ताज़ा खबर
 

हार के बाद बोले धोनी, ड्रेसिंग रूम में सब ठीक नहीं

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने खुलासा किया है कि फिलहाल टीम के ड्रेसिंग रूम में सब कुछ सही नहीं है। उन्होंने बताया कि ‘संवादहीनता’ के कारण ‘मतभेद’ पैदा हुए जब विराट कोहली को दिन के खेल की शुरुआत करने भेजा गया जिसके बाद भारतीय पारी ढह गई और ऑस्ट्रेलिया के हाथों दूसरे टेस्ट में […]

Author December 20, 2014 4:02 PM
मेलबर्न टेस्ट खत्म होने के कुछ समय बाद ही महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की।

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने खुलासा किया है कि फिलहाल टीम के ड्रेसिंग रूम में सब कुछ सही नहीं है। उन्होंने बताया कि ‘संवादहीनता’ के कारण ‘मतभेद’ पैदा हुए जब विराट कोहली को दिन के खेल की शुरुआत करने भेजा गया जिसके बाद भारतीय पारी ढह गई और ऑस्ट्रेलिया के हाथों दूसरे टेस्ट में टीम को शिकस्त का सामना करना पड़ा।भारत ने दूसरी पारी में 224 रन पर आउट होने के बाद ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ 128 रन का लक्ष्य दिया और फिर मैच चार विकेट से गंवा दिया।

ड्रेसिंग रूप में उथल पुथल कल के नाबाद बल्लेबाज शिखर धवन के अभ्यास सत्र के दौरान हाथ में लगी चोट के कारण हुई। इस बल्लेबाज ने हालांकि दिन के खेल की शुरुआत से ठीक पहले चोट को लेकर असहजता जताई। भारत ने इसके बाद कोहली को बल्लेबाजी के लिए भेजा लेकिन इस बल्लेबाज को इस बदलाव के बारे में तब सूचित किया गया जब खेल की शुरुआत में सात मिनट से भी कम का समय बचा था।

धोनी ने पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कहा, ‘‘आज पहला सत्र हमारे लिए बड़ा झटका लेकर आया। हमारे ड्रेसिंग रूप में इस बात को लेकर संवादहीनता थी कि बल्लेबाजी के लिए शिखर जाएगा या विराट। हम इस स्थिति से अच्छी तरह नहीं निपटे।’’

धोनी ने कहा, ‘‘हम नेट पर बल्लेबाजी कर रहे थे। विकेट काफी अच्छा नहीं था और शिखर को चोट लगी। उस समय उसने काफी खराब प्रतिक्रिया नहीं दी इसलिए हमने सोचा कि वह बल्लेबाजी करने के लिए सही हो जाएगा। लेकिन जब वह ड्रेसिंग रूम में आया तो उसे काफी दर्द हो रहा था और वह बल्लेबाजी करने में सक्षम नहीं था। हम विराट को तैयारी के लिए सिर्फ पांच से सात मिनट ही दे पाए और इससे ड्रेसिंग रूम में थोड़ी असहज स्थिति पैदा हुई।’’

भारतीय कप्तान के पास हालांकि एक दिन पहले ही मैच गंवाने के टीम के शर्मनाक प्रदर्शन के लिए कोई शब्द नहीं थे इसलिए उन्होंने विरोधी टीम की तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि मिशेल जॉनसन ने काफी अच्छी बल्लेबाजी की। उसने अपने शॉट खेले और वह थोड़ा भाग्यशाली भी रहा। कोई कैच क्षेत्ररक्षकों तक नहीं पहुंचा और वह रन बनाने में सफल रहा। यह ऐसा दिन था जब कुछ भी हमारे पक्ष में नहीं रहा।’’

लगातार दो मैचों में हार के बावजूद धोनी ने कहा कि वह टीम के प्रदर्शन से खुश हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम जिस तरह खेले उससे मैं काफी खुश हूं। हमारे अंदर कुछ कमियां थी लेकिन गेंदबाजों ने जिस तरह प्रदर्शन किया उससे मैं खुश हूं। हमने पांच गेंदबाज और अतिरिक्त बल्लेबाज को आजमाया लेकिन किसी ने भी मौके का फायदा नहीं उठाया। लेकिन ये प्रतिभावान टीम है और उनमें आत्मविश्वास है।’’

दूसरी तरफ आस्ट्रेलिया के कप्तान और मैन ऑफ द मैच स्टीवन स्मिथ ने नतीजे को बेहद संतोषजनक करार दिया। उन्होंने कहा, ‘‘लड़कों ने पिछले चार दिन में काफी अच्छा क्रिकेट खेला और जीत दर्ज करना काफी संतोषजनक है। पहला दिन काफी मुश्किल था और हम कैच छोड़ रहे थे। दूसरे दिन जिस तरह की गेंदबाजी हुई उसके लिए उन्हें श्रेय जाता है। पहली पारी के रन यहां अहम थे और 97 रन की बढ़त महत्वपूर्ण थी।’’

स्मिथ ने तेज गेंदबाज जोश हेजलवुड की भी तारीफ की जिन्होंने पदार्पण करते हुए पांच विकेट चटकाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App