ताज़ा खबर
 

भारत से हारकर वतन लौटती थी PAK टीम, तो जूते के हार-गधे ले एयरपोर्ट पहुंचते थे फैंस

कभी सोचा है कि टीम जब हारती है तो यही फैंस कैसे रिएक्ट करते होंगे। ऐसा ही कुछ वाकया पाकिस्तानी टीम संग...

भारत-पाकिस्तान का क्रिकेट मैच सिर्फ खेल नहीं होता है। दोनों देशों के लिए यह जज़्बात और इज्जत का सवाल होता है। खिलाड़ियों ही नहीं बल्कि खेल प्रेमियों के लिए भी यह किसी जंग से कम नहीं होता। टीम के जीतने पर फैंस जहां हवन-यज्ञ करते हैं। स्वागत के लिए ढोल-नगाड़ों संग एयरपोर्ट पहुंचते हैं। कभी सोचा है कि टीम जब हारती है तो यही फैंस कैसे रिएक्ट करते होंगे। ऐसा ही कुछ वाकया पाकिस्तानी टीम संग हुआ था। पाकिस्तानी टीम भारत से जब हारकर लौटती थी, तब पड़ोसी मुल्क के क्रिकेट फैंस एयरपोर्ट पर जूते के हार और गधे लेकर पहुंचते थे।

पाकिस्तान के मशहूर फॉर्मर खिलाड़ी वसीम अकरम ने भी इस बात की पुष्टि की थी। उन्होंने ‘आप की अदालत’ नामक शो में बताया था कि भारत और पाकिस्तान का जब मैच होता है, तो दोनों टीमों पर कितना दबाव होता था। एंकर के यह पूछने पर कि जब टीम हार कर आती है तो लोग जूते के हार लेकर आते हैं। उन्होंने जवाब दिया था कि “हां, हार कर टीम आती है जूते के हार और गधे वगैरह सब लेकर आ जाते हैं। लेकिन मुझे लगता है यह मजेदार है। दबाव यहीं से बनता है। कोई भी मिलता है, यही कहता है कि हारना नहीं।”

मैच के दौरान कई बार दबाव इतना बढ़ जाता है कि कई बार एक ही टीम के खिलाड़ी आपस में भिड़ जाते हैं। साल 2003 में दक्षिण अफ्रीका में भारत और पाकिस्तान का मैच था। सचिन अपने फॉर्म में थे और वह सभी गेंदबाजों की धुलाई कर रहे थे। इस दौरान वकार और अकरम की आपस में गेंदबाज को लेकर बहस हो गई थी। अकरम चाहते थे कि शोएब अख्तर को एक-दो ओवर और मिलने चाहिए थे। कप्तान ने उन्हें थर्ड मैन पर भेज दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App