ताज़ा खबर
 

EURO 2020: वेल्स को हराकर 17 साल बाद क्वार्टफाइनल में डेनमार्क, इटली के लिए पिता के बाद अब बेटे ने भी किया गोल

डेनमार्क की टीम 2004 के बाद पहली बार क्वार्टरफाइनल में पहुंची है। वहीं, इटली ने लगातार चौथी बार अंतिम-8 में जगह बनाई है।

डेनमार्क के लिए कैस्पर डोलबर्ग (सफेद जर्सी में) ने दो और इटली के लिए फेडेरिको चीसा (ब्लू जर्सी) ने एक गोल किए। (फोटो- REUTERS)

यूईएफए यूरो 2020 (Uefa Euro 2020) के नॉकआउट मुकाबले शनिवार (26 जून) से शुरू हो गए। राउंड-16 के पहले मुकाबले में डेनमार्क ने वेल्स को 4-0 से रौंद दिया। वहीं, दूसरे मैच में इटली ने रोमांचक मैच में ऑस्ट्रिया को शिकस्त दी। डेनमार्क की टीम 2004 के बाद पहली बार क्वार्टरफाइनल में पहुंची है। वहीं, इटली ने लगातार चौथी बार अंतिम-8 में जगह बनाई है। इटली ने ऑस्ट्रिया को एक्स्ट्रा टाइम तक पहुंचे मुकाबले में 2-1 से हराया।

फेडेरिको चीसा और मातियो पेसिना के अतिरिक्त समय में दागे गोलों की बदौलत इटली ने जीत दर्ज की। रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन करने वाली इटली की टीम के खिलाफ 19 घंटे से अधिक समय बाद कोई गोल हुआ और टीम ने अपनी रिकॉर्ड लगातार 12वीं जीत दर्ज करते हुए यूरो 2020 के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। फेडेरिको ने 95वें जबकि पेसिना ने 105वें मिनट में गोल दागा। आस्ट्रिया की ओर एकमात्र गोल 114वें मिनट में सासा क्लाजदिक ने किया।

चीसा के पिता एनरिको चीसा ने भी 25 साल पहले इंग्लैंड में यूरो 1996 में खेलते हुए इटली की ओर से चेक गणराज्य के खिलाफ गोल दागा था। हालांकि, तब इटली की टीम ग्रुप राउंड में ही बाहर हो गई थी। इटली शुक्रवार (2 जुलाई) को म्यूनिख में होने वाले क्वार्टर फाइनल में गत चैंपियन पुर्तगाल और शीर्ष रैंकिंग वाली बेल्जियम के बीच रविवार को होने वाले मैच की विजेता से भिड़ेगी। इटली की टीम के खिलाफ सासा क्लाजदिक का गोल किसी भी खिलाड़ी का मौजूदा टूर्नामेंट में पहला गोल था। ग्रुप चरण में टीम ने सात गोल किए लेकिन उसके खिलाफ एक भी गोल नहीं हुआ था।

दूसरी ओर, कैस्पर डोलबर्ग के दो गोल से डेनमार्क ने वेल्स के खिलाफ 4-0 की एकतरफा जीत दर्ज की। डोलबर्ग ने 27वें और 48वें मिनट में गोल दागे। टीम की ओर दो अन्य गोल जोकिम माहले (88वें मिनट) और मार्टिन ब्रेथवेट (90+4 मिनट) ने किए। इसी स्टेडियम में ठीक दो हफ्ते पूर्व टीम के पहले मैच के दौरान क्रिस्टियन एरिक्सन मैदान पर बेहोश हो गए थे इसलिए यह जीत टीम के लिए काफी मायने रखती है जिसकी बदौलत टीम ने यूरो 2020 के अंतिम आठ में जगह बनाई। एरिक्सन को डेफिब्रिलेटर (एक प्रकार का चिकित्सा उपकरण) की सहायता से उबारा गया और कई दिन अस्पताल में बिताने के बाद वह पिछले हफ्ते घर लौटे।

एरिकसन और डोलबर्ग दोनों अयाक्स की ओर से खेलते थे। अयाक्स की टीम यहीं योहान क्रूफ एरेना में अपने घरेलू मैच खेलती है। मैच के दौरान 16000 दर्शक में से अधिकांश डेनमार्क की हौसलाअफजाई कर रहे थे। डेनमार्क की टीम ने लगातार दूसरे मैच में चार गोल दागे। टीम ने टूर्नामेंट के शुरुआती दो मुकाबले गंवाने के बावजूद अपने पिछले मैच में रूस को 4-1 से हराकर प्री क्वार्टर फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था। यूरोपीय चैंपियनशिप के इतिहास में डेनमार्क पहला देश है जिसने लगातार दो मैचों में चार गोल किए हैं। डेनमार्क की टीम शनिवार (3 जुलाई) को बाकू में होने वाले क्वार्टर फाइनल में नीदरलैंड और चेक गणराज्य के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेगी।

Next Stories
1 बड़ा खुलासा, पाकिस्तानी टीम में यूनिस खान से हुई थी बदसलूकी! झगड़े के बाद छोड़ा था कोच पद
2 इविन लुईस, क्रिस गेल और आंद्रे रसेल के तूफान में उड़ा दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज ने पहली बार होमग्राउंड पर हराया
3 हार्दिक पंड्या की पत्नी ने मचाई सनसनी, ग्लैमरस अंदाज में रैंप वॉक कर जीता फैंस का दिल; Video Watch
ये पढ़ा क्या?
X