्वीरें भी काफी वायरल हो रही हैं, जिसमें पुतिन छतरी के नीचे शान से खड़े दिख रहे हैं तो वहीं मैक्रॉन उनकी तरफ देखते हुए दिख रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर मजे लिए। हर कोई यही सवाल करता रहा कि क्या रूस के पास एक ही छतरी थी।

बता दें कि फीफा विश्व कप के 21वें संस्करण के फाइनल में रविवार को फ्रांस ने लुज्निकी स्टेडियम में खेले गए बेहद रोमांचक और नाटकीय मैच में पहली बार विश्व कप खेल रही क्रोएशिया को 4-2 से शिकस्त दे दूसरी बार विश्व विजेता का तमगा हासिल किया। फ्रांस 20 साल बाद विश्व फुटबाल का सरताज बनने में सफल रहा है। इससे पहले उसने अपने घर में 1998 में दिदिएर डेसचेम्प्स की कप्तानी में पहली बार विश्व कप जीता था। फ्रांस दूसरी बार 2006 में विश्व कप का फाइनल खेली थी जहां इटली ने उसे खिताब से महरूम रख दिया था, लेकिन तीसरी बार फ्रांस खिताब जीतने में सफल रही।

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App