ताज़ा खबर
 

आखिर इस वजह से FIFA ने पाकिस्तान फुटबॉल संघ को कर दिया सस्पेंड

इस निलंबन के कारण पीएफएफ और इसके सदस्य या अधिकारी फीफा या एशियाई फुटबॉल परिसंघ (एएफसी) की ओर से चलाए जाने वाले किसी भी विकास कार्यक्रम, पाठ्यक्रम या प्रशिक्षण से लाभ नहीं ले पाएंगे।

Author नई दिल्ली | October 11, 2017 17:54 pm
फीफा संविधान के अनुच्छेद 16 के पैरा तीन के अनुसार, निलंबन अवधि के दौरान दूसरे सदस्य संघ फीफा के साथ कोई खेल करार नहीं कर पाएंगे।

फीफा ने तीसरे पक्ष की दखलअंदाजी के कारण बुधवार को पाकिस्तान फुटबॉल संघ (पीएफएफ) को निलंबित कर दिया। फीफा ने एक बयान में कहा, “ब्यूरो ने इस तथ्य के परिणाम स्वरूप यह फैसला लिया कि पीएफएफ के कार्यालय और खाते न्यायालय द्वारा नियुक्त एक प्रशासक के नियंत्रण में रहेंगे।” बयान के अनुसार, “फीफा के संविधान के अनुसार यह तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप के बगैर स्वतंत्र रूप से अपने मामलों का प्रबंधन करने के पीएफएफ के दायित्व का उल्लंघन है।” बयान में कहा गया है, “पीएफएफ का निलंबन तभी वापस लिया जाएगा, जब पीएफएफ के कार्यालय और उसके खाते उसे वापस लौटा दिए जाएंगे।”

इस निलंबन के बाद, फीफा संविधान के अनुच्छेद 13 में दी गई व्यवस्था के अनुसार पीएफएफ के सभी सदस्यता अधिकार समाप्त हो गए हैं। पीएफएफ के प्रतिनिधि और क्लब की टीमें निलंबन वापस होने तक किसी भी प्रकार की अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में हिस्सा नहीं ले पाएंगे। इस निलंबन के कारण पीएफएफ और इसके सदस्य या अधिकारी फीफा या एशियाई फुटबॉल परिसंघ (एएफसी) की ओर से चलाए जाने वाले किसी भी विकास कार्यक्रम, पाठ्यक्रम या प्रशिक्षण से लाभ नहीं ले पाएंगे। इसके अतिरिक्त फीफा संविधान के अनुच्छेद 16 के पैरा तीन के अनुसार, निलंबन अवधि के दौरान दूसरे सदस्य संघ फीफा के साथ कोई खेल करार नहीं कर पाएंगे।

बता दें कि फिलहाल अंडर 17 फुटबॉल वर्ल्ड कप इंडिया में खेला जा रहा है। 9 अक्टूबर को एक संघर्षपूर्ण मुकाबले में कोलंबिया ने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए ग्रुप-ए के मैच में भारत को अप्रत्याशित 2-1 के अंतर से मात दी थी। कोलंबिया के लिए दोनों गोल जुयान सेबस्टियन पेनालोजा ने 49वें और 83वें मिनट में किए। भारत के लिए विश्व कप का पहला गोल 82वें मिनट में जैक्सन सिंह थायुनाओजाम ने किया। पहले मैच में संघर्ष करने वाली मेजबान टीम भारत ने इस मैच में काफी मेहनत की और पूरे जोश के साथ कोलंबिया का सामना किया। अमेरिका के खिलाफ जो टीम खेली उससे यह टीम काफी अलग लग रही थी। टीम का डिफेंस शानदार था। उसने कोलंबिया जैसी मजबूत टीम को पहले हाफ की समाप्ति तक ज्यादा मौके नहीं दिए और अपने ऊपर हावी भी नहीं होने दिया। कोलंबिया ने जो दो मौके बनाए उन्हें भारतीय गोलकीपर धीरज सिंह ने बेहतरीन प्रदर्शन से नकार दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App