ताज़ा खबर
 

कोच ने खुल कर की महेंद्र सिंह धोनी की तारीफ, बोले- उनकी विकेटकीपिंग पर हो रिसर्च

भारतीय टीम के फील्डिंग कोच आर श्रीधर भी धोनी की शैली के कायल हो गए हैं। श्रीधर ने पूर्व कप्तान की तारीफ करते हुए कहा है कि उनकी अपनी शैली है और वह उनके लिए काफी सफल है। इसके अलावा उन्होंने धोनी की विकेटकीपिंग शैली पर शोध करने की इच्छा भी जताई है।

महेंद्र सिंह धोनी (AP फोटो)

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की विकेटकीपिंग के स्टाइल के बारे में पूरी दुनिया में चर्चा होती है। हाल ही में धोनी ने वनडे मैचों में स्टंप के पीछे 400 शिकार पूरे कर लिए हैं, इसे लेकर भी क्रिकेट जगत में उन्हें लेकर बातें की जा रही हैं। हर कोई उनके विकेटकीपिंग की शैली की तारीफ कर रहा है। भारतीय टीम के फील्डिंग कोच आर श्रीधर भी धोनी की शैली के कायल हो गए हैं। श्रीधर ने पूर्व कप्तान की तारीफ करते हुए कहा है कि उनकी अपनी शैली है और वह उनके लिए काफी सफल है। इसके अलावा उन्होंने धोनी की विकेटकीपिंग शैली पर शोध करने की इच्छा भी जताई है और कहा है कि वह इसे ‘द माही वे’ नाम देना चाहेंगे।

श्रीधर ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, ‘धोनी की अपनी शैली है, जो उनके लिए काफी सफल है। मुझे लगता है हम उनकी विकेटकींपिग शैली पर शोध कर सकते हैं और मैं इसे ‘द माही वे’ नाम देना चाहूंगा। उनकी शैली से कई चीजें सीखी जा सकती हैं, इतनी सारी चीजें जिसके बारे में युवा विकेटकीपर सोच भी नहीं सकते। वह अपने तरीके के अनूठे खिलाड़ी हैं जैसा क्रिकेटरों को होना चाहिए।’ धोनी ने 316 एकदिवसीय मैचों में 295 कैच लपकने के साथ रिकार्ड 106 स्टंपिंग भी की हैं। श्रीधर ने कहा, ‘उनके हाथ कमाल के हैं। स्पिनरों के लिए वह सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर हैं। स्टंपिंग के लिए उनके हाथ बिजली से भी तेज चलते हैं। यह उनकी नैर्सिगक कला है जिसे देखना अद्भुत है।’

बता दें कि भारतीय टीम के पूर्व कप्तान इस वक्त दक्षिण अफ्रीका के साथ हो रही 6 मैचों की वनडे सीरीज में बिजी हैं। इस सीरीज के तहत अब तक चार मैच खेले जा चुके हैं। पहले, दूसरे और तीसरे मैच में टीम इंडिया ने जीत हासिल की थी तो वहीं चौथे मैच में दक्षिण अफ्रीका की टीम भारतीय टीम को शिकस्त देने में कामयाब रही। इस सीरीज में भारत फिलहाल 3-1 से बढ़त बनाए हुए है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App